🙏 जीवन में कुछ पाना है तो झुकना होगा, कुएं में उतरने वाली बाल्टी झुकती है, तब ही पानी लेकर आती है| 🙏

Homeआध्यात्मिक न्यूज़भारत सरकार की किशोर वैज्ञानिक प्रोत्साहन योजना में सी.एम.एस. छात्र चयनित – हरि ओम शर्मा

भारत सरकार की किशोर वैज्ञानिक प्रोत्साहन योजना में सी.एम.एस. छात्र चयनित – हरि ओम शर्मा

भारत सरकार की किशोर वैज्ञानिक प्रोत्साहन योजना में सी.एम.एस. छात्र चयनित - हरि ओम शर्मा

लखनऊ, 13 जनवरी। सिटी मोन्टेसरी स्कूल, गोमती नगर (प्रथम कैम्पस) के मेधावी छात्र शाश्वत श्रीवास्तव ने भारत सरकार की किशोर वैज्ञानिक प्रोत्साहन योजना (के.वी.पी.वाई फेलोशिप) के प्रथम चरण में चयनित होकर विद्यालय का नाम रोशन किया है।

प्रथम चरण में चयन के उपरान्त यह मेधावी छात्र अब साक्षात्कार के द्वितीय चरण में अपनी योग्यता साबित कर के.वी.पी.वाई फेलोशिप प्राप्त कर सकेगा। इस फेलोशिप हेतु चयनित छात्रों को पाँच वर्षों की उच्चशिक्षा अवधि के दौरान रु. 4,64,000/- रूपये की स्कॉलरशिप प्रदान की जाती है। सी.एम.एस. के मुख्य जन-सम्पर्क अधिकारी श्री हरि ओम शर्मा ने बताया कि यह फेलोशिप विद्यालयों तथा स्नातक स्तर के छात्रों को रिसर्च कैरियर अपनाने के लिए प्रोत्साहित करने हेतु भारत सरकार की एक अत्यन्त ही महत्वाकांक्षी योजना है जिसका संयोजन भारतीय विज्ञान संस्थान, बंगलोर द्वारा किया जाता है। इस फेलोशिप की चयन प्रक्रिया के अन्तर्गत अत्यन्त मेधावी छात्रों का एप्टीट्यूट टेस्ट एवं इण्टरव्यू लिया जाता है। इस योजना में चयनित छात्र अपना आई.डी. कार्ड दिखाकर देश की किसी भी प्रसिद्ध नेशनल लेब्रोटरी, विश्वविद्यालय, लाइब्रेरी की सुविधा निःशुल्क प्राप्त कर सकता है।

श्री शर्मा ने बताया कि सी.एम.एस. सदैव ही विभिन्न रचनात्मक एवं सृजनात्मक प्रतियोगिताओं के माध्यम से अपने छात्रों की बहुमुखी प्रतिभा को निखारने के साथ ही जीवन में आगे ही आगे बढ़ने हेतु प्रोत्साहित करता रहता है। यही कारण है कि सी.एम.एस. छात्र सदैव ही विभिन्न रचनात्मक एवं सृजनात्मक प्रतियोगिताओं में अपनी बहुमुखी प्रतिभा की छाप छोड़कर विद्यालय का गौरव बढ़ा रहे हैं।

(हरि ओम शर्मा)
मुख्य जन-सम्पर्क अधिकारी
सिटी मोन्टेसरी स्कूल, लखनऊ

FOLLOW US ON:
NO COMMENTS

LEAVE A COMMENT

🙏 ♻ प्रयास करें कि जब हम आये थे उसकी तुलना में पृथ्वी को एक बेहतर स्थान के रूप में छोड़ कर जाएं। सागर में हर एक बूँद मायने रखती है। ♻ 🙏