🙏 धर्म और आध्यात्म को जन-जन तक पहुँचाने में हमारा साथ दें| 🙏
Homeपेड़ और पौधेक्या आप बुख़ार, अपाचन, ठंड, इन्फेक्शन का कुदरती उपचार चाहते है? तो उगाये इन 12 हर्ब्स को अपने घर में!

क्या आप बुख़ार, अपाचन, ठंड, इन्फेक्शन का कुदरती उपचार चाहते है? तो उगाये इन 12 हर्ब्स को अपने घर में!

क्या आप बुख़ार, अपाचन, ठंड, इन्फेक्शन का कुदरती उपचार चाहते है? तो उगाये इन 12 हर्ब्स को अपने घर में!

औषदीये पौधो का प्रयोग पुरातन कल से चला आ रहा है आज भी कई लोग इलाज के लिए इसी पर निर्भर करते है। आधुनिक दवाओं को भी बनाने के लिए काफी हद तक इन हर्ब्स का इस्तेमाल किया जाता है।

कई हर्ब्स एंटीऑक्सिडेंट्स, एंटी इंफ्लेमेटरी, एंटीसेप्टिक व कार्मिनटीवे गुणों से भरपूर होती है यहाँ यह आपके स्वास्थय को ठीक रखती है वही बाग़वानी अपने आप में एक अच्छी हॉबी भी है जो आपके दिलो दिमाग को सुकून देती है।

बाजार से खरीदने से बेहतर होगा की आप इनको घर में उगाये व् सस्ते में ही ताज़ा जैविक हर्ब्स से इलाज़ करे, इनका रखाव भी ज्यादा मुश्किल नहीं है।

 

1  बेसिल/ तुलसी (Basil)

बेसिल/ तुलसी (Basil)

बेसिल/ तुलसी (Basil)

यह कुकिंग में इस्तेमाल होती है जिसको आप किचन गार्डन में भी उगा सकते हो।

सेहत के फायदे

  • इसमें एंटीऑक्सिडेंट्स, एंटी इंफ्लेमेटरी, एंटीसेप्टिक बैक्टेरिअल तत्व होते है।
  • इसमें कई तरह के न्यूट्रीएंट्स होते है: विटामिन ए, सी, के, मैग्नीज़, कॉपर, कैल्शियम, आयरन, ओमेगा ३ फैटी एसिड, मैग्नीशियम होता है।
  • इसका इस्तेमाल पेट फूलना, सरदर्द, बदहजमी, भूख न लगना, बेहोशी आना, गैस, किडनी स्टोन्स, एक्ने के इलाज में किया जाता है।

 

2 पार्सले (Parsley)

पार्सले (Parsley)

पार्सले (Parsley)

जब स्वाद के बात हो तो पार्सले एक बढ़िया चुनाव है चुनाव है। आप इसको आसानी में लगा सकते है।

सेहत के फायदे

  • यह वोलेटाइल ऑयल्स, फ्लैवोनॉइड्स व् एंटी ऑक्सीडेंट्स की बढ़िया स्रोत है।
  • इसमें कई महत्वपूर्ण विटामिन जैसे की सी, बी -12, के ऐ व् फोलिक एसिड होता है।
  • पार्सले का इस्तेमाल यूरिनरी ट्रैक्ट इन्फेक्शन, किडनी स्टोन्स, पीलिया, कब्ज़, गैस, अपाचन, कोलिक, मधुमेह, खाँसी, अस्थमा, उच्च रक्तचाप, ऑस्टिओआर्थरिटीज़ जैसी स्वास्थ्य समस्याओं के हल के रूप में किया जाता है।
  • इसको अफ्रोदिसिअस व् ब्रेथ फ्रेशनर के लिए भी प्रयोग करते है।

 

3 मिंट/पुदीना (Mint)

मिंट/पुदीना (Mint)

मिंट/पुदीना (Mint)

यह अक्सर नमी व् छायादार जगहों पर विकसित होता है मगर धूप वाले स्थान पर भी यह विकसित हो जाता है। इसको सही मात्रा में पानी व् लिक्विड खाद देते रहे। इनको गहरे ताल वाले गमलो में उगाये क्यूंकि यह बहुत जल्दी से फैल जाते है।

