Homeआध्यात्मिक न्यूज़माताओं के ऊपर बच्चों को विश्व नागरिक बनाने की जिम्मेदारी

माताओं के ऊपर बच्चों को विश्व नागरिक बनाने की जिम्मेदारी

माताओं के ऊपर बच्चों को विश्व नागरिक बनाने की जिम्मेदारी

लखनऊ, 3 नवम्बर। सिटी मोन्टेसरी स्कूल, गोमती नगर आॅडिटोरियम में आयोजित विश्व एकता सत्संग में बोलते हुए बहाई धर्मानुयायी, प्रख्यात शिक्षाविद् व सी.एम.एस. संस्थापिका-निदेशिका डा. (श्रीमती) भारती गाँधी ने कहा कि माताओं व बहनों ऊपर ही बच्चों को विश्व नागरिक बनाने की महती जिम्मेदारी है। यह हमें संसार से युद्धों का अन्त करना है तो माताओं को आगे आकर अपने बच्चों को विश्व नागरिक बनाने की जिम्मेदारी निभानी होगी और बच्चों के मन-मस्तिष्क में प्रारम्भ से ही विश्व बन्धुत्व व विश्व एकता के बीज बोने होंगे, साथ ही उनहें प्रेम, शान्ति, सहिष्णुता, एकता, सद्भाव एवं भाईचारे के बातें सिखानी होंगी। डा. गाँधी ने जोर देते हुए कहा कि सी.एम.एस. के विश्व एकता मिशन में छात्रों की माताओं को विशेष सहयोग एवं योगदान रहता है, अतः हम उनके आभारी हैं। इससे पहले, सी.एम.एस. शिक्षकों द्वारा प्रस्तुत सुमधुर भजनों से विश्व एकता सत्संग का शुभारम्भ हुआ, जिन्होंने बहुत ही सुमधुर भजन सुनाकर सम्पूर्ण वातावरण को आध्यात्मिक उल्लास से सराबोर कर दिया।

विश्व एकता सत्संग में आज सी.एम.एस. गोमती नगर (द्वितीय कैम्पस) के छात्रों ने रंगारंग शिक्षात्मक-साँस्कृतिक कार्यक्रमों की इन्द्रधनुषी छटा प्रदर्शित कर उपस्थित सत्संग प्रेमियों को गद्गद कर दिया। कार्यक्रम का शुभारम्भ स्वागत गान ‘लिटिल हार्ट वेलकम यू टुडे’ से हुआ एवं इसके उपरान्त छात्रों ने प्रार्थना, गीतों, भजनों द्वारा आध्यात्मिक उल्लास प्रवाहित किया। छात्रों द्वारा प्रस्तुत गीत ‘बादल पे पाँव है या छूटा गाँव है’ को सभी ने खूब सराहा तो वहीं दूसरी ओर छात्रों की माताओं ने समूह गान की प्रस्तुति से खूब तालियां बटोरी। इस अवसर पर विभिन्न धर्मावलम्बियों ने अपने सारगर्भित विचारों से एकता, शान्ति व सद्भाव स्थापित करने की आवश्यकता पर जोर देते हुए बच्चों के सर्वांगीण विकास का आहवान किया। सत्संग का समापन संयोजिका श्रीमती वंदना गौड़ द्वारा धन्यवाद ज्ञापन से हुआ।

(हरि ओम शर्मा)
मुख्य जन-सम्पर्क अधिकारी
सिटी मोन्टेसरी स्कूल, लखनऊ

FOLLOW US ON:
सी.एम.एस
सी.एम.एस
Rate This Article: