🙏 जीवन में कुछ पाना है तो झुकना होगा, कुएं में उतरने वाली बाल्टी झुकती है, तब ही पानी लेकर आती है| 🙏
Homeहिन्दू व्रत, विधि व कथाराधाष्टमी व्रत – Radhashtmi Vrat

राधाष्टमी व्रत – Radhashtmi Vrat

भाद्रपद माह की शुक्ल पक्ष को अष्टमी को कृष्ण प्रिया राधा जी का जन्म हुआ था| इसलिए यह दिन राधाष्टमी के रूप में मनाया जाता है| 

“राधाष्टमी व्रत” सुनने के लिए Play Button क्लिक करें | Audio Radhashtmi Vrat

विधि:

इस दिन राधा-कृष्ण की पूजा करनी चाहिए| राधा जी को पंचामृत से स्नान कराकर उनका श्रंगार करें, भोग लगवाए फिर धूप, दीप, फूल आदि से आरती उतारें|

आरती श्री राधा जी की:

आरती राधा जी की कीजै | टेक
कृष्ण संग जो कर निवासा, कृष्ण करे जिन पर विश्वासा |

आरति वृषभानु लली की कीजै | आरती…
कृष्णचन्द्र की करी सहाई मुँह में आनि रूप दिखाई |

उस शक्ति की आरती कीजै | आरती…
नन्द पुत्र से प्रीति बढ़ाई, यमुना तट पर रास रचाई |

आरती रास रसाई की कीजै | आरती…
प्रेम राह जिनसे बतलाई, निर्गुण भक्ति नहीं अपनाई |

आरती राधा जी की कीजै | आरती…
दुनिया की जो रक्षा करती, भक्तजनों के दुख सब हरती |

आरती दुःख हरणी जी की कीजै | आरती…
दुनिया की जो जननी कहावे, निज पुत्रों की धीर बंधावे |

आरती जगत माता की कीजै | आरती…
निज पुत्रों के काज संवारे, रनवीरा के कष्ट निवारे |

आरती विश्वमाता की कीजै | आरती…

Spiritual & Religious Store – Buy Online

Click the button below to view and buy over 700,000 exciting ‘Spiritual & Religious’ products

700,000+ Products
NO COMMENTS

LEAVE A COMMENT

🙏 ♻ प्रयास करें कि जब हम आये थे उसकी तुलना में पृथ्वी को एक बेहतर स्थान के रूप में छोड़ कर जाएं। सागर में हर एक बूँद मायने रखती है। ♻ 🙏