🙏 सतनाम वाहे गुरु, गुरु पर्व की असीमित शुभकामनाएं... आप सभी पर वाहे गुरु की मेहर हो! 23 Nov 2018 🙏
Homeशिक्षाप्रद कथाएँसिंह और बकरी – शिक्षाप्रद कथा

सिंह और बकरी – शिक्षाप्रद कथा

सिंह और बकरी - शिक्षाप्रद कथा

एक सिंह भूख से तड़प रहा था| कई दिनों से उसे भोजन नहीं मिला था|
जब वह शिकार की तलाश में इधर-उधर भटक रहा था, तभी उसे एक ऊंची चट्टान पर एक बकरी खड़ी दिखाई दी| बकरी देखकर सिंह के मुंह में पानी भर आया| मगर चट्टान पर चढ़ने की उसकी हिम्मत नहीं थी| अत: उसने तरकीब से काम लेना ही मुनासिब समझा|

“नमस्ते! बकरी जी|” सिंह बड़े प्यार से बोला – “क्या तुम्हें भूख नहीं लगी है?”

“मैं तो हमेशा भूखी रहती हूं!” बकरी बोली|

“तो फिर तुम यहां नीचे क्यों नहीं आ जाती?” सिंह बड़ी चतुराई से बोला – “यहां की घास तो बहुत मुलायम और स्वाद भरी है!”

“यह जानकर मुझे प्रसन्नता हुई महाराज कि आपके आस-पास की घास बहुत स्वादिष्ट है|” बकरी ने उत्तर दिया – “मैं आपको धन्यवाद देती हूं कि आपने मुझे आमंत्रित किया, परंतु मेरी विवशता यह है कि मैं आपको यह अवसर नहीं देना चाहती कि आप मुझे ही खा जाएं| नक्स्ते!”

शिक्षा: शत्रु की बात का कभी भरोसा नहीं करना चाहिए|

Spiritual & Religious Store – Buy Online

Click the button below to view and buy over 700,000 exciting ‘Spiritual & Religious’ products

700,000+ Products
Munish Ahuja Founder SpiritualWorld.co.in

Munish Ahuja Founder SpiritualWorld.co.in

नम्र निवेदन: वेबसाइट को और बेहतर बनाने हेतु अपने कीमती सुझाव कॉमेंट बॉक्स में लिखें, यह आपको अच्छा लगा हो तो अपनें मित्रों के साथ अवश्य शेयर करें। धन्यवाद।
NO COMMENTS

LEAVE A COMMENT

🙏 सतनाम वाहे गुरु, गुरु पर्व की असीमित शुभकामनाएं... आप सभी पर वाहे गुरु की मेहर हो! 23 Nov 2018 🙏