🙏 सतनाम वाहे गुरु, गुरु पर्व की असीमित शुभकामनाएं... आप सभी पर वाहे गुरु की मेहर हो! 23 Nov 2018 🙏

विश्वरूप का कथन (अध्याय 11 शलोक 5 से 8)

विश्वरूप का कथन (अध्याय 11 शलोक 5 से 8)

सम्पूर्ण श्रीमद्‍भगवद्‍गीता - अध्याय 11 शलोक 5

श्रीभगवानुवाच (THE LORD SAID):

पश्य मे पार्थ रूपाणि शतशोऽथ सहस्रशः।
नानाविधानि दिव्यानि नानावर्णाकृतीनि च॥11- 5॥

Hहे पार्थ, तुम मेरे रुपों का दर्शन करो। सैंकड़ों, हज़ारों, भिन्न भिन्न प्रकार के, दिव्य, भिन्न भिन्न वर्णों और आकृतियों वाले।

EBehold, O Parth, my hundreds and thousands of various celestial manifestations of different hues and forms.
सम्पूर्ण श्रीमद्‍भगवद्‍गीता - अध्याय 11 शलोक 6
पश्यादित्यान्वसून्रुद्रानश्विनौ मरुतस्तथा।
बहून्यदृष्टपूर्वाणि पश्याश्चर्याणि भारत॥11- 6॥

Hहे भारत, तुम आदित्यों, वसुओं, रुद्रों, अश्विनों, और मरुदों को देखो। और बहुत से पहले कभी न देखे गये आश्चर्यों को भी देखो।

ESee in me, O Bharat, the sons of Aditi, the Rudr, the Vasu, the Ashwin brothers, and the Marut, as well as numerous other marvellous forms that have not been seen before.
सम्पूर्ण श्रीमद्‍भगवद्‍गीता - अध्याय 11 शलोक 7
इहैकस्थं जगत्कृत्स्नं पश्याद्य सचराचरम्।
मम देहे गुडाकेश यच्चान्यद् द्रष्टुमिच्छसि॥11- 7॥

Hहे गुडाकेश, तुम मेरी देह में एक जगह स्थित इस संपूर्ण चर-अचर जगत को देखो। और भी जो कुछ तुम्हे देखने की इच्छा हो, वह तुम मेरी इस देह सकते हो।

ENow, O Gudakesh, see in my body at this one place the whole animate and inanimate world, and whatever else you desire to know.
सम्पूर्ण श्रीमद्‍भगवद्‍गीता - अध्याय 11 शलोक 8
न तु मां शक्यसे द्रष्टुमनेनैव स्वचक्षुषा।
दिव्यं ददामि ते चक्षुः पश्य मे योगमैश्वरम्॥11- 8॥

Hलेकिन तुम मुझे अपने इस आँखों से नहीं देख सकते। इसलिये, मैं तुम्हे दिव्य चक्षु (आँखें) प्रदान करता हूँ जिससे तुम मेरे योग ऍश्वर्य का दर्शन करो।

EBut since you cannot see me with your physical eyes, I grant you divine vision with which you may behold my magnificence and the might of my yog.

Spiritual & Religious Store – Buy Online

View 100,000+ Products
Munish Ahuja Founder SpiritualWorld.co.in

Munish Ahuja Founder SpiritualWorld.co.in

नम्र निवेदन: वेबसाइट को और बेहतर बनाने हेतु अपने कीमती सुझाव कॉमेंट बॉक्स में लिखें, यह आपको अच्छा लगा हो तो अपनें मित्रों के साथ अवश्य शेयर करें। धन्यवाद।
NO COMMENTS

LEAVE A COMMENT

🙏 सतनाम वाहे गुरु, गुरु पर्व की असीमित शुभकामनाएं... आप सभी पर वाहे गुरु की मेहर हो! 23 Nov 2018 🙏