🙏 जीवन में कुछ पाना है तो झुकना होगा, कुएं में उतरने वाली बाल्टी झुकती है, तब ही पानी लेकर आती है| 🙏
Homeआध्यात्मिक न्यूज़जानें, बुध और केतु के साथ स्किन कि समस्या से कैसे निजात पाए

जानें, बुध और केतु के साथ स्किन कि समस्या से कैसे निजात पाए

जानें, बुध और केतु के साथ स्किन कि समस्या से कैसे निजात पाए

बुध को बुद्धि का स्वामी और केतु को मोक्ष का स्वामी माना गया है। लेकिन ये जब साथ आ जाएं तो बहुत सारी स्किन प्रॉब्लेम्स दे देते हैं। शास्त्रों में माता दुर्गा को बुध की अधिष्टदात्री व केतु की स्वामिनी कहा है। तो चलिए जानते हैं कि कैसे बुध केतु का साथ पैदा करता है स्किन प्रॉब्लेम्स और क्या खास उपाय करके हम पा सकते हैं निजात।

* ज्योतिषशास्त्र के अनुसार बुध ग्रह को शरीर की चमड़ी का कारक कहा गया है।

* कुंडली में बुध जितनी उत्तम अवस्था में होगा, व्यक्ति की स्किन उतनी ही ग्लोइंग, शनिंग और हेल्दी रहेगी।

* ज्योतिषशास्त्र में बुध ग्रह को छठे भाव का स्वामी और रोगों का प्रवाहक माना जाता है।

* कुंडली में अशुभ और खराब बुध ग्रह तरह-तरह से स्किन एलर्जी को भी जन्म देता है।

* ज्योतिषशास्त्र के अनुसार केतु ग्रह को धरती पर पड़ने वाली छाया मानते है जिसका हमारे जीवन में बहुत असर पड़ता है।

* ज्योतिषशास्त्र में केतु ग्रह को बारहवें भाव का कारक और लग्न याने शरीर को हानी पहुंचाने वाला ग्रह माना गया है।

* ज्योतिषशास्त्र में केतु को सूक्ष्मकाय (माइक्रो) कहा गया है और केतु सूक्ष्म जीवों के देवता भी हैं।

* कुंडली में अशुभ केतु ग्रह जीवन प्रवाहिनी को रोककर स्किन डिसऑर्डर पैदा करता हैं।

* बुध केतु का मिलन जब अशुभ फल देता है, तो व्यक्ति की स्किन में तरह तरह की एलर्जी हो जाती है।

* कुंडली में अशुभ बुध ग्रह रसायनों से एलर्जी देता हैं और केतु बैक्टीरिया के कारण एलर्जी पैदा करता हैं।

* कुंडली में अगर बुध केतु की युति या दृष्टि संबंध हो तो किसी कीड़े के काटने से स्किन स्किन डिसऑर्डर पैदा होते हैं।

* कुंडली में अगर बुध केतु की युति या दृष्टि संबंध हो तो दाद, खुजली, एग्जिमा, काले धब्बे, झाई जैसी प्रॉब्लम होती है।

 

राशि अनुसार करें ये उपाय और स्किन प्रॉब्लम के साथ-साथ दुर्भाग्य से मुक्ति पाएं

मेष: देवी दुर्गा पर फिटकरी चढ़ाकर इस्तेमाल करें। शत्रुओं से छुटकारा मिलेगा।

वृष: देवी दुर्गा पर पिस्ता चढ़ाकर किसी कन्या को दान करें। – धन की बचत होगी।

मिथुन: देवी दुर्गा पर पीपल के पत्ते चढ़ाकर घर के मेन गेट पर बांधें। – फॅमिली डिस्प्यूट सुलझेंगे।

कर्क: देवी दुर्गा पर साबुत हरे मूंग चढ़ाकर पक्षियों के लिए रखें। – फ़ाइनेंष्यल लॉस से छुटकारा मिलेगा।

सिंह: देवी दुर्गा पर मनी प्लांट का चढ़ाकर पर्स में रखें। – आमदनी में बढ़ोत्तरी होगी।

कन्या: देवी दुर्गा पर 5रु का सिक्का चढ़ाकर किसी बूढ़े भिखारी को दान करें। – सर्विस में प्रमोशन मिलेगा।

तुला: देवी दुर्गा पर 4 साबुत सुपारी चढ़ाएं। – दुर्भाग्य से छुटकारा मिलेगा।

वृश्चिक: देवी दुर्गा पर चढ़ी थोड़ी सी मेहंदी पैरों के तलवों में लगाएं। – दुर्घटनाओं से बचाव होगा।

धनु: देवी दुर्गा पर चढ़ी मिश्री किसी सुहागिन को दान करें। – मैरिज में चल रहे डिस्प्यूट्स खतम होंगे।

मकर: एक इलायची सिर से वारकर देवी दुर्गा परचढ़ाएं। – मेंटल स्ट्रैस खतम होगा।

कुंभ: देवी दुर्गा पर मीठा पान चढ़ाकर किसी पेड़ के नीचे रख दें। – एजुकेशन में सक्सेस मिलेगी।

मीन: पूजाघर में देवी दुर्गा के चित्र पर कर्पूर जलाकर धूप करें। – बिजनेस में प्रॉफिट होगा।

 

तेजस्वनी पटेल, पत्रकार (+91 9340619119)

– तेजस्वनी पटेल, पत्रकार
(+91 9340619119)

 

FOLLOW US ON:
NO COMMENTS

LEAVE A COMMENT

🙏 ♻ प्रयास करें कि जब हम आये थे उसकी तुलना में पृथ्वी को एक बेहतर स्थान के रूप में छोड़ कर जाएं। सागर में हर एक बूँद मायने रखती है। ♻ 🙏