Home07. ज्ञानविज्ञानयोग

07. ज्ञानविज्ञानयोग (4)

आलोचना व प्रशंसा (अध्याय 7 शलोक 24 से 30)

देवताओं की पूजा (अध्याय 7 शलोक 20 से 23)

भक्तों की महिमा (अध्याय 7 शलोक 13 से 19)

सगुण ब्रह्म का ज्ञान (अध्याय 7 शलोक 1 से 12)