🙏 जीवन में कुछ पाना है तो झुकना होगा, कुएं में उतरने वाली बाल्टी झुकती है, तब ही पानी लेकर आती है| 🙏
Homeहिन्दू व्रत, विधि व कथाअहोई का अहोकाष्टमी का व्रत – Ahoi Ka Ahokashtmi Ka Vrat

अहोई का अहोकाष्टमी का व्रत – Ahoi Ka Ahokashtmi Ka Vrat

यह व्रत प्रायः कार्तिक बदी अष्टमी को उसी वार को किया जाता है| जिस वार की दीपावली होती है| इस दिन स्त्रियों की आरोग्यता और दीर्घायु प्राप्ति के लिए अहोई माता का चित्र दिवार पर माँड कर पूजन किया जाता है|

“अहोई का अहोकाष्टमी का व्रत” सुनने के लिए Play Button क्लिक करें | Audio Ahoi Ka Ahokashtmi Ka Vrat

विधि:

अहोई का व्रत दिन भर किया जाता है| जिस समय तारामण्डल आकाश में उदय हो जये उस समय वहाँ पर एक जल का लोटा रखकर चाँदी की स्याऊ और दो गुडिया रखकर मौली नाल में पिरो ले| तत्पश्चात रोली-चावल से अहोई माता के सहित स्याऊ माता का अरचे और सीरा आदि का भोग लगाकर कहानी सुने|

Spiritual & Religious Store – Buy Online

Click the button below to view and buy over 700,000 exciting ‘Spiritual & Religious’ products

700,000+ Products
NO COMMENTS

LEAVE A COMMENT

🙏 ♻ प्रयास करें कि जब हम आये थे उसकी तुलना में पृथ्वी को एक बेहतर स्थान के रूप में छोड़ कर जाएं। सागर में हर एक बूँद मायने रखती है। ♻ 🙏