🙏 जीवन में कुछ पाना है तो झुकना होगा, कुएं में उतरने वाली बाल्टी झुकती है, तब ही पानी लेकर आती है| 🙏
Homeआध्यात्मिक न्यूज़उदार मनुष्यों के लिए पूरा विश्व ही एक परिवार है

उदार मनुष्यों के लिए पूरा विश्व ही एक परिवार है

उदार मनुष्यों के लिए पूरा विश्व ही एक परिवार है

लखनऊ, 7 जुलाई। सिटी मोन्टेसरी स्कूल, गोमती नगर ऑडिटोरियम में आयोजित ‘विश्व-एकता सत्संग’ में बोलते हुए प्रख्यात शिक्षाविद्, सी.एम.एस. की संस्थापिका-निदेशिका एवं बहाई अनुयायी डा. भारती गाँधी ने कहा कि उदार व अच्छे विचारशील लोगों के लिए पूरा विश्व ही एक परिवार के समान है। हमें सारे विश्व को अच्छा बनाना है। सी.एम.एस. अपने छात्रों को जय जगत एवं वसुधैव कुटम्बकम की शिक्षा देता है। ये छात्र बड़े होकर उच्च पदों पर पहुँचते हैं और दुनिया से भेदभाव मिटाने का प्रयास करते हैं। डा. भारती गाँधी ने कहा कि ज्ञान से ही हमें जीत मिल सकती है। वैश्विक शिक्षा के माध्यम से बच्चों को उदार बनाया जाता है क्योंकि उदारता मनुष्यों के मन से अपने पराये का भेदभाव मिटा देती है और उनके लिए सम्पूर्ण वसुधा ही एक परिवार है।

विश्व एकता सत्संग में आज सी.एम.एस. जॉपलिंग रोड कैम्पस के छात्रों ने शिक्षात्मक-आध्यात्मिक कार्यक्रमों की प्रस्तुति द्वारा सबको बाँधे रखा। स्वागत भाषण के बाद छात्रों ने स्कूल प्रार्थना प्रस्तुत की। प्रार्थना गीत ‘ओ व्हाट ए वण्डरफुल डे’ एवं ‘गॉड इज गुड’ के प्रस्तुतिकरण ने सभी को मंत्रमुग्ध कर दिया। कबीर के दोहे की शानदार प्रस्तुतियों ने भी खूब तालियां बटोरी। इस अवसर पर छात्रों ‘वीरों की ये बात है’ प्रस्तुत किया जबकि छात्रों की माताओं ने भी सुमधुर गीत ‘जैसा सोचोगे तुम, वैसे ही बन जाओगे’ प्रस्तुत कर खूब वाहवाही लूटी। इस अवसर पर विभिन्न धर्मावलम्बियों ने भी सारगर्भित विचार रखे। श्री वीर विक्रम बहादुर मिश्र ने अपने संबोधन में कहा कि यदि बच्चे गुरू व परमेश्वर के प्रिय हैं तो वे जरूर महान बनेंगे। सत्संग का समापन संयोजिका श्रीमती वंदना गौड़ द्वारा धन्यवाद ज्ञापन से हुआ।

(हरि ओम शर्मा)
मुख्य जन-सम्पर्क अधिकारी
सिटी मोन्टेसरी स्कूल, लखनऊ

FOLLOW US ON:
NO COMMENTS

LEAVE A COMMENT

🙏 ♻ प्रयास करें कि जब हम आये थे उसकी तुलना में पृथ्वी को एक बेहतर स्थान के रूप में छोड़ कर जाएं। सागर में हर एक बूँद मायने रखती है। ♻ 🙏