🙏 धर्म और आध्यात्म को जन-जन तक पहुँचाने में हमारा साथ दें| 🙏
Homeघरेलू नुस्ख़ेबीमारीयों के लक्षण व उपचारचक्कर आने के 13 घरेलु उपचार – 13 Homemade Remedies for Dizziness

चक्कर आने के 13 घरेलु उपचार – 13 Homemade Remedies for Dizziness

चक्कर आने को हम रोग मान बैठे हैं, किन्तु यह रोग न होकर मस्तिष्क की व्याधि है| जब कभी दिमाग में खून की मात्रा पूर्ण रूप से नहीं पहुंचती तो दिमाग की नसें शिथिल पड़ जाती हैं| यही शिथिलता चक्कर लाती है|

“चक्कर आना के 13 घरेलु उपचार” सुनने के लिए Play Button क्लिक करें | Homemade Remedies for Dizziness Listen Audio

चक्कर कुछ देर तक रहता है| कभी-कभी कमरे में अधिक देर तक रहने, घुटन भरे वातावरण में ठहरने, बहती नदी के देर तक देखने से भी चक्कर आने लगते हैं|

 

 

चक्कर आने के 13 घरेलु नुस्खे इस प्रकार हैं:

1. दूध, घी, मिश्री और तुलसी

एक गिलास दूध में एक चम्मच देशी घी, एक चम्मच पिसी मिश्री तथा तुलसी की चार पत्तियां डालकर पी जाएं| चक्कर आना बंद हो जाएगा|


2. खरबूजा और घी

खरबूजे के बीज को घी में भून लें| फिर इनको पीसकर 6 ग्राम से 10 ग्राम की मात्रा में सुबह-शाम सेवन करें|


3. कालीमिर्च, शक्कर, घी और दूध

10 ग्राम कालीमिर्च को 250 ग्राम शक्कर में मिलाकर देशी घी में भूनकर कतली जमा लें| फिर 5 ग्राम की एक कतली सुबह दूध के साथ सेवन करें|


4. गेहूं और कालीमिर्च

गेहूं के 10 ग्राम चोकर में कालीमिर्च के चार दाने पीसकर मिलाएं| फिर इसका काढ़ा बनाकर सेवन करें|


5. तुलसी, कालीमिर्च और जौ

तुलसी, कालीमिर्च तथा जौ – तीनों का काढ़ा बनाकर पीने से सिर के चक्कर जाते रहते हैं|


6. मुन्नका और नमक

मुनक्के के कुछ दाने तवे पर भूनकर उनमें नमक लगाकर चबा-चबाकर कुछ दिनों तक खाएं|


7. सौंफ, खांड़ और पानी

10 ग्राम सौंफ का चूर्ण 250 ग्राम खांड़ में मिलाकर रख लें| इसमें से दो चम्मच चूर्ण खाकर पानी पी लें|


8. पानी और नीबू

यदि पेट में अधिक गैस (वायु) बनने के कारण सिर में चक्कर आ रहे हों तो गुनगुने पानी में आधा नीबू तथा एक चुटकी खाने वाला सोडा डालकर पी जाएं| चक्कर आने बंद हो जाएंगे|


9. हल्दी और पानी

पिसी हुई हल्दी पानी में मिलाकर माथे पर लेप करने से मस्तिष्क के चक्कर दूर हो जाते हैं|


10. पानी, मुन्नका और शहद

धूप में थोड़ा-सा पानी रखकर उसमें 10-15 मुनक्के डाल दें| तीन-चार घंटे में पानी गरम हो जाएगा और मुनक्के की पकौड़ी बन जाएगी| अब मुनक्कों को पानी में मथकर जरा-सा शहद डालकर शरबत पी जाएं|


11. सोंठ और घी

10 ग्राम पिसी सोंठ को घी में मिलाकर सेवन करने से भी चक्कर आने बंद हो जाते हैं|


12. बादाम, पिस्ता, इलायची और दूध

दो बादाम, चार दाने पिस्ते तथा दो दाना सफेद इलायची – सबको आधा किलो दूध में औटाकर पिएं|


13. बादाम, पिस्ता और इलायची

बादाम, पिस्ते, इलायची आदि कुचलकर खाएं|

 

चक्कर आने का कारण

चक्कर आने का मुख्य कारण मस्तिष्क की कमजोरी है| इसके अलावा रक्तचाप में अचानक कमी आने से भी सिर घूमने लगता है| अजीर्ण, खून की कमी, स्त्री से अधिक मैथुन करना, स्त्रियों को मासिक धर्म खुलकर न होना आदि कमियों के कारण भी चक्कर आने लगते हैं| कभी-कभी अधिक शारीरिक मेहनत करने से मस्तिष्क पर बुरा प्रभाव पड़ता है और चक्कर आ जाता है|

चक्कर आने की पहचान

शुरू में सिर घूमता है और फिर थोड़ी देर बाद चक्कर आने बंद हो जाते हैं| जो लोग दूषित वातावरण में रहते हैं या जिनका शरीर बहुत कमजोर होता है, उन्हें थोड़ा-सा कम करने के बाद भी चक्कर आने लगते हैं| कुछ लोग एक स्थान पर देर तक खड़े नहीं रह पाते| उनको चक्कर आने लगते हैं और वे वहीं गिर पड़ते हैं| तेज धूप, कड़ाके की ठंड या अधिक पसीना आने पर भी चक्कर आ जाते हैं| इसमें आंखों के सामने अंधेरा, चारों तरफ की चीजें घूमती हुई और मन में एक प्रकार की सुस्ती-सी मालूम पड़ती है| कई बार चक्कर खाकर गिर पड़ने के बाद व्यक्ति बेहोश भी हो जाता है|

NOTE: इलाज के किसी भी तरीके से पहले, पाठक को अपने चिकित्सक या अन्य स्वास्थ्य देखभाल प्रदाता की सलाह लेनी चाहिए।

Consult Dr. Veerendra Aryavrat - +91-9254092245 (Recommended by SpiritualWorld)
Consult Dr. Veerendra Aryavrat +91-9254092245
(Recommended by SpiritualWorld)

Health, Wellness & Personal Care Store – Buy Online

Click the button below to view and buy over 50000 exciting ‘Wellness & Personal Care’ products

50000+ Products
अजीर्ण (
🙏 धर्म और आध्यात्म को जन-जन तक पहुँचाने में हमारा साथ दें| 🙏