Homeशिक्षाप्रद कथाएँगधे ही आम नहीं खाते (बादशाह अकबर और बीरबल)

गधे ही आम नहीं खाते (बादशाह अकबर और बीरबल)

बादशाह अकबर को यह मालूम था कि आम बीरबल का प्रिय फल है| एक दिन जब वह सरोवर में नहा रहे थे तो उन्होंने बीरबल पर व्यंग्य करते हुए कहा – “बीरबल, तुम्हें मालूम है कि गधे आम नहीं खाते और ऐसे फल को तुम पसंद करते हो|”

“गधे ही आम नहीं खाते” सुनने के लिए Play Button क्लिक करें | Listen Audio

बीरबल ने नहले पे दहला मारा – “जी हां, हुजूर, गधे ही आम नहीं खाते|”

उत्तर सुन बादशाह अकबर झेंपकर रह गए|

दुख का क
🙏 धर्म और आध्यात्म को जन-जन तक पहुँचाने में हमारा साथ दें| 🙏