🙏 जीवन में कुछ पाना है तो झुकना होगा, कुएं में उतरने वाली बाल्टी झुकती है, तब ही पानी लेकर आती है| 🙏

Homeघरेलू नुस्ख़ेबीमारीयों के लक्षण व उपचारटांसिल (गिल्टियां) के 12 घरेलु उपचार – 12 Homemade Remedies for Tonsils (Giltiaan)

टांसिल (गिल्टियां) के 12 घरेलु उपचार – 12 Homemade Remedies for Tonsils (Giltiaan)

गले के प्रवेश द्वार के दोनों ओर मांस की एक-एक गांठ होती है| यह बिलकुल लसीका ग्रंथि की तरह होती है| इसी को टांसिल कहते हैं| इस रोग के कारण खाने-पीने में बड़ी तकलीफ होती है| यहां तक की थूक को निगलने में भी कष्ट होता है|

“टांसिल (गिल्टियां) के 12 घरेलु उपचार” सुनने के लिए Play Button क्लिक करें | Homemade Remedies for Tonsils (Giltiaan) Listen Audio

गले पर कपड़ा तक सहन नहीं होता| यदि कोई व्यक्ति रोगी को जूठा भोजन-पानी आदि का सेवन कर ले तो उसे भी टांसिल हो सकता है|

 

टांसिल (गिल्टियां) के 12 घरेलु नुस्खे इस प्रकार हैं:

1. गरम पानी और सेंधा नमक

गरम पानी में दो चुटकी सेंधा नमक डालकर अच्छी तरह मिला लें| फिर उस पानी से दिनभर में तीन-चार बार कुल्ला करें|


2. फिटकिरी और अजवायन

फिटकिरी का चूर्ण तथा अजवायन का चूर्ण – दोनों को पानी में घोलकर गाढ़ा-गाढ़ा लेप गले के बाहर करें|


3. रुई

गले के भीतर रुई की फुरेरी से ग्लिसरीन लगाएं|


4. गरम पानी

गरम पानी में थोड़ी-सी चायपत्ती डालकर छान लें| फिर इस पानी से दिन में तीन बार गरारे करें|


5. फिटकिरी, माजूफल, शहद और पानी

लाल फिटकिरी तथा माजूफल – दोनों 10-10 ग्राम लेकर एक कप पानी में उबाल लें| जब पानी आधा कप रह जाए तो छानकर उसमें एक चम्मच शुद्ध शहद डालें| इसे रुई की फुरेरी से टांसिल में लगाएं|


6. दालचीनी और शहद

दालचीनी को पीसकर उसमें थोड़ा शहद मिला लें| फिर इसे टांसिल पर लगाएं| लार नीचे टपका दें|


7. तुलसी और शहद

आधा चम्मच तुलसी की मंजरी को शहद में मिलाकर सुबह-शाम चाटने से टांसिल सूख जाते हैं|


8. तुलसी और लौंग

तुलसी के चार-पांच पत्ते तथा दो लौंग पानी में डालकर उबालें| फिर छानकर इस पानी में गरारे करें|


9. पानी, अदरक और हल्दी

सादे पानी में अदरक का रस तथा पिसी हुई हल्दी डालकर रात को सोते समय सेवन करें|


10. पान, मुलहठी और लौंग

पान का पत्ता, आधा चम्मच मुलहठी का चूर्ण, दो लौंग तथा 4-5 दाने पीपरमेंट-इन सबको एक कप पानी में औटाकर काढ़ा बनाकर पिएं|


11. पीपल

पीपल के पेड़ के हरे पत्तों का दूध एक चम्मच निकालकर गरम पानी में घोल लें| फिर इस पानी से गरारे करें|


12. गरम पानी और शहतूत

गरम पानी में दो चम्मच शहतूत के पत्तों का रस डालकर गरारे करें|


टांसिल (गिल्टियां) में क्या खाएं क्या नहीं ­

टांसिल के बढ़ने पर गरम खाना, मिर्च-मसाले के पदार्थ, तेल, खटाई और अम्लीय पदार्थों का सेवन न करें| इसकी जगह सादी रोटी तथा हरी सब्जियां (लौकी, तरोई, परवल, टिण्डे आदि) खाएं| साबूदाना, खिचड़ी और दलिया इस रोग में बहुत लाभकारी सिद्ध हुई है| फलो में मौसमी, नीबू, अनन्नास, अमरूद, पपीता एवं चीकू लिया जा सकता है| आंवला, धनिया तथा पुदीने की चटनी बहुत फायदेमंद है| मूली, गाजर और शलजम न खाएं| इसी प्रकार घी, तेल तथा तली हुई चीजें भी टांसिल में हानि पहुंचती हैं|

टांसिल (गिल्टियां) का कारण

टांसिल सूजने या बढ़ने का मुख्य कारण गरिष्ठ पदार्थों जैसे-मैदा, चावल, आलू, मिठाइयां, उरद की दाल, चीनी आदि का अधिक सेवन करना है| अधिक खट्टी चीजें तथा अम्लीय पदार्थ खाने से भी टांसिल बढ़ जाते हैं| इन चीजों में अम्लीयता का अंश अधिक होने से पेट में कब्ज हो जाता है तथा वायु बढ़ जाती है| इससे टांसिल में विषैला विकार उत्पन्न हो जाता है| गले और शरीर में ठंड लगने के कारण भी टांसिल बढ़ जाते हैं| शरीर में खून की अधिकता, मौसम में अचानक परिवर्तन, गरमी-सर्दी का बुखार, दूषित पर्यावरण में निवास तथा बासी भोजन करने के कारण भी टांसिल हो जाता है|

टांसिल (गिल्टियां) की पहचान

टांसिल बढ़ जाने पर गले में सूजन आ जाती है| गले तथा गलपटों में बार-बार दर्द की लहर दौड़ती है| जीभ पर मैल जम जाती है तथा दुर्गंध भरी श्वास बाहर निकलती है| सिर एवं गरदन में दर्द शुरू हो जाता है| गरदन के दोनों तरफ लसिका ग्रंथियां बढ़ जाती हैं| यदि उन पर उंगली रखी जाए तो दर्द होता है| सांस लेने में भी कठिनाई होती है| सारे शरीर में दर्द, स्वर भंग, व्याकुलता, आलस्य आदि के लक्षण साफ-साफ दिखाई देते हैं| गलपटे सूजते ही ठंड लगती है और बुखार आ जाता है|

NOTE: इलाज के किसी भी तरीके से पहले, पाठक को अपने चिकित्सक या अन्य स्वास्थ्य देखभाल प्रदाता की सलाह लेनी चाहिए।

Consult Dr. Veerendra Aryavrat - +91-9254092245 (Recommended by SpiritualWorld)
Consult Dr. Veerendra Aryavrat +91-9254092245
(Recommended by SpiritualWorld)

Health, Wellness & Personal Care Store – Buy Online

Click the button below to view and buy over 50000 exciting ‘Wellness & Personal Care’ products

50000+ Products
NO COMMENTS

LEAVE A COMMENT

🙏 ♻ प्रयास करें कि जब हम आये थे उसकी तुलना में पृथ्वी को एक बेहतर स्थान के रूप में छोड़ कर जाएं। सागर में हर एक बूँद मायने रखती है। ♻ 🙏