🙏 जीवन में कुछ पाना है तो झुकना होगा, कुएं में उतरने वाली बाल्टी झुकती है, तब ही पानी लेकर आती है| 🙏
Homeघरेलू नुस्ख़ेबीमारीयों के लक्षण व उपचारशरीर में सूजन के 25 घरेलु उपचार – 25 Homemade Remedies for Inflammation in the Body

शरीर में सूजन के 25 घरेलु उपचार – 25 Homemade Remedies for Inflammation in the Body

शरीर में सूजन होने का एकमात्र कारण है निठल्लापन| यदि शरीर में सूजन उत्पन्न होते ही उचित ही उचित आहार-विहार पर ध्यान दिया जाए तो इस रोग से शीघ्र ही छुटकारा पाया जा सकता है| इस रोग के बढ़ जाने पर कई अन्य रोग पनप सकते हैं| अत: इस बारे में विशेष ध्यान देने की आवश्यकता होती है|

“शरीर में सूजन के 25 घरेलु उपचार” सुनने के लिए Play Button क्लिक करें | Homemade Remedies for Inflammation in the Body Listen Audio

 

 

शरीर में सूजन के 25 घरेलु नुस्खे इस प्रकार हैं:

1. मुल्तानी मिट्टी

सूजन आ जाने पर मुल्तानी मिट्टी पानी में घोलकर शरीर पर लगानी चाहिए|


2. काली मिट्टी और घी

कुम्हार की काली मिट्टी में जरा-सा देशी घी मिलाकर शरीर के विशेष अंगों पर लेप करें|


3. करेला और अर्क

करेले का रस चार चम्मच और मकोय का अर्क पांच चम्मच – दोनों को मिलाकर रोज सुबह के समय खाली पेट सेवन करें|


4. करेला और सोंठ

करेले के थोड़े-से रस में एक चम्मच सोंठ का चूर्ण मिलाकर पिएं|


5. गुलाबजल और कपूर

गुलाबजल में कपूर मिलाकर सूजन वाले स्थान पर लगाएं|


6. हल्दी

सूजन पर हल्दी व चूने को लेप बहुत फायदा करता है|


7. गाय मूत्र और अखरोट

गाय के आधे कप ताजे मूत्र में 50 ग्राम अखरोट का तेल मिलाकर सारे बदन पर मालिश करें|


8. आलू और पानी:

कच्चे आलू पानी में उबालकर उस पानी से अंग विशेष पर सेंक लगाएं|


9. गरम पानी और शलजम

गरम पानी में दो-तीन शलजम के छोटे-छोटे टुकड़े डालकर थोड़ी देर तक रखा रहने दें| फिर उस पानी से प्रभावित अंग धोएं अथवा उबले पानी में जरासा शलजम का अर्क डालकर शरीर धोएं|


10. तरबूज और कालीमिर्च

शरीर में सूजन आ जाने पर तरबूज के रस में कालीमिर्च का चूर्ण डालकर सेवन करें|


11. सोंठ, कालीमिर्च, सौंफ और गुड़

सोंठ, कालीमिर्च तथा सौंफ – तीनों का चूर्ण दो चम्मच की मात्रा में गुड़ के साथ खाएं|


12. सोंठ और गुड़

सोंठ तथा पुराना गुड़ मिलाकर खाने से शरीर की सूजन जाती रहती है|


13. कालीमिर्च और मक्खन

चार-पांच कालीमिर्च मक्खन के साथ खाने से सूजन उतर जाती है|


14. गेहूं और पानी

पानी में गेहूं उबालकर उस पानी से सूजन वाले स्थान पर कपड़े द्वारा सेंकाई करें|


15. अनन्नास

अनन्नास का रस पीने से सूजन कम हो जाती है|


16. मेथी

मेथी की पत्तियों को उबालकर उसकी पुल्टिस बनाकर सूजन वाले स्थान पर बांधें|


17. काशीफल

काशीफल के आठ-दस बीजों की चटनी बनाकर शहद के साथ चाटें|


18. अरहर

अरहर की दाल को पीसकर गरम करें| फिर उसकी पुल्टिस बांधें|


19. एरण्ड और सरसों

एरण्ड के पत्तों पर गरम तेल (सरसों का) चुपड़कर सूजन वाले स्थान पर रखकर पट्टी बांध दें|


