🙏 जीवन में कुछ पाना है तो झुकना होगा, कुएं में उतरने वाली बाल्टी झुकती है, तब ही पानी लेकर आती है| 🙏
Homeआध्यात्मिक न्यूज़9 मंत्रों से जाने कैसे सही होंगी 9 ग्रहों की दशा

9 मंत्रों से जाने कैसे सही होंगी 9 ग्रहों की दशा

9 मंत्रों से जाने कैसे सही होंगी 9 ग्रहों की दशा

ग्रहों का व्यक्ति के जीवन पर काफी असर पड़ता है। कुंडली में अगर ग्रहों की दशा बेहतर हो तो इसका जीवन पर सकारात्मक प्रभाव पड़ता है। लेकिन ग्रहों की कमजोर स्थिति व्यक्ति के जीवन पर बुरा असर डाल सकती है। अगर किसी ग्रह के दोष की वजह से आपके जीवन में उलझनें पैदा हो रही हैं तो परेशान न हों। हम आपको ग्रह की दशा को मजबूत करने के मंत्र बता रहे हैं, जिनका जाप कर के आप ग्रहों की दशा को मजबूत कर सकेंगे।

 

सूर्य –

– सूर्य को मजबूत बनाए रखने और कृपा पाने के लिए प्रातः या दोपहर में सूर्य के मंत्र की एक माला जाप करें।

– मंत्र होगा- “ॐ आदित्याय नमः”

– मंत्र का जाप रुद्राक्ष या लाल चन्दन की माला से करें।

 

चन्द्रमा-

– चन्द्रमा की मजबूती के लिए रात्री को मोती या शंख की माला से चन्द्रमा के मंत्र का जाप करना चाहिए।

– मंत्र होगा – “ॐ सों सोमाय नमः”

– मंत्र जाप मोती या शंख की माला से करें।

 

मंगल-

– मंगल की मजबूती के लिए दोपहर या प्रातः काल मंगल के मंत्र का जाप करें।

– मंत्र होगा- “ॐ अं अंगारकाय नमः”

– मंत्र जाप मूंगे या लाल चंदन की माला से करें।

 

बुध-

– बुध को दुरुस्त करने के लिए प्रातःकाल बुध के मंत्र का जाप करें।

– मंत्र होगा – “ॐ बुं बुधाय नमः”

– मंत्र जाप हरे हक़ीक से रुद्राक्ष की माला से करें।

 

बृहस्पति-

– बृहस्पति की मजबूती के लिए प्रातः काल बृहस्पति के मंत्र का जाप करें।

– मंत्र होगा – “ॐ बृ बृहस्पतये नमः”

– मंत्र जाप हल्दी की या रुद्राक्ष की माला से करें।

 

शुक्र-

– शुक्र की मजबूती के लिए भोर में या रात्री में शुक्र के मंत्र का जाप करें।

– मंत्र होगा – “ॐ शुं शुक्राय नमः”

– मंत्र जाप स्फटिक की या सफ़ेद चन्दन की माला से करें।

 

शनि-

– शनि की समस्याओं से निपटने के लिए शनि मंत्र का जाप संध्या समय में करें।

– मंत्र होगा- “ॐ शं शनैश्चराय नमः”

– मंत्र जाप रुद्राक्ष की माला से करें।

 

राहु-

– राहु को नियंत्रित करने के लिए राहु के मंत्र का जाप रात्रि में करें।

– मंत्र है- “ॐ रां राहवे नमः”

– मंत्र जाप रुद्राक्ष की माला से करें।

 

केतु-

– केतु को नियंत्रित करने के लिए केतु के मन्त्र का जाप रात्रि में करें।

– मंत्र है- “ॐ कें केतवे नमः”

– मंत्र का जाप रुद्राक्ष की माला से करें।

 

तेजस्वनी पटेल, पत्रकार (+91 9340619119)

– तेजस्वनी पटेल, पत्रकार
(+91 9340619119)

 

FOLLOW US ON:
NO COMMENTS

LEAVE A COMMENT

🙏 ♻ प्रयास करें कि जब हम आये थे उसकी तुलना में पृथ्वी को एक बेहतर स्थान के रूप में छोड़ कर जाएं। सागर में हर एक बूँद मायने रखती है। ♻ 🙏