Homeसिक्ख गुरु साहिबानश्री गुरु नानक देव जीश्री गुरु नानक देव जी - साखियाँबाबर का गुरु जी समेत कई लोगों को कैदी बनाना – साखी श्री गुरु नानक देव जी

बाबर का गुरु जी समेत कई लोगों को कैदी बनाना – साखी श्री गुरु नानक देव जी

बाबर का गुरु जी समेत कई लोगों को कैदी बनाना

बाबर ने सैदपुर के इलाके में हमला कर दिया| सैदपुर के पठानों ने इसका डटकर सामना किया| मगर बाबर की फौजों के आगे पठानों की कोई पेश न गई| बाबर ने खूनी होली खेली|

“बाबर का गुरु जी समेत कई लोगों को कैदी बनाना – साखी श्री गुरु नानक देव जी” सुनने के लिए Play Button क्लिक करें | Listen Audio

शहर को लूट लिया| उसके सैनिकों ने हिन्दू-मुस्लिम सब स्त्रियों का बहुत अनादर किया| इस खून खराबे में जो बच्चे, बूढ़े व स्त्री-मर्द बच गए उन्हें बाबर के द्वारा कैद कर लिया गया| श्री गुरु नानक देव जी और मरदाने को भी कैदी बना लिया गया| लूट का माल साथ लेकर, सबके सिरों पर रखवा कर बाबर लाहौर की तरफ चल पड़ा| वहां औरतों की ऐसी दशा देखकर आपने शब्द का भी उच्चारण किया|

यह शब्द सुनकर सारे बंदियों को इस तरह अनुभव हुआ कोई उनका दुःख बांटने वाला हमदर्द आ गया है| बाबर को कैदियों में जब दो फकीरों का भी पता लगा तो उसने गुरु जी के दर्शन करने की इच्छा प्रगट की| गुरु जी के दर्शन करके बाबर प्रभावित हो गया| उन्हें कामल फकीर मानकर नमस्कार की और बेनती कि कोई सेवा बताओ| गुरु जी विनम्रतापूर्वक कहने लगे कि आप इन बंदी पुरुष औरतों को मुक्त कर दें|

इन का लूटा हुआ माल भी आप वापिस लूटा दें और इन्हे इनके घर वापिस भेज दें| गुरु जी का वचन मानते हुए बाबर ने सभी स्त्री-पुरुष को समान के साथ छोड़ दिया| बाबर ने गुरु जी के चरणों में नमस्कार की व अपनी इस भूल की क्षमा मांगी|

श्री गुरु नानक देव जी – जीवन परिचय

 

श्री गुरु नानक देव जी – ज्योति ज्योत समाना

Khalsa Store

Click the button below to view and buy over 4000 exciting ‘KHALSA’ products

4000+ Products

 

🙏 धर्म और आध्यात्म को जन-जन तक पहुँचाने में हमारा साथ दें| 🙏