🙏 जीवन में कुछ पाना है तो झुकना होगा, कुएं में उतरने वाली बाल्टी झुकती है, तब ही पानी लेकर आती है| 🙏
Homeआध्यात्मिक न्यूज़

आध्यात्मिक न्यूज़

लखनऊ, 17 मार्च। सिटी मोन्टेसरी स्कूल, गोमती नगर ऑडिटोरियम में आयोजित विश्व एकता सत्संग में बोलते हुए बहाई धर्मानुयायी, प्रख्यात शिक्षाविद् सी.एम.एस. संस्थापिकानिदेशिका डा. (श्रीमती) भारती गाँधी ने कहा कि विश्व सरकार के गठन से ही विश्व मानवता का कल्याण सुनिश्चित किया जा सकता है।

मंगलवार को भगवान हुनुमान जी का दिन माना जाता है। हम आपको बताने जा रहे हैं कि मंगलवार को ही बजरंगबली हनुमान जी की पूजा क्यों की जाती है और कैसे इसका लाभ उठाया जा सकता है।

शहद सेहत के लिए लाभकारी है यह तो आप जानते हैं। पर क्या आप ये जानते हैं कि वास्तु के लिहाज से भी शहद बेहद उपयोगी है। घर में अगर शहद रखते हैं तो उसके कई लाभ होते हैं। जानिये

हनुमान जी की पूजा करने से सभी प्रकार के संकट दूर हो जाते हैं। उनके भक्त निर्भय हो जाते हैं। उन्हें किसी प्रकार का भय नहीं होता।

सावन का महीना आते ही श्रद्धालु महादेव शंकर को प्रसन्न करने की कोशिश में जुट जाते हैं। शिवलिंग पर गंगाजल के साथ-साथ बेलपत्र भी चढ़ाने का विधान है। शि‍व को बेलपत्र अर्पित करते वक्त और इसे तोड़ते समय कुछ खास नियमों का पालन करना जरूरी होता है।

शिव शंभु आदि और अंत के देवता है और इनका न कोई स्वरूप है और न ही आकार वे निराकार हैं।

लखनऊ, 16 मार्च। सिटी मोन्टेसरी स्कूल, गोमती नगर (प्रथम कैम्पस) द्वारा ‘डिवाइन एजुकेशन कान्फ्रेन्स’ का भव्य आयोजन आज सी.एम.एस. गोमती नगर (द्वितीय कैम्पस) ऑडिटोरियम में उल्लासपूर्ण वातावरण में सम्पन्न हुआ।

सभी देवी –देवताओं की पूजा –उपासना करने के बाद भी अक्सर इंसान का मन भटकता ही रहता है।

भारतीय सभ्यता में हर दिन का अलग महत्व है। खासतौर से गुरुवार को तो धर्म का दिन मानते हैं।

वास्तु के अनुसार घर में पूजा स्थान हमेशा ईशान कोण यानी कि उत्तर-पूर्व दिशा में होना चाहिए। इस दिशा में पूजा घर होने से घर में तथा उसमें रहने वाले लोगों पर सकारात्मक ऊर्जा का संचार हमेशा बना रहता है।

सभी हनुमान भक्त मंगलवार और शनिवार का व्रत बजरंगबली के लिए कर सकते हैं। ज्योतिष शास्त्र के अनुसार मंगलवार का व्रत उन्हें करना चाहिए जिनकी कुंडली में मंगल ग्रह निर्बल हो और जिसके चलते वह शुभ फल नहीं दे रहा हो।

जीवन में ग्रहों का प्रभाव बहुत प्रबल माना जाता है और उस पर भी शनि ग्रह अशांत हो जाएं तो जीवन में कष्टों का आगमन शुरू हो जाता है। इसलिए शनि दोष से पीड़ित जातकों को शनिवार के दिन शनिदेव को प्रसन्न करने के लिए उनका पूजन और व्रत रखे।

अगर आपकी कुंडली में किसी प्रकार का दोष है तो शुक्रवार को किए गए कुछ उपाय दोष से छुटकारा दिला सकते हैं।

सूर्य का रत्न माणिक्य बेहद ताकतवर रत्न है और नीलम के समान ही इसका भी बहुत जल्दी प्रभाव दिखता है।

हथेलियों से और उसके रंग से भाग्य के बारे में महत्वपूर्ण जानकारियाँ मिल सकती हैं।

शॉपिंग करना और नए कपड़े पहनना हम सब को बहुत पसंद होता है लेकिन अगर सही चुनाव ना करें तो मुश्किल हो जाती है।

