🙏 जीवन में कुछ पाना है तो झुकना होगा, कुएं में उतरने वाली बाल्टी झुकती है, तब ही पानी लेकर आती है| 🙏
Homeभजन संग्रहश्री साईं बाबा जी के भजनतू मारे या तारे – 2 साँई बाबा हम हैं दास तुम्हारे

तू मारे या तारे – 2 साँई बाबा हम हैं दास तुम्हारे

भजन - श्री साईं बाबा जी - तू मारे या तारे - 2 साँई बाबा हम हैं दास तुम्हारे

तू मारे या तारे – 2 साँई बाबा हम हैं दास तुम्हारे

जब से अपनी आँख खुली है
दिन उजला हर शब उजली है
जागे भाग हमारे,जागे भाग हमारे
ओ साँई बाबा हम हैं दास तुम्हारे

सदियों से थे पहरे दिल पर
आ पहुँचे अपनी मज़िल पर
आख़िर तेरे सहारे आख़िर तेरे सहारे
ओ साँई बाबा हम हैं दास तुम्हारे

हम तड़पत हैं तेरे दर्शन को
मांगत हैं तुझसे तेरे मन को
कबसे हाथ पसारे कबसे हाथ पसारे
ओ साँई बाबा हम हैं दास तुम्हारे

खोज में तेरी नीर बहाएँ
जाने और कहाँ ले जाएँ
इन अँखियन के धारे इन अँखियन के धारे
ओ साँई बाबा हम हैं दास तुम्हारे

हर संकट हर पीड़ को देखो
भक्तजनों की भीड़ को देखो
कोई न पत्थर मारे कोई न पत्थर मारे
ओ साँई बाबा हम हैं दास तुम्हारे

 

Spiritual & Religious Store – Buy Online

Click the button below to view and buy over 700,000 exciting ‘Spiritual & Religious’ products

700,000+ Products

 

NO COMMENTS

LEAVE A COMMENT

🙏 ♻ प्रयास करें कि जब हम आये थे उसकी तुलना में पृथ्वी को एक बेहतर स्थान के रूप में छोड़ कर जाएं। सागर में हर एक बूँद मायने रखती है। ♻ 🙏