🙏 जीवन में कुछ पाना है तो झुकना होगा, कुएं में उतरने वाली बाल्टी झुकती है, तब ही पानी लेकर आती है| 🙏
Homeशिक्षाप्रद कथाएँहिजड़े को जवाब मिला (बादशाह अकबर और बीरबल)

हिजड़े को जवाब मिला (बादशाह अकबर और बीरबल)

बादशाह अकबर का मुंहलगा हिजड़ा था खोजा| हालाकि खोजा काफी बुद्धिमान था किंतु वह स्वयं को बीरबल से भी ऊंचा समझने लगा था| एक दिन उसने दरबार में घोषणा कर दी कि यदि बीरबल उसके तीन सवालों का जवाब दे देगा तो वह जिंदगी भर बीरबल की गुलामी करेगा अन्यथा बीरबल को उसकी गुलामी करनी पड़ेगी|

“हिजड़े को जवाब मिला” सुनने के लिए Play Button क्लिक करें | Listen Audio

बीरबल ने खोजा की चुनौती स्वीकार कर ली| दरबार में बादशाह अकबर के सामने खोजा ने बीरबल के सामने तीन सवाल रखे|

१. धरती का मध्य कहां है?

२. आकाश में कितने तारे हैं?

३. दुनिया में कितने मर्द हैं?

खोजा के सवाल सुनकर सभी दरबारी चकित हो गए| उन्हें लोग कि बीरबल अब बता नहीं पाएगा|

बीरबल मुस्कराते हुए अपनी जगह पर खड़ा हुआ और पहले खोजा का देखा, फिर बादशाह अकबर से बोला – “हुजूर! यह तो बहुत ही आसान सवाल है| पहले सवाल का जवाब यह है कि धरती का मध्य हुजूर की राजगद्दी से तीन कदम दाईं तरफ है, यदि खोजा को यकीन न हो तो वह धरती को नपवा ले, मध्य वहीं होगा जहां मैंने बताया है|”

खोजा चुप था, भला धरती नपवाना कोई आसान काम तो था नहीं|

“हुजूर, दूसरे सवाल का जवाब यह है कि आकाश पर उतने ही तारे हैं जितने खोजा के सिर पर बाल हैं| तसल्ली के लिए खोजा अपने बाल मुड़वा कर गिन ले और बाद में तारे गिन ले-दोनों बराबर होंगे|”

खोजा इस बार भी चुप था|

“और रही यह बात कि इस दुनिया में मर्द कितने हैं? तो हुजूर मैंने कई बार दुनिया के मर्दों की गिनती करवाई किंतु हर बार हिजड़ों की वजह से समस्या उत्पन्न हो गई| समझ में ही नहीं आता था कि हिजड़ों को मर्दों की गिनती में रखा जाए अथवा नहीं| हुजूर यदि दुनिया के सभी हिजड़ों को मरवा दिया जाए तो मर्दों की सही गणना सामने आ जाएगी|” बीरबल ने जवाब दिया|

जवाब सुनकर खोजा दरबार से भाग गया|

बादशाह अकबर जानते थे कि इस बार भी बीरबल अपने जवाब से सभी को लाजवाब कर देगा और वैसा ही हुआ|

NO COMMENTS

LEAVE A COMMENT

🙏 ♻ प्रयास करें कि जब हम आये थे उसकी तुलना में पृथ्वी को एक बेहतर स्थान के रूप में छोड़ कर जाएं। सागर में हर एक बूँद मायने रखती है। ♻ 🙏