श्री कृष्ण जी (50)

कभी राम बनके कभी श्याम बनके चले आना प्रभुजी चले आना

कभी राम बनके कभी श्याम बनके चले आना प्रभुजी चले आना....तुम राम रूप में आना, तुम राम रूप में आनासीता साथ लेके, धनुष हाथ लेके,चले आना प्रभुजी चले आना...

श्री राधा कृष्णाय नमः श्री राधा कृष्णाय नमः

श्री राधा कृष्णाय नमः ..श्री राधा कृष्णाय नमः ..ॐ जय श्री राधा जय श्री कृष्णश्री राधा कृष्णाय नमः ..

मैया यशोदा ये तेरा कन्हैया

मैया यशोदा ये तेरा कन्हैयापनघट पे मेरी पकड़े है बैंयांतंग मुझे करता है संग मेरे लड़ता हायराम जी की कृपा से मैं बचीराम जी की कृपा से

माखन चोर , नन्द किशोर, मन मोहन, घनश्याम रे

माखन चोर , नन्द किशोर, मन मोहन, घनश्याम रेकितने तेरे रूप रे कितने तेरे नाम रे

भजो राधे गोविंदा भजो राधे गोविंदा

भजो राधे गोविंदाभजो राधे गोविंदागोपाला तेरा प्यारा नाम हैगोपाला तेरा प्यारा नाम हैनंदलाला तेरा प्यारा नाम है

तुम बिन मेरी कौन खबर ले

तुम बिन मेरी कौन खबर ले,गोवर्धन गिरधारी ।

प्रबल प्रेम के पाले पड़ कर प्रभु को नियम बदलते देख

प्रबल प्रेम के पाले प्रबल प्रेम के पाले पड़ कर प्रभु को नियम बदलते देखा . अपना मान भले टल जाये भक्त मान नहीं टलते देखा ..

तुम कहाँ छुपे भगवान करो मत देरी

तुम कहाँ छुपे भगवान करो मत देरी |दुख हरो द्वारकानाथ शरण मैं तेरी ||

को माता को पिता हमारे

को माता को पिता हमारे ।कब जनमत हमको तुम देख्यो,हँसी लगत सुन बैन तुम्हारे ।

मैं तो सांवर के रंग राती

मैं तो सांवर के रंग राती ।कोर्इ के पिया परदेश बसत हैं, लिख-लिख भेजै पाती ।मेरा पिया मेरे हिये बसत है, ना कहुँ आती जाती ।

दीनन दुख हरन देव, सन्तन सुखकारी

दीनन दुख हरन देव, सन्तन सुखकारी ।अजामील गीध व्याध, इनमें कहो कौन साध,पंछी हूँ पद पढ़ात, गनिका-सी तारी ।

या ब्रज में कछु देख्यो री टोना

या ब्रज में कछु देख्यो री टोना ।

जग मे सुंदर हैं दो नाम चाहे कृष्ण कहो या राम

जग मे सुंदर हैं दो नाम चाहे कृष्ण कहो या राम (३)बोलो राम राम राम, बोलो शाम शाम श्याम (३)

हे गोविन्द हे गोपाल

हे गोविन्द राखो शरनअब तो जीवन हारे

राधा रास बिहारी मोरे मन में आन समाये

राधा रास बिहारीमोरे मन में आन समाये ।निर्गुणियों के साँवरिया नेखोये भाग जगाये ।

दर्शन दो घनश्याम नाथ मोरी अँखियाँ प्यासी रे

दर्शन दो घनश्याम नाथ मोरी अँखियाँ प्यासी रे ..मंदिर मंदिर मूरत तेरी फिर भी न दीखे सूरत तेरी .युग बीते ना आई मिलन की पूरनमासी रे ..दर्शन दो घनश्याम नाथ मोरि अँखियाँ प्यासी रे ..

छोटी छोटी गैयाँ, छोटे छोटे ग्वाल

छोटी छोटी गैयाँ, छोटे छोटे ग्वालछोटो सो मेरो मदन गोपालछोटी छोटी गैयाँ, छोटे छोटे ग्वालछोटो सो मेरो मदन गोपाल

आओ आओ यशोदा के लाल

आओ आओ यशोदा के लाल .आज मोहे दरशन से कर दो निहाल .आओ आओ,आओ आओ यशोदा के लाल ..

राधा ऐसी भयी श्याम की दीवानी

राधा ऐसी भयी श्याम की दीवानी,की बृज की कहानी हो गयीएक भोली भाली गौण की ग्वालीन ,तो पंडितों की वानी हो गई

मैं तो तेरी जोगन रे ; हे घनश्याम मेरे !

मैं तो तेरी जोगन रे ; हे घनश्याम मेरे !तेरे बिन कोई नहीं मेरा रे ; हे श्याम मेरे !!मैं तो तेरी जोगन रे ; हे घनश्याम मेरे !

श्याम तेरी बंसी पुकारे राधा नाम

श्याम तेरी बंसी पुकारे राधा नाम..लोग करें मीरा को यूँही बदनाम..

