🙏 जीवन में कुछ पाना है तो झुकना होगा, कुएं में उतरने वाली बाल्टी झुकती है, तब ही पानी लेकर आती है| 🙏

वैद्य को उपदेश – साखी श्री गुरु नानक देव जी

वैद्य को उपदेश

श्री गुरु नानक देव जी को एकांत में लेटे देखकर माता तृप्ता कहने लगी – पुत्र! तुम बीमारो की तरह चुपचाप क्यों लेटे रहते हो? घर का कोई काम-काज दिल लगा कर किया करो|

“वैद्य को उपदेश – साखी श्री गुरु नानक देव जी” सुनने के लिए Play Button क्लिक करें | Listen Audio

खेती का कार्य अगर आपको पसंद नहीं तो व्यापार का काम कर लो, इससे मन भी लगा रहेगा| धन भी आएगा| कोई भला क्षत्रि आपको देखकर अपनी लड़की का रिश्ता दे देगा, आपका परिवार बन जाएगा| बेटा! तेरा रंग पीला, शरीर कमजोर व शिथिल हो गया है| अगर कोई रोग हो तो बता दो, मैं किसी वैद्य को बुलाकर इलाज करा देती हूं| गुरु जी शांत रहे|

माता जी ने गुरु जी को रोगी समझ कर वैद्य हरिदास जी को नब्ज दिखाई| वैद्य को रोग का पता नहीं लगा तो गुरु जी ने श्लोक उच्चारण किया| यह सुनकर वैद्य भी दंग रह गया| उसने अपने हाथ जोड़ लिए और कहने लगा – आप जी के वचन सुनकर मेरा अज्ञान समाप्त हो गया है| आप कृपा करके मेरे मन का रोग भी दूर कर दें| वैद्य की बिनती सुनकर गुरु जी ने कहा,

सत्संग किया करो, अहंकार को दूर करने की यह सबसे बड़ी औषधि है|
श्री गुरु नानक देव जी – जीवन परिचय

 

श्री गुरु नानक देव जी – ज्योति ज्योत समाना

Khalsa Store

Click the button below to view and buy over 4000 exciting ‘KHALSA’ products

4000+ Products

 

गुरु जी
NO COMMENTS

LEAVE A COMMENT

🙏 ♻ प्रयास करें कि जब हम आये थे उसकी तुलना में पृथ्वी को एक बेहतर स्थान के रूप में छोड़ कर जाएं। सागर में हर एक बूँद मायने रखती है। ♻ 🙏