🙏 धर्म और आध्यात्म को जन-जन तक पहुँचाने में हमारा साथ दें| 🙏
Homeघरेलू नुस्ख़ेखाद्य पदार्थों के स्वास्थ्य लाभएरंड तेल के 12 स्वास्थ्य लाभ – 12 Health Benefits of Castor Oil

एरंड तेल के 12 स्वास्थ्य लाभ – 12 Health Benefits of Castor Oil

एरंड तेल के 12 स्वास्थ्य लाभ - 12 Health Benefits of Castor Oil

यह सब तेलों में सबसे अधिक उपयोगी है| कब्ज को दूर करने में इसका प्रयोग किया जाता है| वायु, जोड़ों का दर्द, हृदय रोग, आमाशय के विकार, सूजन तथा रक्त विकार में भी यह प्रयुक्त होता है| यह केस्टरऑयल के नाम से भी जाना जाता है|

एरंड तेल के 12 औषधीय गुण इस प्रकार हैं:

1. वायुगोला

(वायु गोला, वायु गोला या गुल्म) पेट में गांठ की तरह उभार को गयुगोला कहते हैं| यह घटता बढ़ता है| एरण्ड का तेल दो चम्मच, गर्म दूध में मिलाकर पीने से लाभ होता है|


2. दर्द

गृधसी और कमर दर्द होने पर एरण्ड के बीच की 5 मींगी दूध में पीस कर पिलाने में लाभ होता है|


3. गठिया

पेट में आंव दब जाने से गठिया हो जाती है| गठिया में एरण्ड का तेल कब्ज दूर करने हेतु सेवन करें| इससे आंव बाहर निकलेगी और गठिया में आराम होगा|


4. कब्ज

सोते समय दो चम्मच एरण्ड का तेल पीने से कब्ज दूर होता है, दस्त साफ आता है| इसे गर्म दूध या गर्म पानी में मिला कर पी सकते हैं|


5. बिवाइयां

पैरों को गर्म पानी से धोकर एरण्ड का तेल लगाएं| बिवाई फटना बंद हो जाएगी|


6. नेत्र रोग

आंख में मिट्टी, कंकरी गिर जाए, धुआं, तीव्र गंध से दर्द हो तो एरण्ड के तेल की बूंद आंख में डालने से लाभ होता है| तेल डालने के बाद हर 25 मिनट में सेंक करें|

अर्श बाहर निकले हुए होने पर नित्य एरण्ड का तेल लगाने से सूख जाते हैं, दर्द दूर होता है| पिचकारी या अन्य किसी तरह गुदा पर भी लगाएं|


7. दांतों के रोग

पायोरिया (Pyorrhoea) एरण्ड का तेल और कपूर मिलाकर नित्य दो बार, सुबह, शाम मसूड़ों पर मलने से पायोरिया में लाभ होता है|


8. चेहरे का सौन्दर्य

एरण्ड के तेल में चने का आटा मिलाकर चेहरे पर रगड़ने से झाईं आदि मिटकर चेहरा सुन्दर हो जाता है|


9. नाखून

एरण्ड के गुनगुने (हल्के गर्म) तेल में नित्य नाखूनों को कुछ मिनट डुबोए रखें, फिर उसी तेल की मालिश करें| यदि डुबोना संभव नहीं हो तो गर्म तेल में रुई डुबो कर नाखूनों पर रखें| इससे नाखून चमकने लगेंगे|


10. स्तन रोग

स्तन की बीटनी का अगला भाग, चूचुक (Nipple) में उभार न हो, कटी हुई अवस्थय हो तो एरण्ड के तेल की मालिश करने से लाभ होता है|


11. सर्प दंश

एरण्ड की कोपलें दस ग्राम, 5 काली मिर्च, दोनों को पीसकर पानी में मिलाकर पिला दें| इससे उलटी होगी, कफ निकलेगा| थोड़ी देर बाद पुन: इसी तरह पिलाएं| इससे विष बाहर निकल जाएगा|


12. चोट, घाव

कहीं चोट लग कर रक्त आने लगे, घाव हो, एरण्ड का तेल लगा कर पट्टी बांधने से लाभ होता है|

NOTE: इलाज के किसी भी तरीके से पहले, पाठक को अपने चिकित्सक या अन्य स्वास्थ्य देखभाल प्रदाता की सलाह लेनी चाहिए।

Consult Dr. Veerendra Aryavrat - +91-9254092245 (Recommended by SpiritualWorld)
Consult Dr. Veerendra Aryavrat +91-9254092245
(Recommended by SpiritualWorld)

Health, Wellness & Personal Care Store – Buy Online

Click the button below to view and buy over 50000 exciting ‘Wellness & Personal Care’ products

50000+ Products
🙏 धर्म और आध्यात्म को जन-जन तक पहुँचाने में हमारा साथ दें| 🙏