🙏 सतनाम वाहे गुरु, गुरु पर्व की असीमित शुभकामनाएं... आप सभी पर वाहे गुरु की मेहर हो! 23 Nov 2018 🙏
Homeशिक्षाप्रद कथाएँकड़वा नीम (तेनालीराम) – शिक्षाप्रद कथा

कड़वा नीम (तेनालीराम) – शिक्षाप्रद कथा

कड़वा नीम (तेनालीराम) - शिक्षाप्रद कथा

एक बार राजा कृष्णदेव राय का, पड़ोसी राज्य से युद्ध छिड़ गया| युद्ध में जंग जीतकर राजा जब अपने साथियों के साथ अपनी राजधानी को वापिस आ रहे थे तो तेनालीराम कहीं पीछे ही रहे गये| अगले दिन दरबार में राजा कृष्णदेव राय को अपनी ओर से युद्ध जीतने के उपलक्ष्य में कोई न कोई उपहार दे रहे थे| इतने में एक आदमी आया और राजा को नीम के पौधों का गमला भेंट करके बोला – “महाराज ये भेंट आपके लिए विशेषकर तेनालीराम जी ने भेजी है|”

यह सुनकर राजा कृष्णा देव राय को गुस्सा आ गया और उन्होंने आगबबूला होकर कहा-“तेनालीराम को फौरन गिरफ्तार कर, उन्हें दरबार में हाजिर किया जाये|

महाराज का आदेश सुनकर तेनालीराम से नफरत करने वालों के चेहरे खुशी से चमक उठे और वह मन ही मन तेनालीराम की कैद की भगवान से प्रार्थना करने लगे| दूसरे दिन तेनालीराम को गिरफ्तार करके राजा के दरबार में पेश किया गया| सारे दरबार में बिल्कुल खामोशी छाई हुई थी| तभी महाराज ने रौबीली आवाज़ में कड़ककर पूछा – “तेनालीराम, ये कड़वे नीम के पौधे के भेजने का क्या मतलब हुआ, हम तुम्हें कड़वे नीम लगते हैं|”

यह देखकर तेनालीराम हैरान रह गये| वे समझ गये की उनके विरोधियों ने उनके खिलाफ कोई षड्यंत्र अवश्य रचा है जो कि महाराज इतने गुस्से में हैं| परन्तु उन्होंने अपना धीरज और विवेक नहीं खोया| कुछ सोचकर बोले कि – “महाराज मैंने ये नीम का पेड़ ये सोचकर भिजवाया है क्योंकि नीम के पेड़ की उम्र कई सौ वर्ष होती है तो आप भी कई सौ वर्ष जीएं| नीम के पेड़ से मक्खी, मच्छर दूर भागते हैं तो आपके राज्य में भी शत्रु आपके नाम से ही डरकर दूर भाग जायें| नीम के पेड़ की ठंडी शीतल छाया में सभी को आराम मिलता है तो आपके राज्य में भी चारों ओर तरक्की, कुशलता, खुशहाली, सुख-शांति का वातावरण फैले| यही सब कामना करके मैंने नीम का पेड़ भेंट स्वरूप आपको प्रदान किया|

तेनालीराम की ये बात सुनकर महाराज कृष्णदेव राय गद्-गद् हो गये और तेनालीराम की प्रशंसा करने लगे| अंत में उन्होंने तेनालीराम को बहुत सारा इनाम भी दिया ये देखकर तेनालीराम के विरोधियों के चेहरे हल्दी की तरह पीले पड़ गये और लटक गये|

 

Spiritual & Religious Store – Buy Online

Click the button below to view and buy over 700,000 exciting ‘Spiritual & Religious’ products

700,000+ Products
Munish Ahuja Founder SpiritualWorld.co.in

Munish Ahuja Founder SpiritualWorld.co.in

नम्र निवेदन: वेबसाइट को और बेहतर बनाने हेतु अपने कीमती सुझाव कॉमेंट बॉक्स में लिखें, यह आपको अच्छा लगा हो तो अपनें मित्रों के साथ अवश्य शेयर करें। धन्यवाद।
NO COMMENTS

LEAVE A COMMENT

🙏 सतनाम वाहे गुरु, गुरु पर्व की असीमित शुभकामनाएं... आप सभी पर वाहे गुरु की मेहर हो! 23 Nov 2018 🙏