Home14. गुणत्रयविभागयोग

14. गुणत्रयविभागयोग (3)

तीन गुणों का विस्तार (अध्याय 14 शलोक 5 से 8)

भगवत्प्राप्ति की विधि (अध्याय 14 शलोक 9 से 27)

संसार की उत्पत्ति (अध्याय 14 शलोक 1 से 4)