🙏 धर्म और आध्यात्म को जन-जन तक पहुँचाने में हमारा साथ दें| 🙏
Homeआध्यात्मिक न्यूज़वाद-विवाद, कार्टून मेकिंग, माडल मेकिंग एवं भाषण आदि प्रतियोगिताओं द्वारा वाणिज्यिक ज्ञान का भरपूर प्रदर्शन किया देश-विदेश के प्रतिभागी छात्रों ने

वाद-विवाद, कार्टून मेकिंग, माडल मेकिंग एवं भाषण आदि प्रतियोगिताओं द्वारा वाणिज्यिक ज्ञान का भरपूर प्रदर्शन किया देश-विदेश के प्रतिभागी छात्रों ने

वाद-विवाद, कार्टून मेकिंग, माडल मेकिंग एवं भाषण आदि प्रतियोगिताओं द्वारा वाणिज्यिक ज्ञान का भरपूर प्रदर्शन किया देश-विदेश के प्रतिभागी छात्रों ने

लखनऊ, 2 नवम्बर। सिटी मोन्टेसरी स्कूल, स्टेशन रोड कैम्पस द्वारा सी.एम.एस. कानपुर रोड आॅडिटोरियम में आयोजित चार दिवसीय अन्तर्राष्ट्रीय कामर्स एवं इकोनाॅमिक सम्मेलन ‘आई.वाई.सी.सी.ई.-2019’ के दूसरे दिन श्रीलंका, यू.ए.ई. एवं देश के विभिन्न प्रान्तों से पधारे बाल अर्थशास्त्रियों ने अपने ज्ञान-विज्ञान का जोरदार प्रदर्शन किया। जहाँ एक ओर प्रतिभागी छात्रों ने वाद-विवाद, कार्टून मेकिंग, माडल मेकिंग, भाषण आदि विभिन्न प्रतियोगिताओं में अपने ज्ञान-विज्ञान का लोहा मनवाया तो वहीं दूसरी ओर प्रबुद्ध हस्तियों के सारगर्भित विचारों ने गागर में सागर उड़ेलकर रख दिया। प्रतिभागी छात्रों में विभिन्न प्रतियोगिताओं में प्रतिभाग हेतु होड़ लगी रही जबकि देश-विदेश के छात्रों को लखनऊ की संस्कृति व सभ्यता से अवगत कराने में यह सम्मेलन महत्वपूर्ण साबित हो रहा है।

सम्मेलन के दूसरे दिन का शुभारम्भ कार्यक्रम के सचिव श्री जयंत मालवीय द्वारा ‘एसेन्स आॅफ आई.वाई.सी.सी.ई.’ विषय पर सारगर्भित उद्बोधन से हुआ। इस अवसर पर श्री जयंत मालवीय ने कहा कि सम्मेलन का मुख्य उद्देश्य यह है कि छात्रों को आर्थिक विकास एवं सामूहिक सामाजिक जिम्मेदारी से अवगत कराया जाए, जिससे वे विश्व समाज के विकास में रचनात्मक भागीदारी निभा सकें। सम्मेलन में मुख्य वक्ता के रूप में पधारे श्री जयन्त कृष्णा, चीफ आॅपरेटिंग आॅफीसर, नेशनल स्किल डेवलपमेन्ट कार्पोरेशन, ने अपने संबोधन में कहा कि मानव संसाधन में बढ़ोत्तरी करके तथा अच्छे मैनेजर की उपलब्धता से बुलन्दियों तक पहुँचा जा सकता है। इसके अलावा, सामाजिक कार्यकर्ता सुश्री माधवी कुकरेजा एवं एडीशनल एडवोकेट जनरल, हाईकोर्ट, श्रीमती बुलबुल गोडियाल ने भी अपने विचार व्यक्त किये।

वाद-विवाद, कार्टून मेकिंग, माडल मेकिंग एवं भाषण आदि प्रतियोगिताओं द्वारा वाणिज्यिक ज्ञान का भरपूर प्रदर्शन किया देश-विदेश के प्रतिभागी छात्रों ने

वाद-विवाद, कार्टून मेकिंग, माडल मेकिंग एवं भाषण आदि प्रतियोगिताओं द्वारा वाणिज्यिक ज्ञान का भरपूर प्रदर्शन किया देश-विदेश के प्रतिभागी छात्रों ने

आई.वाई.सी.सी.ई.-2019 के अन्तर्गत प्रतियोगिताओं का सिलसिला बुल वर्सेज बियर (वाद-विवाद प्रतियोगिता) से प्रारम्भ हुआ जिसका विषय था ‘डेमोक्रेसी हैज हैम्पर्ड इकोनाॅमिक प्रोग्रेस’। प्रतियोगिता का संचालन प्रख्यात क्विज मास्टर श्री सुभाष बिसारिया ने किया जबकि प्रतिभागी छात्रों ने विषय के पक्ष व विपक्ष में बोलते हुए सारगर्भित एवं तथ्य परक विचारों से सभी को गद्गद् कर दिया। डा. अमृतलाल इशरत मेमोरियल सनबीम स्कूल, वाराणसी के लाडली सिंघानिया ने विषय के पक्ष में बोलते हुए कहा कि आजादी के 72 वर्ष बीत जाने के बाद भी हम विकासशील देश ही हैं। भारत में चुनाव का खर्च सफेद हाथी पालने के समान है। विषय के विपक्ष में बोलते हुए भारती विद्या भवन्स प्रिज्म स्कूल, सतना, मध्य प्रदेश की छात्रा पायल राय ने कहा कि प्रजातान्त्रिक व्यवस्था को आर्थिक विकास में रूकावट नहीं माना जा सकता है अपितु भारत में विजातीय आबादी के कारण यहाँ सस्टेनबल डेवलपमेन्ट होता है जिससे आर्थिक विकास में सहायता मिलती है। इसी प्रकार अन्य प्रतिभागियों ने अपने रोचक व सारगर्भित विचारों से दर्शकों को मंत्रमुग्ध कर दिया।

