Homeमंत्र संग्रहत्रैलोक्य मोहन गौरी मन्त्र व विधि

त्रैलोक्य मोहन गौरी मन्त्र व विधि

मंत्र क्या है? - What is mantra?

त्रैलोक्य मोहन गौरी मन्त्र व विधि इस प्रकार है|

ॐ ह्रीं नमो ब्रह्मश्रीराजते|
राजपूजाये जय विजय गौरि||
गाँधारी त्रिभुवनवंशकरी|
सर्वस्त्रीपुरुषवशंकरी||
सु सु दु दु घे घे वा वा ह्रीं स्वाहा||

त्रैलोक्य मोहन गौरी मन्त्र की विधि इस प्रकार है|

इस मन्त्र का नित्य 108 बार जप करने से त्रैलोक्य मोहन सिद्धि प्राप्त होती है|

Spiritual & Religious Store – Buy Online

Click the button below to view and buy over 700,000 exciting ‘Spiritual & Religious’ products

700,000+ Products
🙏 धर्म और आध्यात्म को जन-जन तक पहुँचाने में हमारा साथ दें| 🙏