🙏 जीवन में कुछ पाना है तो झुकना होगा, कुएं में उतरने वाली बाल्टी झुकती है, तब ही पानी लेकर आती है| 🙏

Homeआरती संग्रहश्री जगदीश जी की – Shri Jagadish ji ki

श्री जगदीश जी की – Shri Jagadish ji ki

श्री जगदीश जी की - Shri Jagadish ji ki

श्री जगदीश जी की आरती

श्री जगदीश जी की आरती इस प्रकार है:

ॐ जय जगदीश हरे, स्वामी जय जगदीश हरे|
भक्त जनन के संकट क्षण में दूर करे|

जो ध्यावे फल पावे दुख विनसे मन का|
सुख सम्पति घर आवे कष्ट मिटे तन का|

माता-पिता तुम मेरे शरण गहूँ मैं किसकी|
तुम बिन और न दूजा आस करूं जिसकी|

तुम पूरण परमात्मा तुम अन्तर्यामी|
पारब्रह्म परमेश्वर तुम सब के स्वामी|

तुम करुणा के सागर तुम पालनकर्ता|
मैं मूरख खल कामी कृपा करो भर्ता|

तुम हो एक अगोचर सबके प्राणपति|
किस विधि मिलूं दयामय तुमको मैं कुमति|

दीनबन्धु दुःखहर्ता तुम रक्षक मेरे|
करूणा हस्त उठाओ द्वार पड़ा तेरे|

विषय विकार मिटाओ पाप हरो देवा|
श्रद्धा भक्ति बढाओ सन्तन की सेवा|

श्रद्धा भक्ति बढ़ाओ सन्तन की सेवा|
ॐ जय जगदीश हरे||

Spiritual & Religious Store – Buy Online

Click the button below to view and buy over 700,000 exciting ‘Spiritual & Religious’ products

700,000+ Products

 

NO COMMENTS

LEAVE A COMMENT

🙏 ♻ प्रयास करें कि जब हम आये थे उसकी तुलना में पृथ्वी को एक बेहतर स्थान के रूप में छोड़ कर जाएं। सागर में हर एक बूँद मायने रखती है। ♻ 🙏