दुनिया में तीन तरह की ऊर्जा काम करती है- सकारात्मक, नकारात्मक और उदासीन। यह ऊर्जा हमारी सोच, व्यवहार, आदत और शब्दों से बनती है।

लखनऊ, 15 मार्च। सिटी मोन्टेसरी स्कूल, अलीगंज (प्रथम कैम्पस) द्वारा ‘डिवाइन एजुकेशन कान्फ्रेन्स’ का भव्य आयोजन आज सी.एम.एस. गोमती नगर (द्वितीय कैम्पस) ऑडिटोरियम में किया गया।

मानव के जीवन में मित्र भी होते हैं और शत्रु भी। कई बार हम ऐसी गलतियां कर जाते हैं जिससे हमारे दुश्मन बन जाते हैं। हम आपको कई ऐसे उपाय बताएंगे जिससे आपके दुश्मन पैदा ही ना हों या फिर अगर पैदा हो गए हैं तो उनसे कैसे बचा जाए।

ग्रहण की व्याख्या वैज्ञानिक तौर पर संसार में सबसे पहले एक भारतीय ने की था।

मोती मुख्यतः रत्न नहीं बल्कि एक जैविक संरचना है। बावजूद इसके, इसको नवरत्नों की श्रेणी में रखा जाता है। यह मुख्य रूप से चन्द्रमा का रत्न है।

फूल हमारी श्रद्धा और भावना का प्रतीक हैं। इसके साथ ही ये हमारी मानसिक स्थितियों को भी बताते हैं। फूलों के अलग-अलग रंग और सुगंध अलग तरह के प्रभाव पैदा करते हैं। पूजा में सही रंग के फूल ही तरीके से अर्पित किए जाएं तो समस्याओं को दूर किया जा सकता है।

– ॐ शब्द का उच्चारण करने के लिए ब्रह्म मुहूर्त या साध्य काल का चुनाव करें।

2019 में आप बहुत से कार्यों की शुरुआत करने जा रहे होंगे। नया कार्य कब और कैसे शुरू होना चाहिए, इसके लिए कुछ बातों को ध्यान में रखेंगे तो आपके कार्य में किसी तरह की अड़चन नहीं आएगी। चलिए जानते हैं नए कार्य से जुड़ीं महत्वपूर्ण बातें।

हम सभी के पास थोड़ा बहुत धन तो होता ही है। सभी लोग अपने धन को संभाल कर रखते हैं और साथ ही ये भी कामना करते हैं कि उनका धन दिनों दिन बढ़ता रहे।

अक्सर लोग शुभ कार्यों में पीले रंग के वस्त्र धारण करते हैं। ज्योतिष में भी पीले रंग को खास महत्व दिया गया है। पीले रंग का संबंध गुरु बृहस्पति से भी माना गया है।

जन्म कुंडली में शुक्र ग्रह और चंद्रमा को स्त्री कारक ग्रह माना जाता है। शुक्र ग्रह और चंद्रमा की पूजा करने से महालक्ष्मी की विशेष कृपा प्राप्त होती है।

लखनऊ, 13 मार्च। सिटी मोन्टेसरी स्कूल, गोमती नगर (प्रथम कैम्पस) के मेधावी छात्र मनीष राजानी को अमेरिका के पाँच प्रतिष्ठित विश्वविद्यालयों द्वारा उच्चशिक्षा हेतु चयनित किया गया है।

हिंदू धर्म में कुछ भी शुभ काम करने से पहले मुहूर्त जरूर देखा जाता है।

ऐसा कहा जाता है कि महादेव जब क्रोध में होते हैं वे तांडव करना शुरू कर देते हैं।

श्रीहरी विष्णु की पत्नी देवी महालक्ष्मी धन, संपत्ति, वैभव तथा सुख की अधिष्ठात्री देवी हैं।

“शान्ताकारं भुजगशयनं”। पद्मनाभं सुरेशं ।
विश्वाधारं गगनसदृशं मेघवर्णं शुभाङ्गम् ।

हिंदू मान्यता के अनुसार किसी भी शुभ कार्य को करने से पहले भगवान गणेश की पूजा की जाती है।

घर को सजाना कौन नहीं चाहता, मगर ध्यान दें सजावट का सामान कहीं अपने साथ साथ नेगेटिव एनर्जी तो नहीं ला रहा है। घर में सकारात्मक ऊर्जा का प्रवाह कैसे बना रहे और नकारात्मक ऊर्जा दूर कैसे रखें, बता रही हैं पंडिताइन छवि शर्मा।

