🙏 जीवन में कुछ पाना है तो झुकना होगा, कुएं में उतरने वाली बाल्टी झुकती है, तब ही पानी लेकर आती है| 🙏
Homeशिक्षाप्रद कथाएँबादशाह के आम (बादशाह अकबर और बीरबल)

बादशाह के आम (बादशाह अकबर और बीरबल)

बादशाह अकबर, उनकी बेगम तथा बीरबल तीनों बाग में बैठे आम खा रहे थे| बादशाह अकबर को मजाक सूझा और वे आम खाकर उसके छिलके व गुठलियां बेगम की तरफ फेंकने लगे|

“बादशाह के आम” सुनने के लिए Play Button क्लिक करें | Listen Audio

आम खा लेने के बाद बादशाह अकबर ने कहा – “मैंने तो एक-दो आम ही खाए किन्तु बेगम ने तो बहुत आम खा लिए, देखो कितने छिलके और गुठलियां उसके सामने पड़े हैं|”

बेगम शर्म के कारण चुप रही किन्तु बीरबल से न रहा गया और बोला – “हुजूर, आम तो हम सभी ने उतने ही खाए हैं, पर आप तो छिलके और गुठलियां समेत ही खा गए| तभी तो आपके आगे छिलके और गुठलियां नहीं हैं|”

बादशाह अकबर जानते थे कि बीरबल कोई-न-कोई जवाब जरूर देगा, इसलिए वे बुरा नहीं माने बल्कि हंस दिए|

NO COMMENTS

LEAVE A COMMENT

🙏 ♻ प्रयास करें कि जब हम आये थे उसकी तुलना में पृथ्वी को एक बेहतर स्थान के रूप में छोड़ कर जाएं। सागर में हर एक बूँद मायने रखती है। ♻ 🙏