🙏 सतनाम वाहे गुरु, गुरु पर्व की असीमित शुभकामनाएं... आप सभी पर वाहे गुरु की मेहर हो! 23 Nov 2018 🙏
Homeशिक्षाप्रद कथाएँएहसान – शिक्षाप्रद कथा

एहसान – शिक्षाप्रद कथा

एहसान - शिक्षाप्रद कथा

एक बहेलिया था| एक बार जंगल में उसने चिड़िया फंसाने के लिए अपना जाल फैलाया| थोड़ी देर बाद ही एक उकाब उसके जाल में फंस गया|

वह उसे घर लाया और उसके पंख काट दिए| अब उकाब उड़ नहीं सकता था, बस उछल उछलकर घर के आस-पास ही घूमता रहता|

उस बहेलिए के घर के पास ही एक शिकारी रहता था| उकाब की यह हालत देखकर उससे सहन नहीं हुआ| वह बहेलिए के पास गया और कहा – “मित्र, जहां तक मुझे मालूम है, तुम्हारे पास एक उकाब है, जिसके तुमने पंख काट दिए हैं| उकाब तो शिकारी पक्षी है| छोटे-छोटे जानवर खा कर अपना भरण-पोषण करता है| इसके लिए उसका उड़ना जरूरी है| मगर उसके पंख काटकर तुमने उसे अपंग बना दिया है| फिर भी क्या तुम उसे मुझे बेच दोगे?”

बहेलिए के लिए उकाब कोई काम का पक्षी तो था नहीं, अत: उसने उस शिकारी की बात मान ली और कुछ पैसों के बदले उकाब उसे दे दिया|

शिकारी उकाब को अपने घर ले आया और उसकी दवा-दारू करने लगा| दो माह में उकाब के नए पंख निकल आए| वे पहले जैसे ही बड़े थे| अब वह उड़ सकता था|

जब शिकारी को यह बात समझ में आ गई तो उसने उकाब को खुले आकाश में छोड़ दिया| उकाब ऊंचे आकाश में उड़ गया| शिकारी यह सब देखकर बहुत प्रसन्न हुआ| उकाब भी बहुत प्रसन्न था और शिकारी का बहुत कृतज्ञ था|

अपनी कृतज्ञता प्रकट करने के लिए उकाब एक खरगोश मारकर शिकारी के पास लाया|

एक लोमड़ी, जो यह सब देख रही थी, उकाब से बोली – “मित्र! जो तुम्हें हानि नहीं पहुंचा सकता, उसे प्रसन्न करने से क्या लाभ?”

इसके उत्तर में उकाब ने कहा – “व्यक्ति को हर उस व्यक्ति का एहसान मानना चाहिए, जिसने उसकी सहायता की हो और ऐसे व्यक्तियों से सावधान रहना चाहिए जो हानि पहुंचा सकते हों|”

शिक्षा: व्यक्ति को सदा सहायता करने वाले का कृतज्ञ रहना चाहिए|

Spiritual & Religious Store – Buy Online

Click the button below to view and buy over 700,000 exciting ‘Spiritual & Religious’ products

700,000+ Products
Munish Ahuja Founder SpiritualWorld.co.in

Munish Ahuja Founder SpiritualWorld.co.in

नम्र निवेदन: वेबसाइट को और बेहतर बनाने हेतु अपने कीमती सुझाव कॉमेंट बॉक्स में लिखें, यह आपको अच्छा लगा हो तो अपनें मित्रों के साथ अवश्य शेयर करें। धन्यवाद।
NO COMMENTS

LEAVE A COMMENT

🙏 सतनाम वाहे गुरु, गुरु पर्व की असीमित शुभकामनाएं... आप सभी पर वाहे गुरु की मेहर हो! 23 Nov 2018 🙏