🙏 धर्म और आध्यात्म को जन-जन तक पहुँचाने में हमारा साथ दें| 🙏
Homeभजन संग्रहमीरा बाई जी के भजनदरस बिन दूखण लागे नैन

दरस बिन दूखण लागे नैन

भजन - मीरा बाई जी - दरस बिन दूखण लागे नैन

दरस बिन दूखण लागे नैन।

जबसे तुम बिछुड़े प्रभु मोरे कबहुं न पायो चैन।

सबद सुणत मेरी छतियां कांपै मीठे लागै बैन।

बिरह व्यथा कांसू कहूं सजनी बह ग करवत ऐन।

कल न परत पल हरि मग जोवत भ छमासी रैन।

मीरा के प्रभु कब रे मिलोगे दुख मेटण सुख देन।

 

Spiritual & Religious Store – Buy Online

Click the button below to view and buy over 700,000 exciting ‘Spiritual & Religious’ products

700,000+ Products

 

🙏 धर्म और आध्यात्म को जन-जन तक पहुँचाने में हमारा साथ दें| 🙏