पूजा पाठ में शिव चालीसा का बहुत महत्व है। शिव चालीसा के सरल शब्दों से भगवान शिव को प्रसन्न किया जा सकता है।

रोटी, कपड़ा और मकान यह इंसान की 3 सबसे पहली जरुरत है।

शिव, जो देवों के देव महादेव इस सृष्टि पर सबसे शक्तिशाली और बलशाली माने जाते हैं।

पुराणों के मुताबिक, काफी वर्षों पूर्व उज्जैन में महाराज चंद्रसेन का शासन था। वो भगवान शिव के परमभक्त थे और वहां की प्रजा भी उन्हें बहुत पूजती थी।

प्राचीन भारतीय सनातन परम्परा के विकास और हिंदू धर्म के प्रचार-प्रसार में आदि शंकराचार्य का महान योगदान है।

सुगंध घर की नकारात्मकता को खत्म करती है। सुगंध का प्रभाव हमारी ऊर्जा पर भी पड़ता है। घर में सकारात्मक ऊर्जा बनी रहे, इसके लिए सुगंध का इस्तेमाल किया जाता है।

सभी ग्रहों के पास अपनी एक ही दृष्टि होती है और उसे सातवीं दृष्टि कहा जाता है। लेकिन बृहस्पति, मंगल और शनि के पास अन्य दृष्टियां भी होती हैं।

साल 2019 का तीसरा यानी मार्च का महीना शुरू हो चुका है। हर महीने की तरह इस महीने में भी कई महत्वपूर्ण व्रत-त्योहार हैं। इस बार मार्च महीने के दूसरे दिन विजया एकादशी और चौथे दिन महाशिवरात्रि का बड़ा त्योहार था। वहीं इस महीने में होली का त्योहार भी मनाया जाएगा। मार्च महीने के अंत तक कई व्रत त्योहार दस्तक देंगे। आइए जानते हैं मार्च के बाकी दिनों में अब कौन से व्रत या त्योहार आने वाले है।

आयुर्वेद में गाजर को कई मार्जो की दवा कहा गया है। गाजर में भरपूर मात्रा में केरिटोनाइड, पोटैशियम, विटामिन A, E जैसे ढेरो पोषक तत्व पाए जाते है।

ऋतु शरीर में कुछ दोषों को दूर करने और जीवन में कुछ नवीनता लाने के लिए आती है।

ब्रज में वसंत ऋतु के आगमन के साथ ही होली शुरुआत हो जाती है। वृंदावन स्थित बांके बिहारी मंदिर में भी ठाकुरजी को अबीर गुलाला अर्पित करने के बाद खेली जाती है।

ARIES (21 मार्च – 19 अप्रैल): सरकारी कार्यों में मिलेंगी मदद।  परिवार को लेकर कुछ चिंता व तनाव बढ़ सकता है। अधिकारियों से मधुर संबंध बनेंगे। सेहत अच्छी बनी रहेगी।

ऐसे पूरे देश भर में होली का त्योहार बहुत ही धूम धाम से मनाया जाता है, लेकिन होली की बात हो रही हो और मथुरा या वृंदावन को याद ना किया जाए ऐसा हो ही नहीं सकता।

इस साल होलाष्टक की शुरुआत 14 मार्च से हो रही है। पौराणिक शास्त्रों में फाल्गुन शुक्ल अष्टमी से लेकर होलिका दहन तक की अवधि को होलाष्टक कहा गया है।

होली की पूर्व संध्या में होलिका दहन किया जाता है। इसके पीछे प्राचीन कथा है कि असुर हिरण्यकश्यप भगवान विष्णु से घोर शत्रुता रखता था। स्वयं को उसने ईश्वर कहना शुरू कर दिया था।

हिन्दू धर्म शास्त्रों में ऐसी कई सारी बाते लिखी गई है जो हमे बताती है कि, मनुष्य को अपने पूरे जीवन में ऐसा क्या नहीं करना चाहिए जिससे वो अपने कमाए हुए पुण्य को अनजाने में परंतु समाप्त ना कर लें।

पांच अमृत को मिला कर बनता है पंचामृत कहा जाता है कि देवताओं को पंचामृत काफी प्रिय होता है।

अकसर मंदिर में या घर पर आपने पंडितों से या अपने बड़ों से ये मंत्र सुना होगा। आरती के बाद अकसर इस मंत्र को बोला जाता है। वास्तव में इस मंत्र का क्या अर्थ है और इस मंत्र को क्यों बोला जाता है और इसके पीछे क्या राज छिपा है यह जानते है:

गायत्री मंत्र भगवान सूर्य की उपासना के लिए सबसे आसान और फलदायी मंत्र कहा जाता है।

आमतौर पर, व्यक्ति बोर होता है तो मन बहलाने के लिए संगीत सुनना काफी पसंद करता है।

सिद्धवरकूट जो तपस्वियों की सिद्ध भूमि मानी जाती है, वहां जल्द ही वार्षिक त्रिदिवसीय धार्मिक समारोह आयोजित किया जयेगा जिसमें, भक्तजन होली के त्योहार का आनंद लेंगे।

प्रत्येक वर्ष हमें कई सूर्य अथवा चंद्र ग्रहण दिखाई देते हैं जो पूर्ण (खग्रास) अथवा आंशिक (खंडग्रास) होते हैं । प्रत्येक ग्रहण पृथ्वी पर किसी विशिष्ट भौगोलिक क्षेत्र में ही दिखाई देता है।

प्रत्येक वर्ष हमें कई सूर्य अथवा चंद्र ग्रहण दिखाई देते हैं जो पूर्ण (खग्रास) अथवा आंशिक (खंडग्रास) होते हैं । प्रत्येक ग्रहण पृथ्वी पर किसी विशिष्ट भौगोलिक क्षेत्र में ही दिखाई देता है।

लखनऊ, 8 मार्च। सिटी मोन्टेसरी स्कूल, गोमती नगर (द्वितीय कैम्पस) एवं राजेन्द्र नगर (प्रथम कैम्पस) द्वारा ‘डिवाइन एजुकेशन कान्फ्रेन्स’ का भव्य आयोजन आज सम्पन्न हुआ।

लखनऊ, 5 मार्च। सिटी मोन्टेसरी स्कूल, कानपुर रोड कैम्पस की मेधावी छात्रा यश्वी श्रीवास्तव को अमेरिका, इंग्लैण्ड एवं स्पेन के सात विश्वविद्यालयों द्वारा स्कॉलरशिप के साथ उच्चशिक्षा हेतु चयनित किया गया है।

लखनऊ, 4 मार्च। सिटी मोन्टेसरी स्कूल, गोमती नगर (द्वितीय कैम्पस) द्वारा अन्तर्राष्ट्रीय महिला दिवस की पूर्व संध्या पर 7 मार्च 2019, वृहस्पतिवार को महिला सशक्तीकरण हेतु विशेष कार्यक्रम का आयोजन किया जा रहा है।

लखनऊ, 4 मार्च। सिटी मोन्टेसरी स्कूल, गोमती नगर (प्रथम कैम्पस) के कक्षा-6 के मेधावी छात्र अप्रतिम तिवारी  ने अखिल भारतीय स्तर पर आयोजित ए.एस.एस.ई.टी. टैलेन्ट सर्च परीक्षा में शानदार सफलता अर्जित कर विद्यालय का नाम पूरे देश में गौरवान्वित किया है।

लखनऊ, 27 फरवरी। सिटी मोन्टेसरी स्कूल, गोमती नगर (प्रथम कैम्पस) के तत्वावधान में 20वें कॉमनवेल्थ युवा सम्मेलन का भव्य आयोजन आगामी 2 मार्च, शनिवार को प्रातः 11.30 बजे से विद्यालय के ऑडिटोरियम में किया जायेगा।

लखनऊ, 27 फरवरी। सिटी मोन्टेसरी स्कूल, महानगर कैम्पस के कक्षा 8 के मेधावी छात्र अब्दुल अहद ने इण्टर-कैम्पस एलीमेन्ट्री मैथमेटिक्स ओलम्पियाड में प्रथम स्थान अर्जित कर अपनी प्रतिभा का परचम लहराया है।

लखनऊ, 26 फरवरी। सिटी मोन्टेसरी स्कूल, गोमती नगर (प्रथम कैम्पस) की कक्षा 11 की छात्रा अपूर्वा चौहान ने वेस्टर्न म्यूजिक (ओपेरा गायन) परीक्षा में अखिल भारतीय स्तर पर टॉप करके उत्तर प्रदेश का गौरव सारे देश में बढ़ाया है।

