🙏 भारतीय हस्तशिल्प खरीदें और समर्थन करें 🙏

Homeमंत्र संग्रह

मंत्र संग्रह (323)

अकाल मृत्यु दूर करने का मन्त्र व विधि इस प्रकार है|

अकाल मृत्यु दूर करने के लिए मन्त्र व विधि इस प्रकार है|

ॐ भूपतये स्वाहा, ॐ भुवनप, ॐ भुवनपतये स्वाहा ।
ॐ भूतानां पतये स्वाहा ।। 

अधिक अन्न के लिए मन्त्र व विधि इस प्रकार है|

अधिकारी अनुकूल करने के लिए मन्त्र व विधि इस प्रकार है|

अन्नपूर्णा देवी का मन्त्र व विधि इस प्रकार है|

अन्नपूर्णे सदा पूर्णे शंकरप्राणवल्लभे ।
ज्ञानवैराग्यसिद्ध्य भिक्षां देहि च पार्वति ।।

अमृत वशीकरण के लिए मन्त्र व विधि इस प्रकार है|

अर्श (बवासीर) दूर करने के लिए मन्त्र व विधि इस प्रकार है|

अष्टाक्षरी शिव मन्त्र व विधि इस प्रकार है|

असाध्य रोग दूर करने का मन्त्र व विधि इस प्रकार है|

आकर्षण के लिए मन्त्र व विधि इस प्रकार है|

आँखों के लिए मन्त्र व विधि इस प्रकार है|

आत्म रक्षा के लिए मन्त्र व विधि इस प्रकार है|

ॐ अपवित्रः पवित्रो वा सर्वावस्थां गतो5पि वा ।
यः स्मरेत पुण्डरीकाक्षं स बाह्याभ्यन्तरः शुचिः ।।

उच्च पद प्राप्त करने का मन्त्र व विधि इस प्रकार है|

उच्छिष्टगणपति मन्त्र व विधि इस प्रकार है|

उपद्रव शान्त करने का मन्त्र व विधि इस प्रकार है|

ऋणहर्ता गणेश देवता का मन्त्र व विधि इस प्रकार है|

औपरे दूर करने के लिए मन्त्र व विधि इस प्रकार है|

ॐ हिरण्य गर्भाय अवयक्त रुपिणे नमः ||

कर्ण पिशाचिनी देवी का मन्त्र व विधि इस प्रकार है|

काट के लिए मुसलमानी मन्त्र व विधि इस प्रकार है|

कामदेव का बीज मन्त्र व विधि इस प्रकार है|

कामदेव गायत्री मन्त्र व विधि इस प्रकार है|

कामेश्वरी देवी का मन्त्र व विधि इस प्रकार है|

कार्तवीर्यार्जुन का मन्त्र व विधि इस प्रकार है|

कार्य करवाने का मन्त्र व विधि इस प्रकार है|

कार्य सफल करने का मन्त्र व विधि इस प्रकार है|

कार्य सिद्धि करने का मन्त्र व विधि इस प्रकार है|

कार्य सिद्धि के लिए मन्त्र व विधि इस प्रकार है|

कार्य सिद्धि के लिए मन्त्र व विधि इस प्रकार है|

कालाग्निरुद्र का मन्त्र व विधि इस प्रकार है|

काली देवी का चेटक मन्त्र व विधि इस प्रकार है|

ॐ श्रीं उपेन्द्राय अच्युताय नमः ||

कुलवागीश्वरी देवी का मन्त्र व विधि इस प्रकार है|

क्लेश नाशक मन्त्र व विधि इस प्रकार है|

मन्त्रहीनं क्रियाहीनं भक्तिहीनं जनार्दन ।
यत्पूजितं मया देव परिपूर्णं तदस्तु मे ।।

