🙏 जीवन में कुछ पाना है तो झुकना होगा, कुएं में उतरने वाली बाल्टी झुकती है, तब ही पानी लेकर आती है| 🙏

Homeआध्यात्मिक न्यूज़आखिर, तुलसी कैसे दर्शाती है बुरे संकेत

आखिर, तुलसी कैसे दर्शाती है बुरे संकेत

आखिर, तुलसी कैसे दर्शाती है बुरे संकेत

अगर आपके घर की तुलसी की तुलसी सूखने लगे तो समझ जाइए कि आपके घर कोई मुसीबत आने वाली है। आप तुलसी के पौधे का कितना भी ध्यान रख लें लेकिन मुसीबत आने की घड़ी में वो सूखने लगती है।

पुराणों और शास्त्रों के मुताबिक, जिस घर में दरिद्रता, अशांति या क्लेश होता है वहां मां लक्ष्मी का निवास नहीं होता और ऐसा दशा में घर से लक्ष्मी यानी तुलसी जाने लगती है।लेकिन अगर ज्योतिष की मानें तो ऐसा बुध के कारण होता है। बुध का प्रभाव हरे रंग पर पड़ता है और बुध को पेड़-पौधों का कारक ग्रह माना जाता है।

 

तुलसी के फायदे:

– तुलसी के पौधे के पास बैठने से अस्थमा से छुटकारा मिलता है।

– तुलसी का रस भी बुखार और सर्दी में फायदेमंद है। ये बच्चों के लिए खासतौर पर फायदेमंद है। 10 से 15 तुलसी की पत्त‍ियों का रस निकाल लें। हर दो से तीन घंटे में ये रस पीते रहें। इससे बहुत जल्दी फायदा होगा।

माता के समान सुख प्रदान करने वाली तुलसी का वास्तु शास्त्र में विशेष स्थान है।

– यदि कारोबार ठीक नहीं चल रहा तो दक्षिण-पश्चिम में रखे तुलसी के गमले पर हर शुक्रवार सुबह कच्चा दूध अर्पण करें और मिठाई का भोग रखकर किसी सुहागिन स्त्री को मीठी वस्तु देने से बिजनेस में सफलता मिलती।

– वास्तु दोष को दूर करने के लिए तुलसी के पौधे अग्नि कोण अर्थात दक्षिण-पूर्व से लेकर वायव्य उत्तर-पश्चिम तक के खाली स्थान में लगा सकते हैं।

– तुलसी का गमला रसोई के पास रखने से पारिवारिक कलह समाप्त होता है। लड़की की शादी में देर हो रही है तो अग्नि कोण में तुलसी के पौधे में अगर लड़की रोज जल अर्पित करे तो विवाह का संयोग जल्द बनता है।

 

तेजस्वनी पटेल, पत्रकार (+91 9340619119)

– तेजस्वनी पटेल, पत्रकार
(+91 9340619119)

 

FOLLOW US ON:
जानें, च
जानें, ग
NO COMMENTS

LEAVE A COMMENT

🙏 ♻ प्रयास करें कि जब हम आये थे उसकी तुलना में पृथ्वी को एक बेहतर स्थान के रूप में छोड़ कर जाएं। सागर में हर एक बूँद मायने रखती है। ♻ 🙏