🙏 ♻ प्रयास करें कि जब हम आये थे उसकी तुलना में पृथ्वी को एक बेहतर स्थान के रूप में छोड़ कर जाएं। सागर में हर एक बूँद मायने रखती है। ♻ 🙏
Homeश्रावण मास माहात्म्यश्रावण मास माहात्म्य – सर्व कामना सिद्धि साधना

श्रावण मास माहात्म्य – सर्व कामना सिद्धि साधना

श्रावण मास माहात्म्य

साधना सामग्री : सिद्धि चक्र, सर्वकार्य सिद्धि कल्प, रुद्राक्ष माला|
यदि आप पारिवारिक कलह, घर में पितृ दोष से परेशान है| और चाहते हैं कि गृहस्थ में पूर्ण अनुकूलता, लक्ष्मी का घर में स्थपित, ऋण से मुक्ति, निरंतर आर्थिक उन्नति, बेरोजगारी दूर हो श्रावण के सोमवार के प्रयोग से नहीं चूकना चाहिए| इसे स्त्री-पुरुष कोई भी कर सकता है|

विधि

सर्वप्रथम स्नान कर शुद्ध धोती/साड़ी या वस्त्र पहनकर पूर्व की ओर मुंह कर बैठे| अब अपने सामने बाजोट पर एक पात्र स्थापित करें व उससे सिद्धिप्रद चक्र, सर्वकार्य सिद्धि कल्प स्थापित करें| रुद्राक्ष माला भी साथ ही रखें|

अब अपने हाथ में थोड़ा सा जल लेकर अपनी मनोकामना पूर्ति हेतु सकंल्प करें| मैं (अपना नाम, पिता का नाम, विवाहित स्त्रियां अपने पति का नाम लें, गौत्र व शहर का नाम बोलकर) अपने गुरु व इष्ट का ध्यान करते हुए अपनी समस्त कामनाओं की पूर्ति हेतु श्रावण मास साधना सम्पन्न कर रहा हूं| भगवान शिव मेरा पूजन सफल करें|

यह बोलकर जल छोड़ दें| फिर शुद्ध जल में थोड़ा-सा कच्चा दूध और गंगाजल मिलाकर ‘ॐ नमः शिवाय’ मंत्र का उच्चारण करते हुए सामग्री पर छिड़कें| अब यंत्र एवं सिद्धि चक्र पर केसर और कुमकुम की बिंदी लगाएं और पुष्प फल, बिल्व पत्र इत्यादि अर्पण करें| अबीर, गुलाल, अक्षता इत्यादि से सुसज्जित करें|

मंत्र

पंच तात्वाय पूर्ण कार्य सिद्धिं देहि देहि सदाशिवाय नमः||

प्रत्येक सोमवार उपरोक्त मंत्र की 3 माला जपें| जाप के पश्चात सामग्री यों ही पूजा स्थान पर पात्र में रखी रहने दें| नित्य सुबह-सुबह दीप प्रज्जवलित करें| श्रावण मास के अंतिम दिन इस सामग्री को लाल वस्त्र में लपेटकर किसी शिव मंदिर में जाकर शिव चरणों में अर्पित कर दें| इस प्रकार साधक शीघ्र ही मनोवांछित सफलता प्राप्त करने में सफल हो पाता है|

Munish Ahuja Founder SpiritualWorld.co.in

Munish Ahuja Founder SpiritualWorld.co.in

नम्र निवेदन: वेबसाइट को और बेहतर बनाने हेतु अपने कीमती सुझाव कॉमेंट बॉक्स में लिखें, यह आपको अच्छा लगा हो तो अपनें मित्रों के साथ अवश्य शेयर करें। धन्यवाद।
NO COMMENTS

LEAVE A COMMENT

🙏 ♻ प्रयास करें कि जब हम आये थे उसकी तुलना में पृथ्वी को एक बेहतर स्थान के रूप में छोड़ कर जाएं। सागर में हर एक बूँद मायने रखती है। ♻ 🙏