🙏 सतनाम वाहे गुरु, गुरु पर्व की असीमित शुभकामनाएं... आप सभी पर वाहे गुरु की मेहर हो! 23 Nov 2018 🙏
Homeमंत्र संग्रहसूर्य देव की स्तुति व विधि

सूर्य देव की स्तुति व विधि

मंत्र क्या है? - What is mantra?

सूर्य देव की स्तुति व विधि इस प्रकार है|

आदित्यः प्रथमं नाम|
द्वितियं तु दिवाकरः||
तृतीय भास्कर प्रोक्तं|
चतुर्थ च प्रभाकरः||
पंचमं च सहस्त्रांशुः||
पष्ठं चैव त्रिलोचनः||
सप्तमं हरिदश्चश्चः|
अष्टमं च विभावसुः||
नवमं दिनकृत् प्रोक्तं|
दशमं द्वादशात्मकः||
एकादश त्रयीमूर्तिद्वार्दशं सूर्य एवं च|
द्वादशैतानि नामानि प्रातःकाले पठेन्नरः||
दुः स्वप्ननाशनं सद्यः सर्व सिद्धि प्रजापते||

सूर्य देव की स्तुति की विधि इस प्रकार है|

जो साधक प्रातःकाल इस स्तुति का सात बार जाप करता है| उसके बुरे स्वप्न अशुभता त्याग के सर्व प्रकार की सिद्धि प्रदान करते हैं|

Spiritual & Religious Store – Buy Online

Click the button below to view and buy over 700,000 exciting ‘Spiritual & Religious’ products

700,000+ Products
Munish Ahuja Founder SpiritualWorld.co.in

Munish Ahuja Founder SpiritualWorld.co.in

नम्र निवेदन: वेबसाइट को और बेहतर बनाने हेतु अपने कीमती सुझाव कॉमेंट बॉक्स में लिखें, यह आपको अच्छा लगा हो तो अपनें मित्रों के साथ अवश्य शेयर करें। धन्यवाद।
NO COMMENTS

LEAVE A COMMENT

🙏 सतनाम वाहे गुरु, गुरु पर्व की असीमित शुभकामनाएं... आप सभी पर वाहे गुरु की मेहर हो! 23 Nov 2018 🙏