क्षेत्रपाल का मन्त्र व विधि इस प्रकार है|

क्षेत्रपाल का सिद्ध मन्त्र व विधि इस प्रकार है|

खेचरी सिद्धि के लिए मन्त्र व विधि इस प्रकार है|

खोया हुआ राज्य प्राप्ति का मन्त्र व विधि इस प्रकार है|

गठिया वात दूर करने के लिए मन्त्र व विधि इस प्रकार है|

गन्धर्वराज का कार्य सिद्ध मन्त्र व विधि इस प्रकार है|

गर्भ रक्षा के लिए मन्त्र व विधि इस प्रकार है|

गर्भ रक्षा के लिए मन्त्र व विधि इस प्रकार है|

गर्भ स्तम्भन के लिए मन्त्र व विधि इस प्रकार है|

ॐ भूर्भवः स्वः तत्स वितुर्वरेण्यं |
भर्गोदेवस्य धीमहि धियो योनः प्रचोदयात् ||

गृह बाधा दूर करने का मन्त्र व विधि इस प्रकार है|

गृह बाधा दूर करने के लिए मन्त्र व विधि इस प्रकार है|

गृहकलह दूर करने के लिए मन्त्र व विधि इस प्रकार है|

गौरी देवी का मन्त्र व विधि इस प्रकार है|

घी मोहन के लिए मन्त्र व विधि इस प्रकार है|

घी मोहन के लिए मन्त्र व विधि इस प्रकार है|

चतुर्दशाक्षर हनुमान मन्त्र व विधि इस प्रकार है|

क्षीरोदार्णवसम्भूत अत्रिगोत्रसमुद् भव ।
गृहाणार्ध्यं शशांकेदं रोहिण्य सहितो मम ।।

ॐ श्रीं क्रीं चं चन्द्राय नमः ||

अकालमृत्युहरणं सर्वव्याधिविनाशनम् ।
विष्णोः पादोदकं पीत्वा पुनर्जन्म न विद्यते ।।

चिन्ता दूर करने के लिए मन्त्र व विधि इस प्रकार है|

चुड़ैल दूर करने का मन्त्र व विधि इस प्रकार है|

चोर भय हरण के लिए मन्त्र व विधि इस प्रकार है|

चोर भय हरण मन्त्र व विधि इस प्रकार है|

छिन्नमस्ता का मन्त्र व विधि इस प्रकार है|

जल आकर्षण के लिए मन्त्र व विधि इस प्रकार है|

ज्वर दूर करने के लिए मन्त्र व विधि इस प्रकार है|

ज्वर दूर करने के लिए मन्त्र व विधि इस प्रकार है|

ज्वर दूर करने के लिए मन्त्र व विधि इस प्रकार है|

ज्वर दूर करने के लिए मन्त्र व विधि इस प्रकार है|

ज्वर दूर करने के लिए मन्त्र व विधि इस प्रकार है|

ज्वालामुखी देवी का मन्त्र व विधि इस प्रकार है|

डाकिनी दोष दूर करने का मन्त्र व विधि इस प्रकार है|

तस्कर ग्रहण चेटक मन्त्र व विधि इस प्रकार है|

तांत्रिक बन्धन दूर करने का मन्त्र व विधि इस प्रकार है|

तांत्रिक माया जाल दूर करने का मन्त्र व विधि इस प्रकार है|

केशवानन्न्त गोविन्द बाराह पुरुषोत्तम ।
पुण्यं यशस्यमायुष्यं तिलकं मे प्रसीदतु ।।

तिल्ली दूर करने का मन्त्र व विधि इस प्रकार है|

मातस्तुलसि गोविन्द हृदयानन्द कारिणी ।
नारायणस्य पूजार्थं चिनोमि त्वां नमो5स्तुते ।। 

देवी त्वं निर्मिता पूर्वमर्चितासि मुनीश्वरैः ।
नमो नमस्ते तुलसी पापं हर हरिप्रिये ।।

ॐ तत्व निरंजनाय तारकरामाय नमः ||

तेल मोहन के लिए मन्त्र व विधि इस प्रकार है|

तैइया ज्वर दूर करने का मन्त्र व विधि इस प्रकार है|

त्रिपुरा बाला का मन्त्र व विधि इस प्रकार है|

त्रैलोक्य मोहन के लिए मन्त्र व विधि इस प्रकार है|

त्रैलोक्य मोहन गौरी मन्त्र व विधि इस प्रकार है|

त्र्यक्षर मृत्युञ्जय मन्त्र व विधि इस प्रकार है|

त्र्यम्बक विजय मन्त्र व विधि इस प्रकार है|

त्वरित रुद्र देव का मन्त्र व विधि इस प्रकार है|

दरिद्रता नाशक मन्त्र व विधि इस प्रकार है|

दशाक्षर राम देवता का मन्त्र व विधि इस प्रकार है|

दुर्गा अष्टाक्षर सिद्धिदायक मन्त्र व विधि इस प्रकार है|

दुर्गा द्वात्रिशनाम माला व कथा इस प्रकार है|

दुर्बलता दूर करने का मन्त्र व विधि इस प्रकार है|

दुश्मन नाश के लिए मन्त्र व विधि इस प्रकार है|

दृष्टि स्तम्भन के लिए मन्त्र व विधि इस प्रकार है|

या देवी सर्वभूतेषु माँ रुपेण संस्थिता |
या देवी सर्वभूतेषु शक्ती रुपेण संस्थिता |

🙏 भारतीय हस्तशिल्प खरीदें और समर्थन करें 🙏