🙏 जीवन में कुछ पाना है तो झुकना होगा, कुएं में उतरने वाली बाल्टी झुकती है, तब ही पानी लेकर आती है| 🙏
Homeआरती संग्रहश्री रामायण जी की आरती – Shri Ramayan Ji Ki Aarti

श्री रामायण जी की आरती – Shri Ramayan Ji Ki Aarti

श्री रामायण जी की आरती - Shri Ramayan Ji Ki Aarti

भगवान राम हिंदू धर्म में सबसे लोकप्रिय देवताओं में से है | भगवान राम ने अयोध्या के राजा दशरथ और महारानी कौशल्या के ज्येष्ठ पुत्र के रूप में अयोध्या शहर में जन्म लिया | भगवान राम को आदर्श महिला और सीता माता के प्रतीक के रूप में पूजा जाता है |

राम के जन्मदिन पर रामनवमी का त्योहार मनाया जाता है | राम ने जिस दिन रावण को मारा था उस दिन दशहरा का त्योहार मनाया जाता है और राम जिस दिन 14 वर्ष के वनवास के बाद वापस अयोध्या आये थे उस दिन दिवाली (दीपावली) का त्योहार मनाया जाता है |

“श्री रामायण आरती” सुनने के लिए Play Button क्लिक करें | Audio Shri Ramayan Aarti

श्री रामायण जी की आरती इस प्रकार है:

आरती श्री रामायण जी की |

कीरत कलित ललित सिय पिय की |

गावत ब्रह्मादिक मुनि नारत |

बाल्मीक विज्ञानी विशारद |

शुक सनकादि शेष अरु सारद |

वरनि पवन सुत कीरति निकी |

संतन गावत शम्भु भवानी |

असु घट सम्भव मुनि विज्ञानी |

व्यास आदि कवि पुंज बखानी |

काग भूसुनिड गरुड़ के हिय की |

चारों वेद पूरान अष्ठदस |

छहों होण शास्त्र सब ग्रन्थ्न को रस |

तन मन धन संतन को सर्वस |

सारा अंश सम्मत सब ही की |

कलिमल हरनि विषय रस फीकी |

सुभग सिंगार मुक्ती जुवती की |

हरनि रोग भव भूरी अमी की |

तात मात सब विधि तुलसी की |

Spiritual & Religious Store – Buy Online

Click the button below to view and buy over 700,000 exciting ‘Spiritual & Religious’ products

700,000+ Products

 

NO COMMENTS

LEAVE A COMMENT

🙏 ♻ प्रयास करें कि जब हम आये थे उसकी तुलना में पृथ्वी को एक बेहतर स्थान के रूप में छोड़ कर जाएं। सागर में हर एक बूँद मायने रखती है। ♻ 🙏