🙏 जीवन में कुछ पाना है तो झुकना होगा, कुएं में उतरने वाली बाल्टी झुकती है, तब ही पानी लेकर आती है| 🙏
Homeशिक्षाप्रद कथाएँभगवान महावीर का निर्वाण दिवस

भगवान महावीर का निर्वाण दिवस

भगवान महावीर का निर्वाण दिवस

दीपावली भगवान महावीर की पुण्यतिथि भी है। उनका जन्म भारत के बिहार के प्रांत के एक राजवंश में करीब ढाई हज़ार वर्ष पूर्व हुआ था। भारत की सामाजिक और धार्मिक दुर्व्यवस्था को देखकर इनके ह्रदय में अपार दुःख होता था।

“भगवान महावीर का निर्वाण दिवस” सुनने के लिए Play Button क्लिक करें | Listen Audio

दुःखित प्राणियों के उद्धार की चिंता इनके मन में हर समय रहती।

तीस वर्ष की अवस्था में अपने कुटुंब-परिवार से नेह-नाता तोड़कर तथा अपने अतुलित राजवैभव को परित्याग करके उन्होंने दीक्षा ग्रहण कर ली। बंधन मुक्त होकर कई वर्षों के कठोर तप से उन्हें अनेक सिद्धियाँ प्राप्त हुईं। वे वीतराग और सर्वज्ञ हो गए। अब इन्होंने जगत को उपदेश देना आरंभ किया। अहिंसा और सत्य का प्रचंड प्रचार किया। सामाजिक और धार्मिक सुधार का घोर आंदोलन किया जिससे रूढ़ियों और कुरीतियों का विध्वंस हुआ। अंततः बहत्तर वर्ष की अवस्था में कार्तिक कृष्णा अमावस्या को पावापुरी में इनका निर्वाण (मोक्ष) हुआ।

NO COMMENTS

LEAVE A COMMENT

🙏 ♻ प्रयास करें कि जब हम आये थे उसकी तुलना में पृथ्वी को एक बेहतर स्थान के रूप में छोड़ कर जाएं। सागर में हर एक बूँद मायने रखती है। ♻ 🙏