🙏 जीवन में कुछ पाना है तो झुकना होगा, कुएं में उतरने वाली बाल्टी झुकती है, तब ही पानी लेकर आती है| 🙏

Homeशिक्षाप्रद कथाएँजैसी मां वैसी संतान – शिक्षाप्रद कथा

जैसी मां वैसी संतान – शिक्षाप्रद कथा

जैसी मां वैसी संतान - शिक्षाप्रद कथा

एक मादा केकड़े ने अपने बेटे को तिरछा चलता देखकर कहा – “बेटे! तुम इस प्रकार तिरछे चलते समय बिलकुल मुर्ख नजर आते हो| अरे अपनी सीध में क्यों नहीं चलते?”

“मां!” केकड़े का बच्चा बोला – “कैसे चलूं? तुम पहले अपनी सीध में चल कर तो दिखाओ| जैसे तुम चलोगी, मैं भी वैसा ही करूंगा| मुझसे कहने से पहले तुम्हें खुद उस चाल का उदाहरण देना चाहिए|”

शिक्षा: दूसरों की कमियां देखने से पहले अपने आपको देखो|

 

Spiritual & Religious Store – Buy Online

Click the button below to view and buy over 700,000 exciting ‘Spiritual & Religious’ products

700,000+ Products
पीठ पर घ

🙏 ♻ प्रयास करें कि जब हम आये थे उसकी तुलना में पृथ्वी को एक बेहतर स्थान के रूप में छोड़ कर जाएं। सागर में हर एक बूँद मायने रखती है। ♻ 🙏