सेहत के फायदे

  • पुदीने में एंटीऑक्सिडेंट्स, एक्सपेक्टोरेंट (गले से बलग़म को निकालना), डीएफोरेटिक (पसीने को कम करना), पाचक, एंटी सेप्टिक, एंटी इंफ्लेमेटरी गुण होते है।
  • इसमें विटामिन ए व् सी भरपूर मात्रा में होता है जिसमे आयरन तथा मैंगनीज होता है।
  • पुदीना पेट दर्द, अपचन, उल्टी, मांसपेशियों की सूजन, छाती की जलन, बुख़ार, सिरदर्द, खराब पेट, गन्दी साँस जैसे विकारो को दूर करता है।

 

4 रोजमेरी (Rosemary)

रोजमेरी (Rosemary)

रोजमेरी (Rosemary)

अपने गार्डन में उगाने के लिए यह एक बेहतर हर्ब है, यह अच्छी तरह से छनी हुई, रेतीली या दरदरी मिट्टी में बेहतर तरीके से विकसित होती है।

सेहत के फायदे

  • इसमें एंटी ऑक्सीडेंट्स, एंटी इंफ्लेमेटरी यौगिक होते है जिनके साथ ही सेहत के लिए फायदेमंद फ्य्तोनुट्रिएंट्स, फैटी एसिड्स, एंटी एलर्जेनिक, एस्ट्रिंजेंट, डीएफोरोएटिक तत्व होते है।
  • यह कैल्शियम, विटामिन, आयरन व् विटामिन बी 6 का बढ़िया स्रोत है।
  • इस ख़ुशबूदार हर्ब की सिफ़ारिश अक्सर सरदर्द, ठंडी, तनाव, वात, गंजापन, सिकरी, अपाचन, गठिआ, मासपेशिओ का दर्द, स्नायु तंत्र जैसे विकारों को दूर करने के लिए किया जाता है।

 

5 सेज (Sage)

सेज (Sage)

सेज (Sage)

इस हर्ब का प्रयोग खाने व् उपचार दोनों के लिए किया जाता है आप इसको अच्छी तरह से छनी हुई मिट्टी जो की उपजायु हो उसमे लगा सकते मगर इसको घनी धूप वाले स्थान पर रखना जरूरी है। सर्दियों में आप इसको घर के भीतर सूखे जगह रख सकते हो पर याद रहे इसको समय समय पर धूप देते रहे।

सेहत के फायदे

  • यह कुदरती तौर पर उत्तेजक, एंटीबायोटिक, एस्ट्रिंजेंट, टॉनिक व् अग्निरोधक है।
  • इसमें एंटी माइक्रोबियल, एंटी इंफ्लेमेटरी, उच्चरक्तचापरोधी, एंटी डायबिटिक तत्व होते है।
  • इसमें विभिन्न किस्म के वोलेटाइल ऑयल्स, फ्लेवनॉइड्स, विटामिन ए व् के होते है।
  • सेज का इस्तेमाल भूख न लगना, गैस, पेट दर्द, छाती की जलन, तनाव, अस्थमा, माहवारी का दर्द, मसूढ़ों की बीमारी, कोल्ड सोर, अत्याधिक पसीने का आने जैसे विकारो को दूर करने में किया जाता है।

 

6 थाइम (Thyme)

थाइम (Thyme)

थाइम (Thyme)

इस हर्ब को आप अपने घर के गार्डन में आसानी से लगा सकते हो जिसके लिए आपको अच्छी तरह से सूखी व् छनी हुई हलकी मिट्टी चाहिए साथ ही भरपूर धूप हो। सर्दियों में आप इसका ध्यान रखे व् ज्यादा ठण्ड के समय ढके।