‘फिनटून्स’ फाइनेन्शियल कार्टून प्रतियोगिता भी आज के सर्वाधिक आकर्षण में एक थी जिसमें देश-विदेश के प्रतिभागी छात्रों ने एक से बढ़कर एक कार्टून बनाकर विश्व समाज में व्याप्त आर्थिक असमानता को उजागर किया। इस प्रतियोगिता में देश-विदेश के प्रतिभागी छात्रों की आर्थिक समझ, सृजनात्मकता, कलात्मकता व प्रस्तुतिकरण देखते ही बनता था। यह प्रतियोगिता ‘सोशल इम्पैक्अ आॅन इकोनाॅमिक क्राइसिस’ विषय पर सम्पन्न हुई।

अपरान्हः सत्र में आयोजित इण्टरप्रिन्योर एक्सप्रेशन (कार्पोरेट भाषण) प्रतियोगिता को भी दर्शकों की खूब प्रशंसा प्राप्त हुई तथापि छात्रों की जोशीली एवं सारगर्भित अभिव्यक्ति पर खचाखच भरा आॅडिटोरियम कई बार तालियों से गूंज उठा। जूनियर वर्ग के छात्रों की इस प्रतियोगिता में प्रतिभागी छात्र टीमों को कुछ प्रमुख हस्तियों के भाषण के कुछ अंश सुनाने थे जिसमें छात्रों ने अपनी जोरदार प्रस्तुति से यह साबित कर दिया कि अर्थशास्त्र जैसे गूढ़ विषय को उन्होंने गहराई से पढ़ा और समझा है। मजेदार बात यह रही कि इन प्रतिभागी छात्रों ने प्रख्यात हस्तियों के भाषण को उन्हीं जैसे अंदाज व वेशभूषा में सुसज्जित होकर प्रस्तुत किया, जिसे दर्शकों ने खूब पसंद किया। साई-टूल्स ‘साइंटिफिक माॅडल प्रतियोगिता’ भी आज के प्रमुख आकर्षणों में एक थी। इस प्रतियोगिता में देश-विदेश की कई छात्र टीमों ने अपने हुनर व कला-कौशल से लोगों को दांतो तले उंगलिया दबानें पर मजबूर कर दिया। जूनियर वर्ग के छात्रों के लिए आयोजित इस प्रतियोगिता में प्रतिभागी छात्रों ने एक से बढ़कर एक साइंटिफिक माडल प्रस्तुत किए एवं इन माडलों के माध्यम से सामाजिक विकास की अपनी सोच को उजागर किया। इसके अलावा, बिज क्विज (बिजनेस क्विज) प्रतियोगिता एवं काम डाट नेट प्रतियोगिता का लिखित राउण्ड भी आज सम्पन्न हुआ।

प्रतियोगिताओं के अलावा आज सायंकालीन सत्र में देश-विदेश से पधारे छात्रों व टीम लीडरों के सम्मान रात्रिभोज एवं साँस्कृतिक संध्या का विशेष आयोजन सी.एम.एस. गोमती नगर (द्वितीय कैम्पस) आॅडिटोरियम में किया गया। इस अवसर पर देश-विदेश से पधारे प्रतिभागी छात्रों ने रंगारंग शिक्षात्मक-साँस्कृतिक कार्यक्रमों की इन्द्रधनुषी छटा बिखेरकर सभी को मंत्रमुग्ध कर दिया।

सी.एम.एस. के मुख्य जन-सम्पर्क अधिकारी श्री हरि ओम शर्मा ने बताया कि 1 से 4 नवम्बर तक आयोजित हो रहे ‘आई.वाई.सी.सी.ई.-2019’ में श्रीलंका, यू.ए.ई. व देश के विभिन्न राज्यों से पधारे 500 से अधिक छात्र प्रतिभाग कर रहे हैं। सम्मेलन के तीसरे दिन कल, 3 नवम्बर को देश-विदेश से पधारे छात्र एड-वेन्चर (विज्ञापन प्रचार), साउंड आॅफ साइलेन्स (कोरियोग्राफी), कार्पोरेट कान्शस (मल्टीमीडिया प्रजेन्टेशन), बी-प्लान (सृजनात्मक विचार) आदि प्रतियोगिताओं में अपने ज्ञान का प्रदर्शन करेंगे। इसके अलावा, प्रबुद्ध हस्तियों के सारगर्भित अभिभाषण होंगे तथापि देश-विदेश से पधारे प्रतिभागी छात्र वृक्षारोपण कर हरी-भरी धरती व स्वच्छ पर्यावरण का संदेश देंगे।

(हरि ओम शर्मा)
मुख्य जन-सम्पर्क अधिकारी
सिटी मोन्टेसरी स्कूल, लखनऊ

FOLLOW US ON:
सी.एम.एस
🙏 धर्म और आध्यात्म को जन-जन तक पहुँचाने में हमारा साथ दें| 🙏