इतना तो करना स्वामी

इतना तो करना स्वामी, जब प्राण तन से निकले (२)गोविन्द नाम लेके, तब प्राण तन से निकले,श्री गंगाजी का तट हो, जमुना का वंशीवट हो,मेरा सावला निकट हो, जब प्राण तन से निकले

रंग दे चुनरिया

श्याम पिया मोरे रंग दे चुनरिया (2)रंग दे चुनरिया (2)श्याम पिया मोरे रंग दे चुनरिया (2)

दर्शन दो घन्श्याम नाथ मोरी अँखियाँ प्यासी रे

दर्शन दो घन्श्याम दर्शन दो घन्श्याम नाथ मोरी अँखियाँ प्यासी रे ..

करुणा भरी पुकार सुन अब तो पधारो मोहना

करुणा भरी पुकार सुन करुणा भरी पुकार सुन अब तो पधारो मोहना ..

ॐ जय श्री राधा जय श्री कृष्ण

ॐ जय श्री राधा ॐ जय श्री राधा जय श्री कृष्ण श्री राधा कृष्णाय नमः ..

दुख हरो द्वारिकानाथ

तुम कहाँ छुपे भगवान करो मत देरी |दुख हरो द्वारकानाथ शरण मैं तेरी ||

बनवारी रे जीने का सहारा तेरा नाम रे

बनवारी रेजीने का सहारा तेरा नाम रेमुझे दुनिया वालों से क्या काम रे

बंशी बजाके श्याम ने दीवाना कर दिया

बंशी बजाके श्याम ने दीवाना कर दियाअपनी निगाहें-नाज़ से........२ मस्ताना कर दिया .

मुकुन्द माधव गोविन्द

मुकुन्द माधव गोविन्द मुकुन्द माधव गोविन्द बोल केशव माधव हरि हरि बोल ..

हे आनंद उमंग भयो

हे आनंद उमंग भयोजय हो नन्द लाल कीनन्द के आनंद भयोजय कनैया लाल की

तू ही बन जा मेरा मांझी पार लगा दे मेरी नैया

तू ही बन जा तू ही बन जा मेरा मांझी पार लगा दे मेरी नैया . हे नटनागर कृष्ण कन्हैया पार लगा दे मेरी नैया ..

महियारी का भेष बनाया, श्याम चूड़ी बेचने आया

महियारी का भेष बनाया, श्याम चूड़ी बेचने आया..झोली कंधे धरी उसमें चूड़ी भरी,झोली कंधे धरी उसमें चूड़ी भरी..गलियों में शोर मचाया ...श्याम चूड़ी बेचने आया....

वो काला एक बांसुरी वाला

वो काला एक बांसुरी वालासुध बिसरा गया मोरी रेसुध बिसरा गया मोरीमाखन चोर वो नंदकिशोरकर गयो रे, कर गयो मन की चोरी रेसुध बिसरा गया मोरी

जय कृष्ण हरे दुखियों के दुख दूर करे

जय कृष्ण हरे जय कृष्ण हरे श्री कृष्ण हरे . दुखियों के दुख दूर करे जय जय जय कृष्ण हरे ..

जागो बंसीवारे ललना

जागो बंसीवारे ललनाजागो बंसीवारे ललना जागो मोरे प्यारे ..

साँचा नाम तेरा

साँचा नाम तेरा,हो, साँचा नाम तेरा,तू श्याम मेरा, साँचा नाम तेरा, तू श्याम मेरा,सगरा जगत है झूठा साथी,टूटे दीपक बुझ जाये बाती,हर रंग में तू संग में है,चाहे साँझ हो चाहे सवेरा,साँचा नाम तेरा, तू श्याम मेरा, साँचा नाम तेरा..

कन्हैया कन्हैया तुझे आना पड़ेगा

कन्हैया कन्हैया तुझे आना पड़ेगा,आना पड़ेगा .वचन गीता वाला निभाना पड़ेगा ..

राधे राधे , राधे राधे

राधे राधे , राधे राधे ,राधे राधे , राधे राधेराधे राधे, श्याम मिला देजय होराधे राधे, श्याम मिला दे

किसकी शरण में जाऊं

किसकी शरण में जाऊं अशरण शरण तुम्हीं हो .. गज ग्राह से छुड़ाया प्रह्लाद को बचाया . द्रौपदी का पट बढ़ाया निर्बल के बल तुम्हीं हो ..

नंद बाबाजी को छैया वाको नाम है कन्हैया

नंद बाबाजी को छैया वाको नाम है कन्हैया .कन्हैया कन्हैया रे ..बड़ो गेंद को खिलैया आयो आयो रे कन्हैया .कन्हैया कन्हैया रे ..

