🙏 धर्म और आध्यात्म को जन-जन तक पहुँचाने में हमारा साथ दें| 🙏
Homeआध्यात्मिक न्यूज़आस्ट्रिया में आयोजित ‘अन्तर्राष्ट्रीय बाल शिविर’ में प्रतिभाग कर एक माह बाद स्वदेश लौटे सी.एम.एस. छात्र दल का भव्य स्वागत

आस्ट्रिया में आयोजित ‘अन्तर्राष्ट्रीय बाल शिविर’ में प्रतिभाग कर एक माह बाद स्वदेश लौटे सी.एम.एस. छात्र दल का भव्य स्वागत

आस्ट्रिया में आयोजित ‘अन्तर्राष्ट्रीय बाल शिविर’ में प्रतिभाग कर एक माह बाद स्वदेश लौटे सी.एम.एस. छात्र दल का भव्य स्वागत

लखनऊ, 29 जुलाई। सिटी मोन्टेसरी स्कूल, गोमती नगर (द्वितीय कैम्पस) का पाँच सदस्यीय छात्र दल आस्ट्रिया में आयोजित एक माह के अन्तर्राष्ट्रीय बाल शिविर में प्रतिभाग कर स्वदेश लौट आया। स्वदेश वापसी पर विद्यालय के शिक्षकों एवं अभिभावकों ने इस छात्र दल का भव्य स्वागत किया। सी.एम.एस. के मुख्य जन-सम्पर्क अधिकारी श्री हरि ओम शर्मा ने बताया कि अन्तर्राष्ट्रीय बाल शिविर में प्रतिभाग कर स्वदेश लौटे छात्रों में कृष्ण मेहरोत्रा, सारिका यादव, संस्कृति सैगल एवं जसकरन सिंह शामिल हैं जबकि छात्र दल का नेतृत्व विद्यालय की शिक्षिका सुश्री जसप्रीत कौर ने किया। इंग्लैण्ड की ख्यातिप्राप्त संस्था ‘चिल्ड्रेन्स इण्टरनेशनल समर विलेज’ के तत्वावधान में आयोजित इस अन्तर्राष्ट्रीय बाल शिविर में कई देशों के छात्रों ने अपने शिक्षकों के नेतृत्व में प्रतिभाग किया एवं विश्व एकता व विश्व शान्ति को बढ़ावा देने वाली अनेकानेक गतिविधियों में सम्मिलित हुए।

श्री शर्मा ने बताया कि आस्ट्रिया से लौटे छात्रों ने बाल शिविर के अपने अनुभवां के बारे में बड़े ही उत्साह से बताते हुए कहा कि इस शिविर में उन्हें स्नेह, सहयोग एवं प्रेम-एकता से भरे एक विश्व परिवार के साथ रहने का बड़ा ही सुखद अनुभव हुआ एवं हम बच्चों ने मिलकर पूरे विश्व में शांति, एकता, सौहार्द, सहयोग एवं सद्भावना की प्रार्थनायें की। बाल शिविर में विभिन्न देशों के बालकों ने एक साथ मिलकर पूरे विश्व को आपसी प्रेम एवं एकता के एक सूत्र में बांधने का संकल्प लिया।

श्री शर्मा ने बताया कि आस्ट्रिया के इस अन्तर्राष्ट्रीय बाल शिविर में भाग लेने वाले बच्चों को ठहरने, खाने-पीने, खेल-कूद, ऐतिहासिक स्थलों के भ्रमण, चिकित्सा आदि की सारी सुविधायें उपलब्ध करायी गयी तथापि देश-विदेश के बच्चों ने आस्ट्रिया के मेजबान परिवारों में दो दिन रहकर वहां के रहन-सहन, खान-पान, रीति-रिवाज आदि का नजदीक से ज्ञान प्राप्त किया। विभिन्न संस्कृति, भाषा, सभ्यता, रीति-रिवाज में पले-बढ़े बच्चों को इस प्रकार के एक माह लम्बे अन्तर्राष्ट्रीय बाल शिविर में एक साथ रखने का उद्देश्य छोटे बच्चों के कोमल हृदय में आपसी भाईचारा, विश्व शान्ति तथा विश्व बन्धुत्व की भावना का समावेश करना है।

(हरि ओम शर्मा)
मुख्य जन-सम्पर्क अधिकारी
सिटी मोन्टेसरी स्कूल, लखनऊ

FOLLOW US ON:
🙏 धर्म और आध्यात्म को जन-जन तक पहुँचाने में हमारा साथ दें| 🙏