🙏 जीवन में कुछ पाना है तो झुकना होगा, कुएं में उतरने वाली बाल्टी झुकती है, तब ही पानी लेकर आती है| 🙏
Homeआध्यात्मिक न्यूज़अन्तर्राष्ट्रीय बाल शिविर में प्रतिभाग हेतु फ्राँस एवं नार्वे रवाना हुए सी.एम.एस. के छात्र दल

अन्तर्राष्ट्रीय बाल शिविर में प्रतिभाग हेतु फ्राँस एवं नार्वे रवाना हुए सी.एम.एस. के छात्र दल

अन्तर्राष्ट्रीय बाल शिविर में प्रतिभाग हेतु फ्राँस एवं नार्वे रवाना हुए सी.एम.एस. के छात्र दल

लखनऊ, 5 जुलाई। सिटी मोन्टेसरी स्कूल, इन्दिरा नगर कैम्पस का पाँच सदस्यीय दल फ्राँस में आयोजित हो रहे एक माह के ‘अन्तर्राष्ट्रीय बाल शिविर’ में प्रतिभाग हेतु रवाना हुआ जबकि सी.एम.एस. गोमती नगर (प्रथम कैम्पस) का चार सदस्यीय दल नार्वे में आयोजित ‘अन्तर्राष्ट्रीय बाल शिविर’ में प्रतिभाग हेतु रवाना हुआ। इन दोनों ही छात्र दलों को रवानगी से पूर्व विद्यालय के शिक्षकों व अभिभावकों ने अमौसी एअरपोर्ट पर शुभकामनाएं दी। सी.एम.एस. के मुख्य जन-सम्पर्क अधिकारी श्री हरि ओम शर्मा ने बताया कि इंग्लैण्ड की चिल्ड्रेन्स इण्टरनेशनल समर विलेज संस्था (सी.आई.एस.वी.) के तत्वावधान में विश्व के अलग-अलग देशों में अन्तर्राष्ट्रीय बाल शिविर का आयोजन प्रतिवर्ष किया जाता है, जिसमें विभिन्न देशों के बच्चे एक माह तक साथ-साथ रहकर एक-दूसरे की संस्कृति व सभ्यता को और बेहतर तरीके से समझ पाते हैं एवं उनमें एकता व मैत्री भावना का संचार होता है। अन्तर्राष्ट्रीय बाल शिविर में एक माह के प्रवास के दौरान विभिन्न देशों के बाल दल एकता व शान्ति को बढ़ावा देने वाली गतिविधियों में सम्मिलित होंगे।

फ्राँस रवाना हेतु सी.एम.एस. इन्दिरा नगर कैम्पस के छात्र दल का नेतृत्व विद्यालय की शिक्षिका सुश्री दीपिका अग्रवाल कर रही हैं जबकि छात्र सदस्यों में अबीर मंकटाला, अक्षत पाण्डेय, प्रगति सक्सेना एवं शाम्भवी चौहान शामिल हैं। इसी प्रकार, नार्वे रवाना हुए सी.एम.एस. गोमती नगर (प्रथम कैम्पस) के छात्र दल का नेतृत्व शिक्षिका सुश्री प्राची दुबे कर रही है जबकि छात्रों में उर्वी सचान, अद्वितीय सचान एवं किशा यादव शामिल हैं।

अन्तर्राष्ट्रीय बाल शिविर में प्रतिभाग करने का प्रमुख उद्देश्य छात्रों की सोच को विस्तृत एवं विश्वव्यापी बनाना है जिससे उनमें अन्य देशों के छात्रों के साथ साँस्कृतिक, अर्न्तसांस्कृतिक एवं अन्तर्राष्ट्रीय समझ विकसित हो। अन्तर्राष्ट्रीय बाल शिविर के प्रतिभागी छात्रों को ठहरने, खाने-पीने, खेल-कूद, ऐतिहासिक स्थलों के भ्रमण, चिकित्सा आदि की सारी सुविधायें उपलब्ध करायी जायेगी। इसके अलावा देश-विदेश के बच्चे मेजबान परिवारों में दो दिन रहकर वहां के रहन-सहन, खान-पान, रीति-रिवाज आदि का नजदीक से ज्ञान प्राप्त करेंगे।

(हरि ओम शर्मा)
मुख्य जन-सम्पर्क अधिकारी
सिटी मोन्टेसरी स्कूल, लखनऊ

FOLLOW US ON:
NO COMMENTS

LEAVE A COMMENT

🙏 ♻ प्रयास करें कि जब हम आये थे उसकी तुलना में पृथ्वी को एक बेहतर स्थान के रूप में छोड़ कर जाएं। सागर में हर एक बूँद मायने रखती है। ♻ 🙏