नाच्यो बहुत गोपाल अब मैं

नाच्यो बहुत गोपाल अब मैंनाच्यो बहुत गोपाल ,

श्याम आये नैनों में

श्याम आये नैनों मेंबन गयी मैं साँवरी

हमें नन्द नन्दन मोल लियो

हमें नन्द नन्दन मोल लियोमोल लियो, मोल लियो ||

किसी का राम किसी का श्याम किसी का गोपाला

किसी का राम किसी का श्याम किसी का गोपाला – 2जाकि जैसी भक्ति बाबा – 2 वैसा ही रंग डालारंग डाला सांई ने रंग डाला – 2किसी का राम किसी का श्याम किसी का गोपालाजाकि जैसी भक्ति बाबा – 2 वैसा ही रंग डालारंग डाला सांई ने रंग डाला –…

हरी नाम का प्याला हरे कृष्ण की हाला

हरी नाम का प्याला हरे कृष्ण की हालाऐसी हाला पी पी करके, चला चले मतवालाराधा जैसी बाला और वृन्दावन का ग्वालाऐसा ग्वाला मुरली मनोहर जपो कृष्ण की माला

बोलो बरसानेवाली की जय जय जय

बोलो बरसानेवाली की जय जय जयश्याम प्यारे की जयबंसीवारे की जयबोलो पीत पटवारे की जय जय

राधा रास बिहारी मोरे मन में आन समाये

राधा रास बिहारीमोरे मन में आन समाये ।निर्गुणियों के साँवरिया नेखोये भाग जगाये ।

नंद बाबाजी को छैया वाको नाम है कन्हैया

नंद बाबाजी को छैया वाको नाम है कन्हैया .कन्हैया कन्हैया रे ..बड़ो गेंद को खिलैया आयो आयो रे कन्हैया .कन्हैया कन्हैया रे ..

इतना तो करना स्वामी

इतना तो करना स्वामी, जब प्राण तन से निकले (२)गोविन्द नाम लेके, तब प्राण तन से निकले,श्री गंगाजी का तट हो, जमुना का वंशीवट हो,मेरा सावला निकट हो, जब प्राण तन से निकले
 

नम्रता का पाठ

एक बार अमेरिका के राष्ट्रपति जॉर्ज वॉशिंगटन नगर की स्थिति का जायजा लेने के लिए निकले। रास्ते में एक जगह भवन का निर्माण कार्य चल रहा था। वह कुछ देर के लिए वहीं रुक गए और वहां चल रहे कार्य को गौर से देखने लगे। कुछ देर में उन्होंने देखा कि कई मजदूर एक बड़ा-सा पत्थर उठा कर इमारत पर ले जाने की कोशिश कर रहे हैं। किंतु पत्थर बहुत ही भारी था, इसलिए वह more...

व्यर्थ की लड़ाई

एक आदमी के पास बहुत जायदाद थी| उसके कारण रोज कोई-न-कोई झगड़ा होता रहता था| बेचारा वकीलों और अदालत के चक्कर के मारे परेशान था| उसकी स्त्री अक्सर बीमार रहती थी| वह दवाइयां खा-खाकर जीती थी और डॉक्टरों के मारे उसकी नाक में दम था| एक दिन पति-पत्नी में झगड़ा हो गया| पति ने कहा - "मैं लड़के को वकील बनाऊंगा, जिससे वह मुझे सहारा दे सके|" more...

धर्म और दुकानदारी

एक दिन एक पण्डितजी कथा सुना रहे थे| बड़ी भीड़ इकट्ठी थी| मर्द, औरतें, बच्चे सब ध्यान से पण्डितजी की बातें सुन रहे थे| पण्डितजी ने कहा - "इस दुनिया में जितने प्राणी हैं, सबमें आत्मा है, सारे जीव एक-समान हैं| भीड़ में एक लड़का और उसका बाप बैठा था| पण्डितजी की बात लड़के को बहुत पसंद आई और उसने उसे गांठ बांध ली| अगले दिन लड़का दुकान पर गया| थोड़ी देर में एक more...
 

समझदारी की बात

एक सेठ था| उसने एक नौकर रखा| रख तो लिया, पर उसे उसकी ईमानदारी पर विश्वास नहीं हुआ| उसने उसकी परीक्षा लेनी चाही| अगले दिन सेठ ने कमरे के फर्श पर एक रुपया डाल दिया| सफाई करते समय नौकर ने देखा| उसने रुपया उठाया और उसी समय सेठ के हवाले कर दिया| दूसरे दिन वह देखता है कि फर्श पर पांच रुपए का नोट पड़ा है| उसके मन में थोड़ा शक पैदा हुआ| more...

आध्यात्मिक जगत - World of Spiritual & Divine Thoughts.

Disclaimer

 

इस वेबसाइट का उद्देश्य जन साधारण तक अपना संदेश पहुँचाना है| ताकि एक धर्म का व्यक्ति दूसरे धर्म के बारे में जानकारी ले सके| इस वेबसाइट को बनाने के लिए विभिन्न पत्रिकाओं, पुस्तकों व अखबारों से सामग्री एकत्रित की गई है| इसमें किसी भी प्रकार की आलोचना व कटु शब्दों का प्रयोग नहीं किया गया|
Special Thanks to Dr. Rajni Hans, Ms. Karuna Miglani, Ms. Anisha Arora, Mr. Ashish Hans, Ms. Mini Chhabra & Ms. Ginny Chhabra for their contribution in development of this spiritual website. Audio & Video Production: VISIONHUNT (info@visionhunt.in) | Privacy Policy | Media Partner | Wedding Marketplace

Vulnerability Scanner

Connect With Us