🙏 जीवन में कुछ पाना है तो झुकना होगा, कुएं में उतरने वाली बाल्टी झुकती है, तब ही पानी लेकर आती है| 🙏
Homeशिक्षाप्रद कथाएँनकल करना बुरा है – शिक्षाप्रद कथा

नकल करना बुरा है – शिक्षाप्रद कथा

नकल करना बुरा है - शिक्षाप्रद कथा

एक पहाड़ की ऊंची चोटी पर एक बाज रहता था| पहाड़ की तराई में बदगद के पेड़ पर एक कौआ अपना घौंसला बनाकर रहता था| वह बड़ा चालाक और धूर्त था| उसकी कोशिश सदा यही रहती थी कि बिना मेहनत किए खाने को मिल जाए| पेड़ के आसमान खोह में खरगोश रहते थे| जब भी खरगोश बाहर आते तो बाज ऊंची उड़ान भरते और एकाध खरगोश को उठाकर ले जाते|

एक दिन कौए ने सोचा, वैसे तो ये चालाक खरगोश मेरे हाथ नहीं आएंगे, अगर इनका नर्म मांस खाना है तो मुझे भी बाज की तरह ही करना होगा| एकाएक झपट्टा मारकर पकड़ लूंगा|
दूसरे दिन कौए ने भी एक खरगोश को दबोचने की बात सोचकर ऊंची उड़ान भरी| फिर उसने खरगोश को पकड़ने के लिए बाज की तरह जोर से झपट्टा मारा| अब भला कौआ बाज का क्या मुकाबला करता| खरगोश ने उसे देख लिया और वह झट से भागकर एक चट्टान के पीछे छिप गया| कौआ अपनी ही झोंक में उस चट्टान से जा टकराया| नतीजा, उसकी चोंच और गरदन टूट गई और उसने वहीं पड़कर दम तोड़ दिया|

शिक्षा: नकल करने के लिए अक्ल भी होनी चाहिए|

 

Spiritual & Religious Store – Buy Online

Click the button below to view and buy over 700,000 exciting ‘Spiritual & Religious’ products

700,000+ Products
NO COMMENTS

LEAVE A COMMENT

🙏 ♻ प्रयास करें कि जब हम आये थे उसकी तुलना में पृथ्वी को एक बेहतर स्थान के रूप में छोड़ कर जाएं। सागर में हर एक बूँद मायने रखती है। ♻ 🙏