🙏 जीवन में कुछ पाना है तो झुकना होगा, कुएं में उतरने वाली बाल्टी झुकती है, तब ही पानी लेकर आती है| 🙏
Homeघरेलू नुस्ख़ेखाद्य पदार्थों के स्वास्थ्य लाभचावल के 13 स्वास्थ्य लाभ – 13 Health Benefits of Rice

चावल के 13 स्वास्थ्य लाभ – 13 Health Benefits of Rice

चावल के 13 स्वास्थ्य लाभ - 13 Health Benefits of Rice

धान के बीज को चावल कहते हैं। चावल बहुत फायदेमंद चीज है बशर्ते की आप उसे अगर खेतों से सीधे खरीद लें मतलब राईस मिल में जाने से पहले ही खरीद ले क्योंकि राईस मिल में चावल को पॉलिश करने के चक्कर में चावल के बहुत से गुणों का नाश हो जाता है !

चावल के 13 औषधीय गुण इस प्रकार हैं:

1. यकृत

सूर्योदय से पहले उठकर, मुंह साफ करके एक चुटकी कच्चे चावल मुंह में रखकर पानी से निकल जाएं| यह क्रिया यकृत को मजबूत करने के लिये बड़ी अच्छी है| जिन लोगों ने इस प्रकार चावल लिए हैं| उन्हें लाभ हुआ है|


2. पेट की गर्मी

पेट की गर्मी दूर करने हेतु एक भाग चावल दो, भाग मूंग की दाल मिला कर खिचड़ी बनाकर घी डाल कर खाएं|


3. रक्त प्रदर

एक गिलास चावल के धोबन में मिश्री मिलाकर पीने से लाभ होता है|


4. मूत्र रोग

पेशाब में जलन, रुकावट हो तो आधा गिलास चावल के मांड में चीनी मिलाकर पिलाने से जलन और रुकावट दूर हो जाएगी|


5. दस्त, पेचिश

चावल अतिसार या पेचिश के रोगियों के लिए उत्तम खाद्य पदार्थ है| सफेद चावलों को पानी में भिगोकर उस पानी से चेहरे को धोने से चेहरे की झाई मिटकर रंग साफ हो जाता है|


6. दस्त

चावल बनाने के पश्चात् इसका उबला हुआ पानी जिसे मांड कहते हैं, फेंक देते हैं| यह दस्तों के लिए लाभदायक हैं| बच्चों को आधा कप, बड़ों को एक प्रति घंटे से पिलाने से दस्त बन्द हो जाते हैं| छोटे शिशुओं को अल्प-मात्रा में पिला सकते हैं| इस मांड में जरा-सा नमक स्वाद के अनुसार मिलाने से मांड स्वादिष्ट, पौष्टिक और सुपाच्य हो जाता है| नमक मिला कर दस्तों में भी पी सकते हैं| मांड को छ: घंटे से अधिक पड़ा न रखें| इससे अधिक समय तक रखने से यह बदबू देने लगता है| मांड बनाने की सरल, विधि यह है कि सौ ग्राम चावल आटे की तरह पीस लें| इसे एक लीटर पानी में उबालें| भली प्रकार उबालने के पश्चात् इसे छान कर स्वादानुसार नमक मिला लें| इसे ऊपर बताये ढंग से पिएं| दस्तों में भी इसे लाभकारी पाएंगे|


7. गर्मी नाशक

चावल की प्रकृति शीतल हैं| पेट में गर्मी भरी होने पर एवं गर्मी के मौसम में नित्य चावल खाने से ठंडक मिलती है|


8. उल्टी

(गर्भावस्था की कै) 50 ग्राम चावल 250 ग्राम पानी में भिगो दें| आधे घंटे भीगने के बाद 5 ग्राम धनिया भी डाल दें| 1 मिनट बाद मलकर छान लें| चार बार में इसे चार हिस्से करके पिलाएं| गर्भिणी की कै तत्काल बन्द हो जाएगी|


9. नशापान

भांग का नशा चावलों की धोबन पीने से उतरता है|


10. कब्ज

एक भाग चावल दो भाग मूंग की दाल की खिचड़ी में घी मिलाकर खाने से कब्ज दूर होता है|


11. फोड़ा

पिसे हुई चावलों की पुल्टिस सरसों के तेल में बना कर बांधने से फोड़ा फूट जाता है एवं पीव (Pus) निकल जाती है|


12. रक्तचाप

लम्बे समय तक चावल खाते रहने से कोलेस्ट्रोल कम हो जाता है, बढ़ता नहीं है| रक्तचाप भी ठीक रहता है|


13. चावल से हानि

जिन लोगों के गुर्दे और मसाले में पथरी का रोग हो उनके लिए चावल बहुत हानिकारक पदार्थ है|

NOTE: इलाज के किसी भी तरीके से पहले, पाठक को अपने चिकित्सक या अन्य स्वास्थ्य देखभाल प्रदाता की सलाह लेनी चाहिए।

Consult Dr. Veerendra Aryavrat - +91-9254092245 (Recommended by SpiritualWorld)
Consult Dr. Veerendra Aryavrat +91-9254092245
(Recommended by SpiritualWorld)

Health, Wellness & Personal Care Store – Buy Online

Click the button below to view and buy over 50000 exciting ‘Wellness & Personal Care’ products

50000+ Products
NO COMMENTS

LEAVE A COMMENT

🙏 ♻ प्रयास करें कि जब हम आये थे उसकी तुलना में पृथ्वी को एक बेहतर स्थान के रूप में छोड़ कर जाएं। सागर में हर एक बूँद मायने रखती है। ♻ 🙏