(1) संयुक्त राष्ट्र संघ की महिला सशक्तिकरण की दिशा में महत्वपूर्ण पहल :-

लखनऊ, 25 फरवरी। प्रख्यात शिक्षाविद् एवं सिटी मोन्टेसरी स्कूल के संस्थापक डॉ. जगदीश गाँधी ने आज नई दिल्ली में आयोजित प्रेस कान्फ्रेन्स में पत्रकारों को सम्बोधित करते हुए बताया कि उन्होंने विश्व के 2.5 अरब बच्चों और आगे आने वाली पीढ़ियों की ओर से अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप से अपील की है कि वे उनके भविष्य को सुरक्षित बनाने के लिए विश्व के सभी प्रभुसत्ता सम्पन्न राष्ट्रों की बैठक बुलाकर एक वैश्विक लोकतंत्र (विश्व संसद) की स्थापना करें।

लखनऊ, 24 फरवरी। सिटी मोन्टेसरी स्कूल, महानगर कैम्पस द्वाराएनुअल मदर्स डे एवं डिवाइन एजुकेशन कान्फ्रेन्सका भव्य आयोजन आज सी.एम.एस. गोमती नगर (द्वितीय कैम्पस) ऑडिटोरियम में किया गया।

लखनऊ, 24 फरवरी। सिटी मोन्टेसरी स्कूल, कम्युनिटी रेडियो के तत्वावधान में रेडियो कार्यक्रम सीरीज़बचपन एक्सप्रेसकी शुरूआत बड़े धूमधाम से सी.एम.एस. गोमती नगर कैम्पस स्थित रेडियो स्टूडियो में हुई।

लखनऊ, 24 फरवरी। सिटी मोन्टेसरी स्कूल, गोमती नगर ऑडिटोरियम में आयोजित विश्व एकता सत्संग में बोलते हुए बहाई धर्मानुयायी, प्रख्यात शिक्षाविद् सी.एम.एस. संस्थापिकानिदेशिका डा. (श्रीमती) भारती गाँधी ने कहा कि पारिवारिक एकता से ही विश्व एकता की राहें खुलेंगी, इसलिए बच्चों को प्रारम्भ से ही शान्ति, एकता, प्रेम सदाचारों की शिक्षा देना आवश्यक है।

लखनऊ, 23 फरवरी। सिटी मोन्टेसरी स्कूल, गोमती नगर (द्वितीय कैम्पस) के मेधावी छात्र कनद पाण्डेय ने भारत सरकार की किशोर वैज्ञानिक प्रोत्साहन योजना (के.वी.पी.वाई फेलोशिप) के प्रथम चरण में चयनित होकर विद्यालय का नाम रोशन किया है।

(1) अच्छे विचार ग्रहण करने के लिए बाल्यावस्था सबसे महत्वपूर्ण है :-   

लखनऊ, 22 फरवरी। सिटी मोन्टेसरी स्कूल, गोमती नगर (प्रथम कैम्पस) के मेधावी छात्र प्रथम सिंह ने उच्च शिक्षा हेतु अमेरिका के छः प्रतिष्ठित विश्वविद्यालयों में स्कॉलरशिप के साथ चयनित होकर विद्यालय का नाम गौरवान्वित किया है।

लखनऊ, 21 फरवरी। सिटी मोन्टेसरी स्कूल, राजाजीपुरम (द्वितीय कैम्पस) के कक्षा-4 के छात्र धैर्य बंसल ने यू.पी. स्टेट लेवल रीजनल एबाकस प्रतियोगिता में चैम्पियन का खिताब अर्जित कर विद्यालय का नाम गौरवान्वित किया है।

(1) मौके खोजे नहीं, पैदा किए जाते हैं :- देश के पूर्व राष्ट्रपति अब्दुल कलाम जी का कहना था कि इंतजार करने वालों को सिर्फ उतना ही मिलता है, जितना कोशिश करने वाले छोड़ देते हैं। इसलिए हमें मौकों का इंतजार करने की बजाय वर्तमान हालात में ही अपने लिए मौके खोजने चाहिए। हर इंसान में किसी न किसी तरह की रचनात्मकता जरूर होती है। इसलिए हमें लगातार अपनी रचनात्मकता को निखारने की कोशिश करनी चाहिए,

लखनऊ, 20 फरवरी। सिटी मोन्टेसरी स्कूल, अलीगंज (द्वितीय कैम्पस) की कक्षा-7 की छात्रा उपासना ने अन्तर-विद्यालयी शाष्त्रीय नृत्य प्रतियोगिता में प्रथम पुरस्कार अर्जित कर विद्यालय का नाम गौरवान्वित किया है।

