🙏 धर्म और आध्यात्म को जन-जन तक पहुँचाने में हमारा साथ दें| 🙏
Homeआध्यात्मिक न्यूज़अन्तर्राष्ट्रीय जियोग्राफी ओलम्पियाड ‘जियोफेस्ट-2019’ सी.एम.एस. में 15 नवम्बर से

अन्तर्राष्ट्रीय जियोग्राफी ओलम्पियाड ‘जियोफेस्ट-2019’ सी.एम.एस. में 15 नवम्बर से

अन्तर्राष्ट्रीय जियोग्राफी ओलम्पियाड ‘जियोफेस्ट-2019’ सी.एम.एस. में 15 नवम्बर से

लखनऊ, 5 नवम्बर। सिटी मोन्टेसरी स्कूल, जाॅपलिंग रोड कैम्पस एवं राजाजीपुरम (द्वितीय कैम्पस) के संयुक्त तत्वावधान में पाँच दिवसीय अन्तर्राष्ट्रीय भूगोल ओलम्पियाड ‘जियोफेस्ट इण्टरनेशनल-2019’ का आयोजन आगामी 15 से 19 नवम्बर 2019 तक सी.एम.एस. कानपुर रोड आॅडिटोरियम में किया जा रहा है। इस अन्तर्राष्ट्रीय भूगोल ओलम्पियाड में प्रतिभाग हेतु नेपाल, बांग्लादेश, थाईलैण्ड, श्रीलंका, रूस एवं भारत के विभिन्न प्रान्तों से लगभग 500 बाल भूगोल वैज्ञानिक, भूगोल शिक्षक, ख्याति प्राप्त भूगोल शास्त्री लखनऊ पधार रहे हैं। उक्त जानकारी आज यहाँ आयोजित एक प्रेस कान्फ्रेन्स में ‘जियोफेस्ट इण्टरनेशनल-2019’ की संयोजिका व सी.एम.एस. जाॅपलिंग रोड कैम्पस की प्रधानाचार्या श्रीमती शिप्रा उपाध्याय एवं सह-संयोजिका व सी.एम.एस. राजाजीपुरम (द्वितीय कैम्पस) की प्रधानाचार्या सुश्री पूनम अरोड़ा पत्रकारों को दी। पत्रकारों को सम्बोधित करते हुए सी.एम.एस. जाॅपलिंग रोड कैम्पस की प्रधानाचार्या श्रीमती शिप्रा उपाध्याय ने कहा कि ग्लोबल वार्मिंग एवं जलवायु परिवर्तन के इस नाजुक दौर में छात्रों व युवा पीढ़ी को पर्यावरण की चिन्तनीय स्थिति से रूबरू कराना हम सभी का परम दायित्य है तभी आने वाली पीढ़ी इस विभीषिका को समझ पायेगी एवं इसका समाधान ढूँढ पायेगी।

प्रेस कान्फ्रेन्स में पत्रकारों को संबोधित करते हुए ‘जियोफेस्ट इण्टरनेशनल-2019’ की संयोजिका व सी.एम.एस. जाॅपलिंग रोड कैम्पस की प्रधानाचार्या श्रीमती शिप्रा उपाध्याय ने कहा कि वर्तमान समय में विश्वव्यापी जटिल भौगोलिक समस्याओं को सुलझाने में भूगोल विषय का अधिकतम ज्ञान काफी सहायक हो सकता है। इस तरह के आयोजनों से देश-विदेश के छात्रों को धरती के गर्भ में छिपे संसाधनों से परिचित होने में अत्यधिक सफलता मिलेगी, साथ ही पर्यावरण संवर्धन के प्रति जागरूकता बढ़ाने के लिए छात्रों को उत्साहित किया जायेगा।
‘जियोफेस्ट इण्टरनेशनल-2019’ की सह-संयोजिका व सी.एम.एस. राजाजीपुरम (द्वितीय कैम्पस) की प्रधानाचार्या सुश्री पूनम अरोड़ा ने प्रतियोगिताओं की जानकारी देते हुए बताया कि जियोफेस्ट की प्रतियोगिताएं प्राइमरी, जूनियर एवं सीनियर तीन वर्गो में आयोजित की जायेंगी। इन प्रतियोगिताओं में क्रिएट योर टेस्ट (कोलाज प्रतियोगिता), जियोटून (कार्टून प्रतियोगिता), जियो फ्रेण्डली हैण्ड्स (साॅफ्टबोर्ड मेकिंग, माॅडल मेकिंग एवं पोस्टर मेकिंग), जियोक्विज (क्विज प्रतियोगिता), जियोटेक (वेव डिजाइन प्रतियोगिता), जियोटाॅक (वाद-विवाद प्रतियोगिता), जेल-ओ-माइम (माइम एक्ट एण्ड पोएम रेसीटेशन), जियो प्ली (ग्रुप-ए: ट्रेडीशनल फाॅक डान्स एवं ग्रुप-बी: कोरियोग्राफी) आदि प्रमुख हैं।

सी.एम.एस. सी.एम.एस. संस्थापक व प्रख्यात शिक्षाविद् डा. जगदीश गाँधी ने इस अवसर पर कहा कि इस अन्तर्राष्ट्रीय भूगोल ओलम्पियाड के जरिए हमारा उद्देश्य है कि भूगोल एवं पर्यावरण जैसे महत्वपूर्ण विषय पर समस्त युवा वर्ग को जागृत किया जाए जिससे हरी-भरी दुनिया की बुनियाद रखी जा सके एवं भावी पीढ़ी स्वच्छ वायु का सेवन कर सकें। सी.एम.एस. के मुख्य जन-सम्पर्क अधिकारी श्री हरि ओम शर्मा ने बताया कि जियोफेस्ट इण्टरनेशनल-2019 का भव्य उद्घाटन आगामी 15 नवम्बर को सायं 5.00 बजे सी.एम.एस. कानपुर रोड आॅडिटोरियम में सम्पन्न होगा। इस अवसर पर सी.एम.एस. छात्र देश-विदेश से पधारे सम्मानित अतिथियों के सम्मान में रंगारंग शिक्षात्मक-साँस्कृतिक कार्यक्रमों की छटा बिखेरेंगे तथापि कई प्रख्यात हस्तियों की उपस्थित समारोह की गरिमा को बढ़ायेगी। श्री शर्मा ने बताया कि इस अन्तर्राष्ट्रीय ओलम्पियाड में देश-विदेश की लगभग 73 छात्र टीमें प्रतिभाग कर रही हैं।

(हरि ओम शर्मा)
मुख्य जन-सम्पर्क अधिकारी
सिटी मोन्टेसरी स्कूल, लखनऊ

FOLLOW US ON:
🙏 धर्म और आध्यात्म को जन-जन तक पहुँचाने में हमारा साथ दें| 🙏