🙏 सतनाम वाहे गुरु, गुरु पर्व की असीमित शुभकामनाएं... आप सभी पर वाहे गुरु की मेहर हो! 23 Nov 2018 🙏

पराया हक

पराया हक

दूसरों का हक हमारे पास न आये-इस विषय में मनुष्य को खूब सावधान रहना है| अपनी खरी कमाई का अन्न खाओगे तो अन्तःकरण निर्मल होगा और अगर चोरी का ठगी-धोखेबाजी का, अन्याय का अन्न खाओगे तो अन्तःकरण महान अशुद्ध हो जायगा|  

“पराया हक” सुनने के लिए Play Button क्लिक करें | Listen Audio

आज कल टैक्स बहुत बढ़ जाने से लोग व्यापार आदि में चोरी-छिपाव करते हैं| जैसे-जैसे वकील सिखाता है, वैसा-वैसा करके वे धन बचाने की चेष्टा करते हैं|

वे विचार ही नहीं करते कि इस प्रकार धन बचाने से अन्तःकरण कितना मैला हो जायगा! एक संत कहा करते थे कि शुद्ध कमाई के धन से बहुत पवित्रता आती है| उनके पास एक राजा आया करते थे| एक बार राजा ने उनसे पूछा कि ‘महाराज, आपके यहाँ बहुत-से लोग आया करते हैं और आप भी कई लोगों के घरों में भिक्षा के लिये जाया करते हैं| ऐसा कोई घर आपकी दृष्टि में है, जिसका अन्न शुद्ध कमाई का हो?’ अगर ऐसा घर आपको दीखता है तो बतायें|’ संत ने कहा कि ‘अमुक स्थान पर एक बूढ़ी माई रहती है, उसके घर का अन्न शुद्ध है| वह ऊन को कातकर उससे अपनी जीविका चलाती है| उसके पास धन नही है, साधारण घास-फूस की कुटिया है; परन्तु वह पराया हक नहीं लेती, इस कारण उसका अन्न शुद्ध है|’ ऐसा सुनकर राजा के मन में आया कि उसके घर की रोटी मिल जाय तो बड़ा अच्छा है! राजा स्वयं एक भिखारी बनकर उससे घर पहुँचा और बोला-‘माताजी! कुछ भिक्षा मिल जाय|’ वह बूढ़ी माई भीतर से रोटी लायी और बोली-‘बेटा! यह रोटी ले लो|’ तब राजा ने पूछा-‘माताजी, एक बात बताओ कि यह रोटी शुद्ध है न? इसमें पराया हक तो नहीं है?’ तो वह बोली-‘देख बेटा, बात यह है की यह पूरी शुद्ध नहीं है, इसमें थोड़ा पराया हक आ गया! एक दिन रात में बारात जा रही थी| बारात में जो गैस-बत्तियाँ थीं, उनके प्रकाश में मैंने ऊन ठीक की थी-इतना इसमें पराया हक आ गया है| इसके सिवाय मेरी कमाई में कोई कसर नहीं है|’ राजा ने बड़ा आश्चर्य किया कि इतनी-सी कमी का भी इतना खयाल है! दूसरे के उस प्रकाश में हमारा क्या अधिकार है कि उसमें हम अपनी ऊन ठीक करें?

Munish Ahuja Founder SpiritualWorld.co.in

Munish Ahuja Founder SpiritualWorld.co.in

नम्र निवेदन: वेबसाइट को और बेहतर बनाने हेतु अपने कीमती सुझाव कॉमेंट बॉक्स में लिखें, यह आपको अच्छा लगा हो तो अपनें मित्रों के साथ अवश्य शेयर करें। धन्यवाद।
NO COMMENTS

LEAVE A COMMENT

🙏 सतनाम वाहे गुरु, गुरु पर्व की असीमित शुभकामनाएं... आप सभी पर वाहे गुरु की मेहर हो! 23 Nov 2018 🙏