(1) संयुक्त राष्ट्र संघ की महिला सशक्तिकरण की दिशा में महत्वपूर्ण पहल :-

नई दिल्ली, 19 फरवरी 2019: तेज ज्ञान फाउंडेशन (TGF), एक धर्मार्थ संगठन जो  “उच्च विकसित समाज” बनाने के उद्देश्य और “आदर्श विचार” के माध्यम से, “महा आसमनी परम ज्ञान रिट्रीट ” का आयोजन 1 से 5 मार्च 2019,बालाजी निरोगधामबख्तावरपुरदिल्ली में करने जा रहा है।

व्यक्ति, समाज एवं राष्ट्र के विकास को नापने का एक ही पैमाना है और वह है समृद्धि। व्यक्ति का विकास मतलब व्यक्ति की समृद्धि और देश का विकास मतलब देश की समृद्धि।

लखनऊ, 16 फरवरी। सिटी मोन्टेसरी स्कूल, अशर्फाबाद कैम्पस द्वारा ‘ओपेन डे समारोह (चाइल्डहुड – ब्यूटीफुल एण्ड सिम्पल)’ का भव्य आयोजन आज विद्यालय के सजे-धजे प्रांगण में बड़े उल्लास व उमंग भरे वातावरण में सम्पन्न हुआ।

लखनऊ, 9 फरवरी। सिटी मोन्टेसरी स्कूल, गोमती नगर (प्रथम कैम्पस) के कक्षा 9 के मेधावी छात्र काव्य गुप्ता ने इण्टर-कैम्पस टैलेन्ट सर्च परीक्षा में प्रथम स्थान अर्जित कर अपनी प्रतिभा का परचम लहराया है।

लखनऊ, 9 फरवरी। मानस इन्क्लेव, इन्दिरा नगर स्थित सिटी इन्टरनेशनल स्कूल (सी.आई.एस.) द्वारा ‘ओपेन डे समारोह’ का भव्य आयोजन कल 10 फरवरी 2019, रविवार को प्रातः 10.00 बजे से विद्यालय प्रांगण में बड़े उल्लास व उत्साह के साथ मनाया जायेगा।

देश में हुई 2016 की जनगणना में लड़कों की तुलना में लड़कियों की घटती संख्या के आंकडे़ चैंकाते ही नहीं बल्कि दुखी भी करते हैं।

लखनऊ, 29 जनवरी। सिटी मोन्टेसरी स्कूल द्वारा गणतन्त्र दिवस समारोह में प्रदर्शित झाँकी ‘ऐसा मस्तिष्क बनाओ, जैसा था बापू का’ को आज यहाँ पुलिस लाइन, लखनऊ में आयोजित ‘बीटिंग द रिट्रीट’ समारोह में राज्यपाल श्री राम नाइक ने ‘चल वैजयन्ती’ पुरस्कार प्रदान कर सम्मानित किया।

लखनऊ, 29 जनवरी। गणतन्त्र दिवस परेड में प्रथम पुरष्कृत सिटी मोन्टेसरी स्कूल की अनूठी झाँकी से आज लगभग 15,000 से अधिक छात्रों ने एकता व समरसता का पाठ पढ़ा, साथ ही उल्लास व उमंग से सराबोर वातावरण में अपनी उपस्थिति से लघु विश्व का अनूठा दृश्य उपस्थित किया।

लखनऊ, 28 जनवरी। सिटी मोन्टेसरी स्कूल की अनूठी झाँकी ‘ऐसा मस्तिष्क बनाओ, जैसा था बापू का’ ने इस वर्ष गणतन्त्र दिवस परेड में प्रथम स्थान अर्जित किया है।

(1) संयुक्त राष्ट्र संघ द्वारा विश्व सर्व-धर्म समन्वयसप्ताह मनाने की घोषणा :-

लखनऊ, 23 जनवरी। सिटी मोन्टेसरी स्कूल, गोमती नगर (प्रथम कैम्पस) एवं सी.एम.एस. अलीगंज (प्रथम कैम्पस) को पूरे देश में सर्वश्रेष्ठ 50 विद्यालयों की सूची में शामिल किया गया है।

(1) भारत की आजादी 15 अगस्त 1947 के बाद 2 वर्ष 11 माह तथा 18 दिन की कड़ी मेहनत एवं गहन विचार-विमर्श के बाद भारतीय संविधान को 26 जनवरी 1950 को आधिकारिक रूप से अपनाया गया।