सेहत के फायदे

  • थाइम शक्तिशाली एंटीऑक्सीडेंट, एक्सपेक्टोरैंट, एंटीसेप्टिक। एंटी बैक्टीरियल गुणों से भरपूर लिप्त है।
  • विटामिन ए, सी, कॉपर, आयरन फाइबर, मैंगनीज का बढ़िया स्रोत है।
  • इसका इस्तेमाल खाँसी, अपचन, हल्का डायरिया, एक्ने, आर्थरिटीज़, इन्फेक्टेड अँगूठे का नाख़ून, गले की सूजन, गैस, रक्त संकुलन जैसे विकारो को ठीक करने जाता है।

 

7 लैवेंडर (Lavender)

लैवेंडर (Lavender)

लैवेंडर (Lavender)

इस खुशबूदार हर्ब को आप सूखी, अच्छी तरह से छनी हुई रेतीली मिट्टी में लगा सकते हो जहाँ खिली धूप आती हो इसको नाममात्र खाद की जरूरत होती है व् बढ़िया हवा का  प्रवाह चाहिए।

सेहत के फ़ायदे

  • इसके खुशबुदार गुणों के कारण इसका प्रयोग साबुन, क्रीम्स, शैम्पू व्  प्रसाधन सामग्री में किया जाता है।
  • इसमें एंटी इंफ्लेमेटरी, एंटी सेप्टिक, अवसादरोधी गुण  होते है।
  • यह कई तरह के सेहत विकार जैसे की पेट की गड़बड़, पेट का फूलना, जख़्म, अर्धकपारि का दर्द, उल्टी, बेहोशी, बाल झड़ना, दन्त का दर्द, बदबूदार साँस, सूजन को ठीक करता है।
  • इसके सूखे फूलों को नहाने के पानी मे डालने से अनिंद्रा, तनाव व् शरीर की दुर्गन्ध दूर होती है।

 

8 ऑरेगैनो (Oregano)

ऑरेगैनो (Oregano)

ऑरेगैनो (Oregano)

कई इटालवी, मैक्सिकन, स्पेनिश डिशेस में इसका खूब इस्तेमाल होता है इनको आप रैसेड बीएड या फिर कंटेनर में उगा सकते हो।

सेहत के फायदे

  • ऑरेगैनो में एंटी इंफ्लेमेटरी, एंटी बैक्टीरियल, एंटी ऑक्सीडेंट्स, एंटी माइक्रोबियल, एक्सपेक्टोरैंट (कफोत्सारक), मूत्रवधक, स्वेदजनक, अग्निवर्धक, हलकी टॉनिक गुण होते है।
  • यह ए, सी, के, इ विटामिनो से भरपूर होता है, साथ ही इसमें फाइबर, आयरन, कैल्शियम, मैंगनीज, मैग्नीशियम, ओमेगा 3 फैटी एसिड, जिंक, नियासिन होता है।
  • इसका इस्तेमाल भूख न लगना, ठंडी, माहवारी का दर्द, ब्रोनचिटिस, मस्ल पेन, गले की सूजन, एक्ने, बुखार, अफारा, उल्टी, बेहोशी, सिरदर्द, दन्त का दर्द जैसे समस्याओं से निपटने के लिए किया जाता है।

 

9 लेमन बाम (Lemon Balm)

लेमन बाम (Lemon Balm)

लेमन बाम (Lemon Balm)

इसकी हलकी हलकी सी लेमोनी व् मिन्टी महक होती है जो किसी भी गार्डन को महका देती है। इसके ताज़ा दिखने वाले पत्ते किसी भी गार्डन की शोभा को बढ़ाने का काम ही करते है।

सेहत के फायदे

  • यह कुदरती एंटी ऑक्सीडेंट, एंटी वायरल, एस्ट्रिंजेंट, एंटी टुएमोर, एंटी माइक्रोबियल, एंटी हिस्टामिनिक, एंटी स्पास्मोडिअक घटक होता है।
  • इसके पत्तो में सेहत को ठीक रखने वाले कई यौगिक होते है जैसे रोसेमरीनिक, कैफीक, प्रोटॉकटेचुइक एसिड, फेनॉलिक व् फ्लैवोनॉइड्स होते है।
  • इसे कई बीमारियों के उपचार में प्रभावशाली माना जाता है जैसे की पेट की गैस, दन्त दर्द, पेट का दर्द, कीड़े का काटना, सिरदर्द, अर्धकपारि का दर्द, दाद, भूख न लगना, ए.डी.एच. डी।

