🙏 सतनाम वाहे गुरु, गुरु पर्व की असीमित शुभकामनाएं... आप सभी पर वाहे गुरु की मेहर हो! 23 Nov 2018 🙏
Homeशिक्षाप्रद कथाएँभगत बिल्ली – शिक्षाप्रद कथा

भगत बिल्ली – शिक्षाप्रद कथा

भगत बिल्ली - शिक्षाप्रद कथा

किसी कमरे में एक कोने में बने बिल के सामने दो चूहे बैठे थे| अचानक उनकी नजर कमरे के दूसरे कोने पर गई|
वहां एक बिल्ली आंखें बंद किए बैठी थी| उसकी दुम गोल होकर उसके पंजों के गिर्द लिपटी हुई थी| उसकी मूंछें भी नीचे को लटकी हुई थीं|

एक चूहा उसकी बगुला भक्ति देखकर बहुत प्रभावित हुआ|

“यह बिल्ली तो बहुत सीधी-सीधी और हानि रहित लगती है! काश, सभी बिल्लियां ऐसी ही होतीं! मैं तो चला उससे दोस्ती करने|” एक चूहा बोला|

इस बात को सुनकर दूसरे चूहे ने उसे डांटते हुए कहा – “क्या तुम सचमुच मुर्ख हो! समझते क्यों नहीं कि बिल्ली हमारी प्राकृतिक शत्रु है| अगर उसके पंजों की पहुंच में तुम आ गए तो वह तुम्हें बिल्कुल नहीं छोड़ेगी|”

मगर दूसरे चूहे ने अपने मित्र की एक भी न सुनी और बिल्ली के पास उससे मित्रता करने पहुंच गया| मगर अभी वह ‘हल्लो’ कहने ही वाला था कि बिल्ली उस पर झपट पड़ी और उसे मार कर खा गई|

शिक्षा: धूर्त लोग भली सूरत बनाकर ही दूसरों को ठगते हैं|

Spiritual & Religious Store – Buy Online

Click the button below to view and buy over 700,000 exciting ‘Spiritual & Religious’ products

700,000+ Products
Munish Ahuja Founder SpiritualWorld.co.in

Munish Ahuja Founder SpiritualWorld.co.in

नम्र निवेदन: वेबसाइट को और बेहतर बनाने हेतु अपने कीमती सुझाव कॉमेंट बॉक्स में लिखें, यह आपको अच्छा लगा हो तो अपनें मित्रों के साथ अवश्य शेयर करें। धन्यवाद।
NO COMMENTS

LEAVE A COMMENT

🙏 सतनाम वाहे गुरु, गुरु पर्व की असीमित शुभकामनाएं... आप सभी पर वाहे गुरु की मेहर हो! 23 Nov 2018 🙏