Home04. ज्ञानकर्मसंन्यासयोग

04. ज्ञानकर्मसंन्यासयोग (4)

ज्ञानी की महिमा (सम्पूर्ण श्रीमद्‍भगवद्‍गीता – अध्याय 4 शलोक 33 से 42)

भागवद् महिमा (सम्पूर्ण श्रीमद्‍भगवद्‍गीता – अध्याय 4 शलोक 1 से 18)

यज्ञ विवरण (सम्पूर्ण श्रीमद्‍भगवद्‍गीता – अध्याय 4 शलोक 24 से 32)

योगी का आचरण (सम्पूर्ण श्रीमद्‍भगवद्‍गीता – अध्याय 4 शलोक 19 से 23)

🙏 धर्म और आध्यात्म को जन-जन तक पहुँचाने में हमारा साथ दें| 🙏