10 डिल (Dill)

डिल (Dill)

डिल (Dill)

यह एक महकती हर्ब है जो अपनी महक से गार्डन के माहौल को ख़ुशनुमा बना देती है आप इसे जमीन पर या फिर बड़े कंटेनर्स में भी लगा सकते है बस इसे अच्छी तरह से छनी हुई मिट्टी में लगाए।

सेहत के फायदे

  • इसको कई परंपरिक दवाओं में इस्तेमाल किया जाता है क्यूंकि इसमें गैसरोधी, एंटी इंफ्लेमेटरी, एंटी सेप्टिक, एंटी स्पास्मोडिअक, डिसइंफेक्टेंट व् सुस्ताने वाली ख़ासियत होती है।
  • यह विटामिन ए, सी, बी 6, फाइबर, एमिनो एसिड, कॉपर, पोटैशियम, कैल्शियम, आयरन, मैग्नीशियम, मैंगनीज का स्रोत है।
  • इसको अंतरियो की गैस, बुखार, माहवारी का दर्द, ठंडी, जुखाम, दस्त, लीवर की बीमारिया, ब्रोनचिटिस, मूत्ररोधक, बवासीर, पेचिश, पित्ताशय के विकार को दूर करने के लिए प्रयोग में लाया जाता है।
  • यह शरीर की प्रतिरोधक शमता को बढ़ाता है व् अनिंद्रआ को दूर करता है।

 

11 मार्जोरम (Marjoram)

मार्जोरम (Marjoram)

मार्जोरम (Marjoram)

मीठा मर्जोरम जिसे गुथा हुआ मर्जोरम भी कहते है। इसको  प्राचीन समय से दवाई व् पाक कला में उपयोग के लिए उगाया जाता रहा है। ऑरेगैनो के मुकाबले इसका स्वाद मीठा व् हल्का सा तीखा होता है।

सेहत के फायदे

  • मर्जोरम एंटीबैक्टीरियल, एंटी फंगल, एंटीसेप्टिक, एंटीवायरल घटक है जिसके कारण यह कई तरह की आम बीमारिया जैसे की जख़्म, टेटनस, टाइफाइड, स्टाफ इन्फेक्शन, खाद्य विषारण, मलेरिआ का मजबूती से सामना करता है।
  • यह एंटी इंफ्लेमेटरी हर्ब है।
  • यह हृदय और संचार प्रणाली की सुचारुता को बढ़ाता है। और उससे जुड़े खतरों को कम करता है।
  • इसमें पाचन एंजाइम होते है जो हमारी पाचन प्रणाली को सुचारु दांग से चलाता है।

 

12 कैटनिप (Catnip)

कैटनिप (Catnip)

कैटनिप (Catnip)

कैटनिप या कैटमिंट यह यूरोप व् केंद्रीय एशिया मूल का पौधा है जिसे अब समस्त विश्व में ही उगाया जाता है। इस पौधे में कई बीमारियों को ठीक करने की शमता है। अपने हेल्थ फायदों के कारण ही ये सारे विश्व में चर्चित पौधा बन चुका है।

सेहत के फायदे

  • यह बहुत ही बढ़िया डेटॉक्सिफिएर है जो हमारे शरीर से गंदे व् विषैले टॉक्सिन को पसीने द्वारा निकालता है।
  • सिरदर्द व् अर्धकपारी दर्द की बढ़िया कुदरती दवा है।
  • इसमें शरीर को राहत देने वाले गुण है जो हमारे नाड़ी तंत्र को सही रखते है।
  • पाचन प्रणाली को संतुलित रखता है
  • दांतदर्द में तुरंत राहत देता है।

 

 Ms. Ginny Chhabra (Article Writer)

Plants Online Store – Buy Now

View 90,000+ Home Plants

FOLLOW US ON:
🙏 धर्म और आध्यात्म को जन-जन तक पहुँचाने में हमारा साथ दें| 🙏