🙏 जीवन में कुछ पाना है तो झुकना होगा, कुएं में उतरने वाली बाल्टी झुकती है, तब ही पानी लेकर आती है| 🙏
Homeसिक्ख गुरु साहिबानश्री गुरु नानक देव जीश्री गुरु नानक देव जी - साखियाँसिकन्दर लोधी को उपदेश – साखी श्री गुरु नानक देव जी

सिकन्दर लोधी को उपदेश – साखी श्री गुरु नानक देव जी

सिकन्दर लोधी को उपदेश

दिल्ली का बादशाह सिकंदर लोधी बहुत अत्याचारी था| उसने भक्त कबीर, सधना व नामदेव आदि भक्तों को कष्ट दिए व अनेक ही फकीरों को करामात दिखाने के लिए कैद किया हुआ था|

“सिकन्दर लोधी को उपदेश – साखी श्री गुरु नानक देव जी” सुनने के लिए Play Button क्लिक करें | Listen Audio

गुरु जी ने जब बादशाह का मरा हाथी जिंदा कर दिया तो वह अपने मसलती काजी को साथ लेकर दर्शन करने आया| उसने प्रार्थना की कि आप मुझे उपदेश दें, खुदा का रुप हो गुरु जी ने कहा, “आप इन निर्दोष साधुओं को मुक्त कर दें| धर्म व न्याय के मार्ग पर चले| किसी भी निर्दोष को दुख न दें|” सिकन्दर ने गुरु जी का वचन मानकर संतों को रिहा कर दिया व आगे से ऐसा न करने का प्रण दिया|

इस स्थान पर यमुना नदी के किनारे गुरुद्वारा मजनूं का टिला करके प्रसिद्ध है| यहां साधु मजनूं ने बहुत समय बैठकर भक्ति की थी, जिस के नाम पर यह टिला प्रसिद्ध है|

श्री गुरु नानक देव जी – जीवन परिचय

 

श्री गुरु नानक देव जी – ज्योति ज्योत समाना

Khalsa Store

Click the button below to view and buy over 4000 exciting ‘KHALSA’ products

4000+ Products

 

NO COMMENTS

LEAVE A COMMENT

🙏 ♻ प्रयास करें कि जब हम आये थे उसकी तुलना में पृथ्वी को एक बेहतर स्थान के रूप में छोड़ कर जाएं। सागर में हर एक बूँद मायने रखती है। ♻ 🙏