🙏 ♻ प्रयास करें कि जब हम आये थे उसकी तुलना में पृथ्वी को एक बेहतर स्थान के रूप में छोड़ कर जाएं। सागर में हर एक बूँद मायने रखती है। ♻ 🙏
Homeशिक्षाप्रद कथाएँखिजाब और दिमाग (बादशाह अकबर और बीरबल)

खिजाब और दिमाग (बादशाह अकबर और बीरबल)

उम्र के एक पड़ाव पर पहुंचकर अकबर के बाल भी सफेद हो गए थे| वह बालों को काला करने के लिए खिजाब लगाने लगे थे| एक दिन खिजाब लगाते हुए उन्होंने बीरबल से यूं ही पूछ लिया – “बीरबल, खिजाब लगाने से दिमाग पर कोई असर तो नहीं होता है न?”

“खिजाब और दिमाग” सुनने के लिए Play Button क्लिक करें | Listen Audio

“जहांपनाह, खिजाब लगाने वालों का तो दिमाग ही नहीं होता है अन्यथा वे वास्तविकता को छोड़कर बनावटी के पीछे क्यों भागते|”

अकबर समझ गए कि बीरबल ने उन पर कटु व्यंग्य किया है, उस दिन से उन्होंने बालों पर खिजाब लगाना ही छोड़ दिया|

Munish Ahuja Founder SpiritualWorld.co.in

Munish Ahuja Founder SpiritualWorld.co.in

नम्र निवेदन: वेबसाइट को और बेहतर बनाने हेतु अपने कीमती सुझाव कॉमेंट बॉक्स में लिखें, यह आपको अच्छा लगा हो तो अपनें मित्रों के साथ अवश्य शेयर करें। धन्यवाद।
NO COMMENTS

LEAVE A COMMENT

🙏 ♻ प्रयास करें कि जब हम आये थे उसकी तुलना में पृथ्वी को एक बेहतर स्थान के रूप में छोड़ कर जाएं। सागर में हर एक बूँद मायने रखती है। ♻ 🙏