🙏 सतनाम वाहे गुरु, गुरु पर्व की असीमित शुभकामनाएं... आप सभी पर वाहे गुरु की मेहर हो! 23 Nov 2018 🙏
Homeशिक्षाप्रद कथाएँसिंह की खाल में गधा – शिक्षाप्रद कथा

सिंह की खाल में गधा – शिक्षाप्रद कथा

सिंह की खाल में गधा - शिक्षाप्रद कथा

किसी गधे को सिंह की खाल मिल गई| उसने सोचा – ‘अगर मैं इस खाल को ओढ़ लूं तो मजा आ जाएगा! जंगल के सभी जानवर मुझे सिंह समझकर डर जाएंगे|’
बस फिर क्या था| गधे ने सिंह की खाल ओढ़ ली और लगा जंगल में दौड़ने| जंगल के जानवर डरकर इधर-उधर भागने लगे|

वे इस नए फुर्तीले सिंह से बेहद डर गए थे| भागने वाले जानवरों में चालाक लोमड़ी भी थी| उसे भी असलियत का पता नहीं था| चालाक और धूर्त लोमड़ी भी गधे को नहीं पहचान सकी| यह देखकर गधा प्रसन्न हो गया| उसका मन अहंकार से भर गया| अपनी प्रसन्नता दिखाने के लिए वह लगा जोर-जोर से रेंकने| सिंह को गधे की तरह रेंकता देखकर लोमड़ी आश्चर्यचकित रह गई| वह गधे के पास आई|

गधा लोमड़ी को देखकर कहने लगा – “क्या तुम मुझसे डरती नहीं हो?”

“जब तुम्हें पहली बार देखा तो मैं डर गई थी!” लोमड़ी बोली – “मगर जैसे ही तुम्हारी आवाज सुनी, मैं समझ गई कि तुम गधे हो|”

शिक्षा: वस्त्र नहीं स्वभाव को बदलो|

Spiritual & Religious Store – Buy Online

Click the button below to view and buy over 700,000 exciting ‘Spiritual & Religious’ products

700,000+ Products
Munish Ahuja Founder SpiritualWorld.co.in

Munish Ahuja Founder SpiritualWorld.co.in

नम्र निवेदन: वेबसाइट को और बेहतर बनाने हेतु अपने कीमती सुझाव कॉमेंट बॉक्स में लिखें, यह आपको अच्छा लगा हो तो अपनें मित्रों के साथ अवश्य शेयर करें। धन्यवाद।
NO COMMENTS

LEAVE A COMMENT

🙏 सतनाम वाहे गुरु, गुरु पर्व की असीमित शुभकामनाएं... आप सभी पर वाहे गुरु की मेहर हो! 23 Nov 2018 🙏