🙏 जीवन में कुछ पाना है तो झुकना होगा, कुएं में उतरने वाली बाल्टी झुकती है, तब ही पानी लेकर आती है| 🙏
Homeशिक्षाप्रद कथाएँचोर की दाढ़ी में तिनका (बादशाह अकबर और बीरबल)

चोर की दाढ़ी में तिनका (बादशाह अकबर और बीरबल)

बादशाह अकबर की अंगूठी गुम हो गई| बादशाह ने बहुत तलाश की किंतु अंगूठी नहीं मिली| उन्होंने इस बात का जिक्र बीरबल से किया तो उसने पूछा – “हुजूर, आपको याद है, आपने अंगूठी कब उतारी थी?”

“चोर की दाढ़ी में तिनका” सुनने के लिए Play Button क्लिक करें | Listen Audio

“कल सुबह शौच जाने से पहले उतारकर अलमारी में रखी थी, वापस आने पर नहीं मिली|”

“तब तो यह तय है कि अंगूठी गुम नहीं हुई है बल्कि चोरी हुई है… और यह काम इस कमरे की साफ-सफाई करने वाले सेवकों का ही है|”

बादशाह ने सभी सेवकों को बुला लिया| कुल पांच सेवक थे और पांचों ही हाजिर थे|

बीरबल ने कहा – “बादशाह सलामत की अंगूठी चोरी हो गई है और उनका कहना है कि वह उस अलमारी में रखी थी| अत: मुझे अलमारी से ही पूछना पड़ेगा कि वास्तविक चोर कौन है?”

बीरबल अलमारी के पास गया और कान लगाकर कुछ सुनने का प्रयत्न करने लगा| फिर ऐसा स्वांग किया कि मानो अलमारी ने सबकुछ बता दिया है| मुस्कराकर बोला – “अलमारी ने सब बता दिया है… चोर मुझसे बच नहीं सकता क्योंकि दाढ़ी में तिनका है|”

बीरबल की बात सुनकर उन पांचों में से सबकी नजरें बचाकर एक ने अपनी दाढ़ी पर हाथ फेरा, मानो तिनका ढूंढ़ने की कोशिश कर रहा हो| बीरबल की नजरें उन पांचों पर ही थीं, बीरबल ने तुरन्त उसको गिरफ्तार करने का आदेश दिया, जिसने अपनी दाढ़ी पर हाथ फेरा था|

बीरबल द्वारा सख्ती से पूछताछ करने पर उसने अपना अपराध स्वीकार कर लिया|

बादशाह अकबर अपनी अंगूठी वापस पाकर बेहद खुश हुए|

NO COMMENTS

LEAVE A COMMENT

🙏 ♻ प्रयास करें कि जब हम आये थे उसकी तुलना में पृथ्वी को एक बेहतर स्थान के रूप में छोड़ कर जाएं। सागर में हर एक बूँद मायने रखती है। ♻ 🙏