20. गेहूं

10 ग्राम गेहूं की भूसी पानी में उबालें| फिर उसमें जरा-सा नमक डालकर छानकर पी जाएं|


21. मटर

मटर को पानी में उबालकर उस पानी से पैर की उंगलियां धोएं| जाड़ों में होने वाली पैर की उंगलियों की सूजन खत्म हो जाएगी|


22. सरसों

तारपीन के तेल में सरसों का तेल मिलाकर सूजन वाले स्थान पर रोज मालिश करें|


23. फिटकरी

फिटकरी को पानी में डालकर उबाल लें| इस पानी से सूजन वाले अंगों को धीरे-धीरे कुछ देर तक धोते रहें|


24. सेंधा नमक

सेंधा नमक के धेले को गरम करके सूजन वाला स्थान सेंकें|


25. गरम पानी, तुलसी, अर्क, सोंठ और सरसों

गरम पानी में एक चम्मच तुलसी का अर्क, एक चम्मच सोंठ का चूर्ण और एक चम्मच सरसों का तेल डालकर सेंकाई करें|


शरीर में सूजन में क्या खाएं क्या नहीं

रोगी को इस बात की पहचान स्वयं हो जाती है कि सूजन किस कारण से आई है| मान लीजिए, किसी स्त्री या पुरुष को ठंडी चीजें खाने से शरीर में सूजन आ जाती है तो उसे उन चीजों को नहीं खाना चाहिए| सूजन कम करने के लिए अन्न, तेल, घी, नामक आदि छोड़ देना चाहिए| भोजन में केवल दूध व फल लेने चाहिए| पुराना जौ, कच्चा केला, मूली, चौलाई, काली गाजर, परवल, बकरी, घोड़ी तथा गाय का दूध इस रोग में बहुत लाभकारी है| मल-मूत्र आने पर तुरन्त उनका त्याग करें| रखा हुआ तथा फास्ट-फूड मत खाएं| इसके साथ-साथ शरीर में गरमी पैदा करने वाले पदार्थ, उरद, घी, मट्ठा, दही शराब, सरसों का साग, पान, तेल, दालमोठ आदि को भी हाथ नहीं लगाना चाहिए|

शरीर में सूजन का कारण

कुछ लोग शारीरिक कार्य नाममात्र को करते हैं, अत: जब उनके कुछ अंग निष्क्रियता की परिधि में आ जाते हैं तो वे सूज जाते हैं| शरीर में खून की कमी, पेट सम्बंधी विकार, जिक्र की खराबी आदि कारणों से भी प्राय: शरीर सूज जाता है|

शरीर में सूजन की पहचान

शरीर में सूजन आने के कारण त्वचा पर लाल-लाल मांस उभर आता है| उसमें दर्द होता है| खुजली भी होती है| कई बार मांस फूलकर छिल जाता है| बेचैनी बढ़ जाती है| रोगी के प्राण सूजन वाले स्थान पर अटके रहते हैं|

NOTE: इलाज के किसी भी तरीके से पहले, पाठक को अपने चिकित्सक या अन्य स्वास्थ्य देखभाल प्रदाता की सलाह लेनी चाहिए।

Consult Dr. Veerendra Aryavrat - +91-9254092245 (Recommended by SpiritualWorld)
Consult Dr. Veerendra Aryavrat +91-9254092245
(Recommended by SpiritualWorld)

Health, Wellness & Personal Care Store – Buy Online

Click the button below to view and buy over 50000 exciting ‘Wellness & Personal Care’ products

50000+ Products
NO COMMENTS

LEAVE A COMMENT

🙏 ♻ प्रयास करें कि जब हम आये थे उसकी तुलना में पृथ्वी को एक बेहतर स्थान के रूप में छोड़ कर जाएं। सागर में हर एक बूँद मायने रखती है। ♻ 🙏